1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. क्राइम
  4. जमीन के टुकड़े के लिए शख्स ने ली माता-पिता, भाई-भाभी की जान, पुलिस ने यूं सुलझाई गुत्थी

3 महीने बाद खुला एक ही परिवार के चार लोगों की हत्या का राज, बेटे सहित 4 गिरफ्तार

छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले में 3 महीने पहले किसान परिवार की हत्या के मामले में पुलिस ने 4 कथित आरोपियों को गिरफ्तार किया है।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: March 18, 2021 23:41 IST
Blind murder, Blind murder Durg, Durg Murder 4 people, Chhattisgarh Durg Murder 4 people- India TV Hindi
Image Source : INDIA TV छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले में 3 महीने पहले किसान परिवार की हत्या के मामले में पुलिस ने 4 कथित आरोपियों को गिरफ्तार किया है।

दुर्ग: छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले में 3 महीने पहले किसान परिवार की हत्या के मामले में पुलिस ने 4 कथित आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस के मुताबिक जमीन विवाद के कारण बेटे ने ही माता, पिता, भाई और भाभी की हत्या कर दी थी तथा भतीजे को गंभीर रूप से घायल कर दिया था। दुर्ग जिले के पुलिस अधीक्षक प्रशांत ठाकुर ने गुरुवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि जिले के अमलेश्वर थाना क्षेत्र के अंतर्गत खुड़मुड़ा गांव में किसान बालाराम सोनकर, उनकी पत्नी दुलाई बाई, पुत्र रोहित सोनकर और रोहित की पत्नी किर्तीन सोनकर की हत्या हुई थी।

’21 दिसंबर की है घटना’

पुलिस ने बताया कि इन हत्याओं के आरोप में पुलिस ने बालाराम सोनकर के बेटे गंगाराम सोनकर (35 वर्ष) तथा उसके तीन सहयोगी योगेश सोनकर (34 वर्ष), नरेश सोनकर (49 वर्ष) और रोहित मोसा (35 वर्ष) को गिरफ्तार कर लिया है। ठाकुर ने बताया कि पिछले वर्ष 21 दिसंबर को पुलिस को खुड़मुड़ा गांव के बाहरी हिस्से स्थित बाड़ी (सब्जी की खेती) में बालाराम सोनकर की पत्नी दुलारी बाई और बहू कीर्तिन की हत्या होने तथा कीर्तिन के बेटे दुर्गेश के घायल होने की जानकारी मिली थी। उन्होंने बताया कि जानकारी मिलने के बाद घटनास्थल के लिए पुलिस दल रवाना किया गया तथा शवों को बरामद किया गया। पुलिस ने घटना में घायल बालक को अस्पताल भेजा।

‘पानी की टंकी से मिलीं 2 लाशें’
इस दौरान पुलिस दल ने वहां छानबीन शुरू की तब पानी की टंकी से बालाराम सोनकर और उसके बेटे रोहित सोनकर का भी शव बरामद किया गया। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि एक ही परिवार के 4 लोगों की हत्या की घटना के बाद पुलिस ने अलग अलग दल बनाकर मामले की जांच शुरू की। जांच के दौरान जानकारी मिली कि किसान परिवार का जमीन को लेकर विवाद चल रहा है। उन्होंने बताया कि जानकारी के आधार पर पुलिस ने संदिग्ध व्यक्तियों और अन्य लोगों की पॉलिग्राफ जांच करवाई जिसके बाद पुलिस को महत्वपूर्ण साक्ष्य मिले।

‘रास्ते को लेकर उपजा विवाद’
पुलिस अधीक्षक ने बताया कि बाद में जांच रिपोर्ट के आधार पर लोगों से पूछताछ की गई तब हत्या के आरोपियों के संबंध में जानकारी मिली। ठाकुर ने बताया कि पुलिस ने जब आरोपी गंगाराम और उसके तीन सहयोगियों नरेश, योगेश और रोहित मोसा से पूछताछ की तब उन्होंने बताया कि गांव में आरोपी गंगाराम सोनकर की सवा एकड़ कृषि भूमि है। जमीन में आने-जाने के लिए रास्ता नहीं होने के कारण उसने (गंगाराम ने) अपनी मां दुलारीबाई से उनकी बाड़ी (जमीन) से होकर रास्ते की मांग की थी, जिसका दुलारीबाई और भाई रोहित ने विरोध किया था।

‘4 आरोपी हुए गिरफ्तार’
वहीं, जमीन का खाता अलग करने को लेकर भी परिवार के मध्य विवाद था। पुलिस अधिकारी ने बताया कि विवाद के दौरान गंगाराम ने अपनी मां को जान से मारने की धमकी दी थी, लेकिन परिवार ने इसे गंभीरता से नहीं लिया था। उन्होंने बताया कि विवाद के बाद गंगाराम ने 21 दिसंबर को तीन साथियों के साथ मिलकर अपने परिवार की हत्या कर दी। ठाकुर ने बताया कि पुलिस ने इस मामले में 4 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है तथा मामले की जांच की जा रही है। (भाषा)

Click Mania
uttar pradesh chunav manch 2021