1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. दिल्ली
  4. मीडियाकर्मियों के कोरोना वैक्सीनेशन को लेकर दिल्ली सरकार का बड़ा फैसला

दिल्ली सरकार मीडियाकर्मियों के लिए लगाएगी टीकाकरण शिविर, एक अधिकारी ने दी जानकारी

दिल्ली सरकार ने सभी मीडिया हाउस (इलेक्ट्रॉनिक मीडिया/डिजिटल मीडिया/प्रिंट मीडिया) के लिए एक सामूहिक COVID-19 टीकाकरण अभियान आयोजित करने का निर्णय लिया है।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: May 07, 2021 22:10 IST
मीडियाकर्मियों के कोरोना वैक्सीनेशन को लेकर दिल्ली सरकार का बड़ा फैसला- India TV Hindi
Image Source : PTI FILE PHOTO मीडियाकर्मियों के कोरोना वैक्सीनेशन को लेकर दिल्ली सरकार का बड़ा फैसला

नई दिल्ली। दिल्ली सरकार मीडियाकर्मियों को कोविड रोधी टीका लगाने के लिए व्यापक अभियान चलाएगी। दिल्ली सरकार के एक अधिकारी ने शुक्रवार को बताया कि मीडिया समूहों के कार्यालयों में टीकाकरण शिविर लगाया जाएगा और इस पर होने वाले खर्च का वहन सरकार करेगी। दिल्ली सरकार ने सभी मीडिया हाउस (इलेक्ट्रॉनिक मीडिया/डिजिटल मीडिया/प्रिंट मीडिया) के लिए एक सामूहिक COVID-19 टीकाकरण अभियान आयोजित करने का निर्णय लिया है। सरकार उनके कार्यालयों में टीकाकरण अभियान आयोजित करेगी। उन्होंने कहा कि सरकार विभिन्न समूहों से उनके कर्मचारियों के बारे में विवरण लेगी और इसके बाद स्वास्थ्य विभाग आगे कदम उठाएगा।

दिल्ली सरकार ने मीडियाकर्मियों के टीकाकरण के संदर्भ में यह कदम उस वक्त उठाया, जब लोग टीकाकरण के लिए समय की बुकिंग को लेकर मुश्किल का सामना कर रहे हैं। भारतीय प्रेस परिषद ने बृहस्पतिवार को केंद्र और राज्य सरकारों से एक बार फिर आग्रह किया था कि पत्रकारों को भी ‘कोरोना योद्धा’ की श्रेणी में शामिल किया जाए और उनको बीमा की सुविधा भी दी जाए। प्रेस परिषद ने ओडिशा, बिहार और मध्य प्रदेश की सरकारों की सराहना की जिन्होंने पत्रकारों को ‘फ्रंटलाइन वर्कर’ की श्रेणी में शामिल करने और वित्तीय मदद देने का फैसला किया है। उत्तर प्रदेश की सरकार ने भी पांच मई को घोषणा की थी कि पत्रकारों और उनके परिवारों को टीकाकरण में प्राथमिकता दी जाएगी।

दिल्ली में कोविड-19 के 19,832 नए मामले, 341 मरीजों की मौत 

कोविड-19 महामारी से गंभीर रूप से जूझ रही राजधानी दिल्ली में पिछले 24 घंटे के दौरान इसके संक्रमण के 19,832 नए मामले सामने आए जबकि इस दौरान 341 मरीजों की मौत हो गयी। वहीं कोरोना संक्रमण की दर लगातार दूसरे दिन 25 प्रतिशत से कम रही और 24.92 प्रतिशत हो गयी है। दिल्ली के स्वास्थ्य विभाग ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। विभाग के मुताबिक पिछले पांच दिनों में यह चौथी बार है जब कोरोना के नए मामलों की संख्या 20 हजार से कम रही है।

इससे पहले गुरुवार को राजधानी में कोविड-19 के 19,133 नए मामले सामने आए थे। कोरोना वायरस संक्रमण के 19,832 नए मामलों के सामने आने के साथ दिल्ली में कुल संक्रमितों की संख्या 12,92,867 पहुंच गयी जिसमें से 11.83 लाख इस जानलेवा वायरस को मात देकर ठीक हो चुके हैं। इस दौरान कोविड-19 के 341 मरीजों की मौत होने से इस महामारी से मरने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 18,739 हो गयी है।

दिल्ली में इस समय कोविड-19 के उपचाराधीन मरीजों की संख्या 91,035 है। स्वास्थ्य बुलेटिन के मुताबिक दिल्ली में कोविड-19 के मरीजों के लिए अस्पतालों में आरक्षित 22,097 बिस्तरों में से केवल 2,175 बिस्तर ही खाली हैं। कोरोना के 50,425 मरीज घर में पृथकवास में रहकर अपना इलाज करवा रहे हैं। इस दौरान राजधानी में निरूद्ध क्षेत्रों की संख्या में भी लगातार इजाफा हो रहा है और इनकी संख्या बढ़कर 50,785 हो गयी है।

दिल्ली में पिछले 24 घंटे के दौरान 1,14,657 लोगों को कोविड-19 के टीके की खुराक दी गयी जिनमें से 80,306 लोगों ने टीके की पहली खुराक ली। दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि 18 से 44 आयु वर्ग के लोगों के लिए तीन मई से शुरू हुए टीकाकरण अभियान के तहत अब तक इस आयु वर्ग के 1.84 लाख लोग टीके की खुराक ले चुके हैं। सिसोदिया ने ट्वीट कर कहा, ‘‘बृहस्पतिवार शाम तक 38.88 लाख लोग कोविड-19 टीके की खुराक ले चुके हैं।’’

दिल्ली को छह मई को 577 मीट्रिक टन आक्सीजन प्राप्त हुई: चड्ढा 

आप विधायक राघव चड्ढा ने शुक्रवार को कहा कि दिल्ली को छह मई को सिर्फ 577 मीट्रिक टन ऑक्सीजन प्राप्त हुई, जो इसकी 976 मीट्रिक टन की कुल आवश्यकता का 59 प्रतिशत है। दिल्ली जल बोर्ड के उपाध्यक्ष चड्ढा ने कहा कि प्राधिकारियों को बृहस्पतिवार को अस्पतालों से ऑक्सीजन की कमी को लेकर नौ एसओएस कॉल (त्राहिमाम संदेश) प्राप्त हुए और इन स्वास्थ्य इकाइयों को 5.1 मीट्रिक टन जीवन रक्षक गैस प्रदान की गई।

राष्ट्रीय राजधानी को बुधवार को 730 मीट्रिक टन ऑक्सीजन प्राप्त हुई थी, जो अभी तक की सबसे अधिक मात्रा है। इसके चलते अस्पतालों से एसओएस कॉल में उल्लेखनीय कमी आयी थी। बुधवार को बढ़ी हुई आपूर्ति दिल्ली उच्च न्यायालय और उच्चतम न्यायालय के हस्तक्षेप के बाद मिली थी। हालांकि, एक दिन में इसमें 153 मीट्रिक टन की कमी आयी। पिछले सात दिनों में दिल्ली को 976 टन की मांग के मुकाबले औसतन प्रतिदिन 498 मीट्रिक टन ऑक्सीजन प्राप्त हुई है। 

Click Mania
bigg boss 15