1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. हेल्थ
  4. Monsoon 2022: मानसून में इन जड़ी-बूटियों वाली चाय की चुस्कियां बनाएंगी आपकी सेहत!

Monsoon 2022: मानसून में इन जड़ी-बूटियों वाली चाय की चुस्कियां बनाएंगी आपकी सेहत!

Monsoon 2022: बारिश की बौछार पड़ते ही लोगों को गर्म चाय याद आने लगती है। चाय की चुस्कियां बारसात के मजे को दोगुना कर देती हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि चाय की चुस्कियां आपको मानसून में होने वाली बीमारियों से भी बचा सकती हैं।

Ritu Tripathi Edited By: Ritu Tripathi
Updated on: July 02, 2022 12:57 IST
Mansoon 2022- India TV Hindi News
Image Source : IANS Mansoon 2022

Highlights

  • चाय से बनेगी सेहत
  • मानसून में पियें ये हर्बल चाय
  • चुस्कियों से दूर होंगी बीमारियां

Monsoon 2022: बरसात का ये मौसम आते ही हमें लगता है गर्म चाय हाथ में लेकर बालकनी में खड़े होकर आराम से बारिश को देखा जाए। लेकिन बारिश के साथ लगातार गिरता-बढ़ता तापमान अपने साथ सर्दी, खांसी और छींकें भी लेकर आता है। तो मानसून में होने वाली बीमारियों से कैसे बच सकते हैं? तो आपको बता दें कि आपकी अपनी चाय ही आपको इस परेशानी से बचा सकती है। चाय हमारे पसंदीदा ड्रिंक्स में से एक है, इसमें जड़ी-बूटियों की शक्ति को जोड़ने से चमत्कार हो सकता है। बरसात के पूरे मौसम में इन अद्भुत पौधों को हमारे चाय के कप में जोड़ना हेल्दी रहने का आसान तरीका है। यहां कुछ जड़ी-बूटियां दी गई हैं जो चाय का स्वाद बढ़ाती हैं और आपके शरीर की देखभाल भी करती हैं:

हल्दी

जब बारिश शुरू होती है, तो हल्दी, जिसमें करक्यूमिन, डेस्मेथोक्सीकुरक्यूमिन और बिस-डेस्मेथोक्सीकुरक्यूमिन की ताकत होती है, हमारे शरीर के अंदरूनी हिस्से को मजबूत कर सकती है। जड़ी बूटी की एंटीबैक्टेरियल क्वालिटी के कारण, यह मानसून के मौसम में होने वाले कई इंफेक्शन का इलाज कर सकती है। 

तुलसी

जड़ी बूटियों की बात करें तो तुलसी एक फेमस रॉकस्टार है। एक कप तुलसी की चाय सीने में जमे कफ को कम करेगी, हमारी नाक को खोल देगी और बीमारी को खत्म कर देगी। तुलसी में पाए जाने वाले विटामिन ए, डी, आयरन, फाइबर बैक्टीरिया को नष्ट करने और इम्युनिटी बढ़ाने में मदद करते हैं। इसके अलावा, तुलसी ओरल और डेंटल प्रॉब्लम को ठीक करने के लिए एक शानदार जड़ी बूटी है।

अदरक

जब बारिश के दौरान स्ट्रीट फूड हर किसी को लुभाता है, इसके बाद पेट दर्द और लूस मोशन जैसी प्रॉब्लम भी साथ आती हैं। इस वजह से, हमारी चाय में अदरक मिलाना बहुत जरूरी हो जाता है। अदरक एक ऐसी हर्ब है जो डाइजेशन और मेटाबॉलिज्म को बढ़ाती है, जो हमारी आंतों को काम करने में मदद करती है। मोशन सिकनेस या मॉर्निंग सिकनेस के कारण होने वाली परेशानी को भी इस चाय से कंट्रोल किया जा सकता है। 

गुड़हल

चाय में शामिल करने के लिए गुड़हल एक जरूरी हर्ब है, खासकर जब बारिश होती है, क्योंकि यह बीटा-कैरोटीन, विटामिन सी और एंथोसायनिन से भरपूर होता है। जड़ी बूटी हमारे इम्युनिटी सिस्टम को बैलेंस में रखती है, इसलिए यह अनचाही बीमारियों और इंफेक्शन को दूर करती है। इसके अलावा, इसमें बहुत सारे एंटीऑक्सीडेंट और एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं।

Disclaimer: यह जानकारी आयुर्वेदिक नुस्खों के आधार पर लिखी गई है। इंडिया टीवी इनके सफल होने या इसकी सत्यता की पुष्टि नहीं करता है इनके इस्तेमाल से पहले चिकित्सक का परामर्श जरूर लें

इसे भी पढ़ें- 

जामुन और उसके बीज में हैं इतने गुण कि गिनते रह जाएंगे आप, जानिए क्या कहते हैं एक्सपर्ट

डायबिटीज के मरीजों के लिए ये 3 टिप्स करेंगे रामबाण की तरह काम, शुगर होगा कम!

Latest Health News