1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. बुराड़ी केस: फांसी के लिए स्टूल और तार लाए थे परिवार के लोग, CCTV में दिखा

बुराड़ी केस: फांसी के लिए स्टूल और तार लाए थे परिवार के लोग, CCTV में दिखा

परिवार के घर के सामने वाले घर के बाहर लगे कैमरे के फुटेज में दिखता है कि परिवार की बड़ी बहू सविता और उसकी बेटी नीतू पांच स्टूल ला रही हैं। इन्हीं स्टूलों को बाद में परिवार के लोगों ने फांसी लगाने में प्रयोग किया...

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: July 05, 2018 19:15 IST
Burari deaths: CCTV footage shows family members brought...- India TV Hindi
Burari deaths: CCTV footage shows family members brought stools, wires used for hanging

नई दिल्ली: बुराड़ी में एक परिवार के 11 सदस्यों के रहस्यमयी तरके से मृत मिलने के मामले में कुछ और जानकारियां सामने आई हैं। सीसीटीवी फुटेज में परिवार के कुछ सदस्यों को उन स्टूलों और तारों को लाते देखा जा सकता है जिनका प्रयोग बाद में फांसी लगाने में किया गया। पुलिस ने 11 डायरियां बरामद की हैं जिनमें बीते 11 सालों में लिखा गया है।

पुलिस ने कहा कि डायरियों में लिखी गई बातें कथित खुदकुशी से मेल खाती हैं। परिवार के घर के सामने वाले घर के बाहर लगे कैमरे के फुटेज में दिखता है कि परिवार की बड़ी बहू सविता और उसकी बेटी नीतू पांच स्टूल ला रही हैं। इन्हीं स्टूलों को बाद में परिवार के लोगों ने फांसी लगाने में प्रयोग किया।

मृतक लड़के ‘होशियार छात्र’ थे, संगीत में भी थी रूचि: अध्यापक

वहीं, भाटिया परिवार के 15 वर्षीय शिवम और ध्रुव होशियार छात्र थे और संगीत में रूचि रखते थे। किशोरों की बड़ी बहन मीनू (मेनका) ने भी उत्तरी दिल्ली स्थित तिमारपुर के वीरेंद्र पब्लिक स्कूल (वीपीएस) से पढ़ाई की थी। वह स्कूल में हमेशा अव्वल आती थी। स्कूल के एक प्रतिनिधि ने बताया कि जांचकर्ताओं ने इस मामले में उनसे भी संपर्क किया।

नौंवी कक्षा के दुष्यंत और ध्रुव (धीरेंद्र) ‘हरफनमौला छात्र’ थे। उन्होंने कहा,‘‘ वे बचपन से ही यहीं पढ़ रहे थे और पढ़ाई में काफी अच्छे थे। पाठ्यक्रम से इतर गतिविधियों में भी काफी बढ़-चढ़कर हिस्सा लेते थे। उनकी बड़ी बहन मेनका ने भी हमारे स्कूल से ही पढ़ाई की थी और वह स्कूल की टॉपर थी। किसी भी अध्यापक को उनके व्यवहार से कोई शिकायत नहीं थी।’’ अध्यापकों ने कहा कि दोनों लड़कों के अभिभावक नियमित रूप से ‘अभिभावक शिक्षक बैठक’ (पीटीएम) में आते थे और कक्षा में अपने बच्चों के प्रदर्शन में काफी रूचि रखते थे।

गौरतलब है कि भाटिया परिवार के 11 सदस्यों में से दस गत रविवार को फंदे पर लटके पाए गए थे जबकि 77 वर्षीय नारायण देवी का शव मकान के एक अन्य कमरे में फर्श पर पड़ा मिला था। देवी की बेटी प्रतिभा (57), उनके दो पुत्र भवनेश (50) और ललित भाटिया (45) भी मृतकों में शामिल हैं। भवनेश की पत्नी सविता (48) और उनके तीन बच्चे मीनू (23), निधि (25) और ध्रुव (15) भी मृत मिले थे।

ललित भाटिया की पत्नी टीना (42) और उसका 15 वर्षीय पुत्र शिवम भी मृत पाया गया था। प्रतिभा की बेटी प्रियंका (33) की पिछले महीने ही सगाई हुई थी और उसकी इस वर्ष के अंत में शादी होने वाली थी। प्रियंका भी फंदे पर लटकी मिली थी।

कोरोना से जंग : Full Coverage

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment
X