1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. कोरोना वैक्सीन पर बुरी खबर! DCGI ने सीरम इंस्‍टीट्यूट में ट्रायल के लिए भर्ती रोकी

कोरोना वैक्सीन पर बुरी खबर! DCGI ने सीरम इंस्‍टीट्यूट में ट्रायल के लिए भर्ती रोकी

कोरोना वैक्सीन का बेसबरी से इंतजार कर रहे देश के लोगों के लिए एक बुरी खबर है। दरअसल, सीरम इंस्‍टीट्यूट में क्लीनिकल परीक्षण के लिए नए उम्मीदवारों की भर्ती पर अगले आदेश तक रोक लगाई गई है। हालांकि, यह कदम सुरक्षात्मक नजरिए से उठाया गया है।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: September 12, 2020 8:39 IST
DCGI ने सीरम इंस्‍टीट्यूट में ट्रायल के लिए भर्ती रोकी- India TV Hindi
Image Source : AP DCGI ने सीरम इंस्‍टीट्यूट में ट्रायल के लिए भर्ती रोकी

नई दिल्ली: भारतीय औषधि महानियंत्रक (DCGI) ने एस्ट्राजेनेका और ऑक्सफॉर्ड की कोरोना वैक्सीन को भारत में तैयार कर रहे सीरम इंस्‍टीट्यूट द्वारा किए जाने वाले क्लीनिकल परीक्षण के लिए नए उम्मीदवारों की भर्ती पर रोक लगा दी है। यह रोक अगले आदेश तक लागू रहेगी। DCGI ने यह कदम सुरक्षात्मक नजरिए से उठाया गया है। शुक्रवार को इससे जुड़ा आदेश जारी किया गया।

महानियंत्रक डॉक्टर वी जी सोमानी ने शुक्रवार को एक आदेश में भारतीय सीरम संस्थान (एसआईआई) से यह भी कहा कि परीक्षण के दौरान अभी तकटीका लगवा चुके लोगों की सुरक्षा निगरानी बढ़ाए। साथ ही योजना और रिपोर्ट पेश करे। आदेश में कंपनी से भविष्य में परीक्षण के लिए नई भर्तियां करने से पहले DCGI से पूर्वानुमति के लिये ब्रिटेन और भारत में डाटा एंड सेफ्टी मॉनिटरिंग बोर्ड (DSMB) से मिली मंजूरी को जमा कराने के लिए भी कहा गया है।

हालांकि, आपको बता दें कि सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) ने गुरुवार को ही कहा था कि वह कोविड- 19 के संभावित टीके के चिकित्सकीय परीक्षण को रोक रही है। सीरम ने इस टीके की एक अरब खुराक बनाने का समझौता किया हुआ है। सीरम इंस्टीट्यूट ने जारी एक बयान में कहा, ‘‘हम स्थिति की समीक्षा कर रहे हैं और भारत परीक्षण को फिलहाल स्थगित कर रहे हैं।’’ सीरम मात्रा के लिहाज से दुनिया की सबसे बड़ी टीका विनिर्माण कंपनी है। 

इससे पहले ब्रिटेन की दवा निर्माता कंपनी एस्ट्राजेनेका ने परीक्षण में शामिल एक स्वैच्छिक प्रतिभागी के बीमार पड़ने पर परीक्षण रोक दिया था। इसके बाद DCGI ने SII को नोटिस जारी कर कहा था कि जब तक मरीज की सुरक्षा की पुष्टि नहीं हो जाती है तब तक परीक्षण को क्यों नहीं निलंबित रखा जाये। 

सीरम इंस्टीट्यूट ने नोटिस के बाद ट्वीट कर कहा था, ‘‘हम इस बारे में डीसीजीआई के निर्देश के अनुरूप कार्य करेंगे। हमें परीक्षण को रोकने का निर्देश नहीं दिया गया था। यदि डीसीजीआई को इसमें किसी तरह की सुरक्षा चिंता दिखाई देती है तो हम उनके निर्देशों का पालन करेंगे और मानक नवाचार के अनुरूप कार्य करेंगे।’’ 

सीरम ने बृहस्पतिवार को कहा कि वह डीसीजीआई के निर्देशों का पालन कर रही है और आगे कुछ नहीं कह सकती है। उसने कहा, ‘‘हम स्थिति की समीक्षा कर रहे हैं और एस्ट्राजेनेका की तरफ से परीक्षण फिर से शुरू करने तक भारत में परीक्षण को स्थगित रखा जाएगा। हम डीसीजीआई के निर्देशों का पालन कर रहे हैं और आगे इस मामले में कुछ नहीं कह सकते हैं। इस बारे में आगे की जानकारी के लिये आप डीसीजीआई से संपर्क कर सकते हैं।’’ 

एस्ट्राजेनेका ने विकसित किए जा रहे अपने टीके के परीक्षण पर दुनियाभर में अस्थाई तौर पर रोक लगा दी है। कंपनी जांच कर रही है कि उसके परीक्षण में टीका लेने वाला वह व्यक्ति संयोग वश बीमार हुआ है अथवा यह दवा की वजह से हुआ है। सीरम इंस्टीट्यूट ने जून में एस्ट्राजेनेका के साथ दवा के विनिर्माण के लिये समझौता किया था। 

उसने निम्न और मध्यम आय वाले देशों के लिये इस टीके के उत्पादन का समझौता किया था। यह टीका आक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी द्वारा विकसित किया जा रहा है। इसके अलावा मोडरेना और फाइजर द्वारा विकसित किये जा रहे टीकों को भी संभावित कोविड- 19 की दवा को मजबूत दावेदार माना जा रहा है।

(इनपुट-भाषा)

कोरोना से जंग : Full Coverage

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment
X