1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. 2014 Vs 2019: पिछली बार से जानिए कितना अलग नज़र आएगा मोदी का शपथ ग्रहण समारोह

2014 Vs 2019: पिछली बार से जानिए कितना अलग नज़र आएगा मोदी का शपथ ग्रहण समारोह

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में एनडीए गठबंधन जितने प्रचंड बहुमत से दोबारा सत्ता पर काबिज हुआ है, नई सरकार का शपथ ग्रहण समारोह भी उतना अधिक भव्य होने जा रहा है।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: May 30, 2019 10:04 IST
Narendra Modi Oath Ceremony - India TV Hindi
Narendra Modi Oath Ceremony 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्‍व में एनडीए गठबंधन जितने प्रचंड बहुमत से दोबारा सत्‍ता पर काबिज हुआ है, नई सरकार का शपथ ग्रहण समारोह भी उतना अधिक भव्‍य होने जा रहा है। नरेंद्र मोदी का ये शपथ ग्रहण समारोह राष्ट्रपति भवन के फोरकोर्ट में गुरुवार शाम 7 बजे होने वाला है। ​समारोह के दौरान राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनकी मंत्रि परिषद को शपथ दिलाएंगे। पिछली बार भी शपथ ग्रहण समारोह इसी जतह आयोजित किया गया था। लेकिन इस बार समारोह पहले से कहीं बड़ा, विस्‍तृत और भव्‍य होगा। 

प्रधानमंत्री के शपथ ग्रहण समारोह के लिए देश और विदेश से राष्‍ट्राध्‍यक्षों, प्रमुख हस्तियों, राज्‍यों के राज्‍यपाल एवं मुख्‍यमंत्रियों, फिल्‍म, कला के क्षेत्र की दिग्‍गज हस्तियों के साथ सैन्‍य अधिकारियों को भी आमंत्रित किया गया है। 

8000 अतिथि करेंगे शिरकत 

राष्‍ट्रपति भवन के सूत्रों के मुताबिक इस बार भी शपथ ग्रहण समारोह राष्‍ट्रपति भवन के सामने स्थित फोरकोर्ट परिसर में आयोजित किया गया है। राष्ट्रपति भवन के मेन गेट और मेन बिल्डिंग के बीच का शानदार रास्ता है। ऐसा चौथी बार होगा जब किसी प्रधानमंत्री का शपथ ग्रहण समारोह दरबार हॉल में न होकर फोरकोर्ट में होगा। इस बार करीब 7000 से 8000 लोगों के बैठने का इंतजाम किया गया है। जबकि पिछले शपथ ग्रहण समारोह में 5000 लोगों ने शिरकत की थी। 

सार्क की जगह बिम्‍स्‍टेक 

पिछली बार के शपथ ग्रहण समारोह में भारत की ओर से सार्क देशों को आमंत्रित किया गया है। जिसमें पाकिस्‍तान के तत्‍कालीन प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ सहित अफगानिस्‍तान, मालदीव जैसे सार्क देशों को आमंत्रित किया गया था। लेकिन इस बार मोदी ने बिम्‍स्‍टेक (Bay of Bengal Initiative for Multi-Sectoral Technical and Economic Cooperation) के देशों को आमंत्रित किया है। ऐसे में इस बार बिम्‍स्‍टेक के देश जैसे बांग्‍लादेश, श्रीलंका, भूटान, म्‍यामार, नेपाल और थाईलैंड के राष्‍ट्राध्‍यक्षों को आमंत्रित किया गया है। यानि इस बार पाकिस्‍तान, अफगानिस्‍तान और मालदीव के राष्ट्राध्‍यक्ष मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल नहीं होंगे। 

Narendra Modi Oath Ceremony

Narendra Modi Oath Ceremony 

पिछली बार जयललिता इस बार ममता रहेंगी नदारद 

प्रधानमंत्री मोदी के पिछले शपथ ग्रहण समारोह में तमिलनाडु की तत्‍कालीन मुख्‍यमंत्री जयललिता ने भाग नहीं लिया था। उनके अलावा लगभग सभी राज्‍यों के मुख्‍यमंत्री इस समारोह में आए थे। पिछली बार 34 सीटें जीतने वाली ममता बनर्जी भी आई थीं। लेकिन इस बार ममता ने समारोह में न आने की घोषणा कर दी है। इसके अलावा एमपी से कमलनाथ और छत्‍तीसगढ़ से भूपेश बघेल जैसे कुछ कांग्रेसी मुख्‍यमंत्रियों ने भी समारोह में आने से मना कर दिया है। 

कोरोना से जंग : Full Coverage

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment
X