Ankita Murder Case: कैसे हुई मौत, कहां चोट के निशान... अंकिता भंडारी की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में क्या आया सामने

Ankita Murder Case: अंकिता भंडारी की फाइनल पोस्टमार्टम रिपोर्ट आ गई है। इस रिपोर्ट में सामने आया है कि अंकिता की मौत पानी में डूबने से हुई थी। उसके शरीर पर 4-5 जगह चोट के निशान पाए गए हैं।

Reported By : Bhaskar Mishra Edited By : Swayam Prakash Updated on: September 27, 2022 6:30 IST
Ankita Bhandari Murder Case- India TV Hindi
Image Source : FILE PHOTO Ankita Bhandari Murder Case

Highlights

  • अंकिता भंडारी की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में कई खुलासे
  • शारीरिक शोषण की पुष्टि के लिए होगी फोरेंसिक जांच
  • रिपोर्ट में खुलासा- अंकिता की मौत पानी में डूबने से हुई थी

Ankita Murder Case: अंकिता भंडारी की फाइनल पोस्टमार्टम रिपोर्ट आ गई है। इस रिपोर्ट में सामने आया है कि अंकिता की मौत पानी में डूबने से हुई थी। उसके शरीर पर 4-5 जगह चोट के निशान पाए गए हैं। हालांकि अंकिता भंडारी का शारीरिक शोषण हुआ कि नहीं इसके लिए अभी फोरेंसिक जांच की जाएगी। शारीरिक शोषण को लेकर फिलहाल पुष्टि नहीं हुई है। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में अंकिता के दोनों हाथों की उंगलियों पर चोट के निशान मिले हैं।

अंकिता को नहर में धकेलकर हत्या के आरोप

पौड़ी जिले के यमकेश्वर में गंगा भोगपुर में वनतारा रिजॉर्ट में 19 साल की अंकिता भंडारी रिसेप्शनिस्ट के तौर पर काम करती थी। अंकिता भंडारी की कथित रूप से रिजॉर्ट संचालक पुलकित आर्य ने अपने दो कर्मचारियों, प्रबंधक सौरभ भास्कर और सहायक प्रबंधक अंकित गुप्ता के साथ मिलकर ऋषिकेश के पास चीला नहर में धकेलकर हत्या कर दी थी। इससे पहले, अंकिता की गुमशुदगी के मामले में 23 सितंबर को तीनों आरोपियों को गिरफ्तार किया गया था जिन्होंने पूछताछ में उसकी हत्या की बात स्वीकार की थी। आरोपियों की निशानदेही पर अंकिता का शव 24 सितंबर को चीला नहर से बरामद किया गया था। 

घटना के बाद भाजपा ने आर्य को पार्टी से निकाला
इस मामले में मुख्य आरोपी पुलकित हरिद्वार के पूर्व भाजपा नेता विनोद आर्य का पुत्र है। घटना के सामने आने के बाद भाजपा ने आर्य को पार्टी से निष्कासित कर दिया था। इस हत्याकांड से पूरे राज्य में रोष है जहां अंकिता के हत्यारों को तत्काल फांसी दिए जाने की मांग को लेकर लोगों ने कई घंटों तक श्रीनगर में ऋषिकेश-बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग को बाधित रखा। अलकनंदा नदी के तट पर रविवार शाम अंकिता के अंतिम संस्कार में भी हजारों लोगों की भीड़ शामिल हुई और उसके लिए इंसाफ की मांग की।

"मुझे अंतिम समय में बेटी का चेहरा भी नहीं देखने दिया"
बेटी की हत्या से गमगीन अंकिता की मां सोनी देवी ने सोमवार को कहा कि उनके साथ अन्याय हुआ है क्योंकि उन्हें अंतिम समय में अंकिता का मुंह भी नहीं देखने दिया गया। उन्होंने कहा, ‘‘रात को अंतिम संस्कार करने की क्या जरूरत थी। जब इतना रुक गए थे तो एक दिन और रुक जाते। सबसे बड़ा गुनाह तो उन्होंने (सरकार ने) यह किया कि मुझे अपनी बेटी का चेहरा भी नहीं देखने दिया।’’

Latest India News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन