Saturday, April 20, 2024
Advertisement

Delhi Air Pollution: दिल्ली-एनसीआर में फिर चरम पर पहुंचा वायु प्रदूषण, द्वारका में 490 पहुंचा एक्यूआई

दिल्ली-एनसीआर में वायु प्रदूषण अपने चरण पर पहुंच चुका है। यहां आनंद विहार में एक्यूआई 447, आरके पुरम में 465, आईजीआई एयरपोर्ट के पास 467 दर्ज किया गया है। दिल्ली में सबसे अधिक एक्यूआई द्वारका में 490 दर्ज किया गया है जो गंभीर श्रेणी में बना हुआ है।

Avinash Rai Written By: Avinash Rai @RaisahabUp61
Updated on: November 17, 2023 7:21 IST
Delhi Air Pollution again reached its peak in Delhi-NCR cpcb data AQI reached 490 in Dwarka- India TV Hindi
Image Source : PTI दिल्ली-एनसीआर में फिर चरम पर पहुंचा वायु प्रदूषण

Delhi Air Pollution: दिल्ली में एक तरफ जहां ठंड बढ़ रही है। वहीं दूसरी तरफ वायु प्रदूषण भी बढ़ रहा है। दिल्ली-एनसीआर में बीते दिनों एक्यूआई में गिरावट देखने को मिली थी। लेकिन दिवाली के बाद से फिर एक्यूआई में बढ़ोत्तरी दिख रही है। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के मुताबिक आनंद विहार, आरके पुरम, आईजीआई एयरपोर्ट और द्वारका में एक्यूआई 400 के पार दर्ज किया गया है। आनंद विहार में 447 आरके पुरम में 465, आईजीआई एयरपोर्ट के इलाके में 467 और द्वारका में 490 एक्यूआई दर्ज किया गया है। वहीं नोएडा और ग्रेटर नोएडा में भी वायु गुणवत्ता 'बहुत खराब' की श्रेणी में बना हुआ है। 

दिल्ली का एक्यूआई

सीपीसीबी द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक नोएडा सेक्टर 125 में 352, नॉलेज पार्क 3 में 314 एक्यूआई दर्ज किया गया है। वहीं हरियाणा के गुरुग्राम सेक्टर 51 में एक्यूआई 444, दर्ज किया गया है। बता दें कि गुरुवार को दिल्ली में एक्यूआई 419, बुधवार को 401, मंगलवार को 397, सोमवार को 358 और रविवार को एक्यूआई 218 दर्ज किया गया था। वहीं वर्तमान में गाजियाबाद में एक्यूआई 376, गुरुग्राम में 363, ग्रेटर नोएडा में 340, नोएडा में 355, फरीदाबाद में 424 एक्यूआई दर्ज किया गया। बता दें कि दिल्ली में हुआ बारिश के कारण एक्यूआई में गिरावट देखने को मिली थी। लेकिन एक बार फिर वायु प्रदूषण में बढ़ोत्तरी होने लगी है। 

एक्यूआई का पैरामीटर

बता दें कि 0-50 के बीच के AQI को अच्छा, 51 से 100 के बीच संतोषजनक, 101 से 200 के बीच मध्यम, 201 से 300 के बीच खराब, 301 से 400 के बीच बहुत खराब, 401 और 450 के बीच गंभीर और 450 से ऊपर बहुत गंभीर माना जाता है। दिल्ली सरकार और आईआईटी कानपुर द्वारा बीते दिनों ज्वाइंट प्रोजेक्ट चलाया गया। इसके परिणाम स्वरूप पता चला कि बुधवार को राजधानी के वायु प्रदूषण में वाहनों के उत्सर्जन का योगदान 38 फीसदी रहा है जो गुरुवार को घटकर 25 फीसदी हो गया। गुरुवार को दिल्ली सरकार के मंत्री गोपाल राय ने कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में वायु प्रदूषण को नियंत्रित करने व ग्रेप का सख्ती से पालन सुनिश्चित कराने के लिए 6 सदस्यीय विशेष टास्क फोर्स का गठन किया गया है। 

Latest India News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement