1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. IAS Pooja Singhal Case: आईएएस पूजा सिंघल की मुश्किलें बढ़ीं, पति के साथ ED ऑफिस पहुंचीं, जानें क्या है पूरा मामला

IAS Pooja Singhal Case: आईएएस पूजा सिंघल की मुश्किलें बढ़ीं, पति के साथ ED ऑफिस पहुंचीं, जानें क्या है पूरा मामला

समन मिलने के बाद आज वह ईडी कार्यालय भी पहुंची। इस दौरान उनके साथ पति अभिषेक झा भी थे। इंडिया टीवी संवाददाता मुकेश कुमार ने बताया कि पूजा के सीए सुमन कुमार से अभी भी पूछताछ जारी है। 

Rituraj Tripathi Written by: Rituraj Tripathi @rocksiddhartha7
Published on: May 10, 2022 12:40 IST
IAS Pooja Singhal Case- India TV Hindi
Image Source : FILE PHOTO IAS Pooja Singhal Case

Highlights

  • आईएएस पूजा सिंघल की मुश्किलें बढ़ीं
  • पति के साथ आज ED ऑफिस पहुंचीं
  • पूजा के सीए सुमन कुमार से अभी भी पूछताछ जारी

IAS Pooja Singhal Case:  झारखंड के खूंटी जिले में मनरेगा कोष की कथित हेराफेरी से संबंधित मामले में आईएएस पूजा सिंघल (IAS Pooja Singhal) की मुश्किलें बढ़ रही हैं। समन मिलने के बाद आज वह ईडी कार्यालय भी पहुंची। इस दौरान उनके साथ पति अभिषेक झा भी थे। इंडिया टीवी संवाददाता मुकेश कुमार ने बताया कि पूजा के सीए सुमन कुमार से अभी भी पूछताछ जारी है।

 

गौरतलब है कि झारखंड के खूंटी जिले में मनरेगा कोष की कथित हेराफेरी से संबंधित मामले में प्रवर्तन निदेशालय ने शनिवार को धन शोधन (निवारण) अधिनियम (पीएमएलए) के तहत एक चार्टर्ड अकाउंटेंट सुमन कुमार को गिरफ्तार किया था। अधिकारियों ने बताया था कि इस मामले में राज्य की खनन सचिव और आईएएस अधिकारी पूजा सिंघल (IAS Pooja Singhal) और अन्य के ठिकानों पर छापेमारी की गई थी। 

सीए सुमन कुमार को रांची में शाम करीब पांच बजे पीएमएलए के तहत हिरासत में लिया गया था। अधिकारियों ने आरोप लगाया था कि एजेंसी द्वारा इस मामले में छापेमारी करने के बाद रांची में उनके परिसर से कथित तौर पर 17.79 करोड़ रुपये की नकदी की बरामदगी के संबंध में सीए सवालों का जवाब देने में टालमटोल कर रहे थे। 

आईएएस पूजा और उनके परिजनों से संबंधित हैं सीए सुमन कुमार

ईडी ने आरोप लगाया है कि आईएएस अधिकारी पूजा सिंघल और उनके परिवार से सीए कुमार का संबंध है और वह उनके वित्तीय सलाहकार भी हैं। बता दें कि जिस धन शोधन के मामले में छापेमारी की जा रही है, वह झारखंड के कनिष्ठ अभियंता राम बिनोद प्रसाद सिन्हा के खिलाफ प्रवर्तन निदेशालय द्वारा पीएमएलए के तहत दर्ज मामले से जुड़ा है।