1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. उत्तर प्रदेश
  5. विकास दुबे के मारे जाने से कुछ दिन पहले का एक और वीडियो सामने आया, दिखा रहा है पूरे तेवर और रसूख

विकास दुबे के मारे जाने से कुछ दिन पहले का एक और वीडियो सामने आया, दिखा रहा है पूरे तेवर और रसूख

विकास दुबे का एक और वीडियो सामने आया है। कहा जा रहा है कि ये वीडियो विकास दुबे के मुठभेड़ में मारे जाने से कुछ दिन पहले का है। 

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: July 18, 2020 21:53 IST
vikas dubey video before encounter । विकास दुबे के मारे जाने से पहले के कुछ दिन पहले का एक और वीडियो- India TV Hindi
Image Source : PTI Vikas Dubey Case

कानपुर. विकास दुबे का एक और वीडियो सामने आया है। कहा जा रहा है कि ये वीडियो विकास दुबे के मुठभेड़ में मारे जाने से कुछ दिन पहले का है। इस वीडियो में विकास दुबे के धमकी भरी तेवर और फर्जी रसूख साफ दिखाई दे रहा है। वीडियो में विकास कह रहा है, "दंगल हॉक दिया हमने, कोई लड़ने वाला हो तो बताओ।" 

विकास दुबे जिस जगह मुठभेड़ में मारा गया था, वहां पहुंची फोरेंसिक टीम

फोरेंसिक टीम शनिवार को मुठभेड़ स्थल पहुंची, जहां दस जुलाई को गैंगस्टर विकास दुबे मारा गया था। विकास दुबे भागने के प्रयास में पुलिस के हाथों मुठभेड़ में मारा गया था। उसे मध्य प्रदेश के उज्जैन से लेकर आ रहा वाहन भारी बारिश के कारण दुर्घटनाग्रस्त हो गया था, जिसके बाद उसने भागने का प्रयास किया था। एक वरिष्ठ फोरेसिंक अधिकारी ने नाम सार्वजनिक न करने की शर्त पर बताया कि वरिष्ठ फोरेंसिक विशेषज्ञ और टीम के अन्य सदस्य मुठभेड़ स्थल पर पहुंचे।

उनके साथ उत्तर प्रदेश पुलिस के एसटीएफ (स्पेशल टास्क फोर्स) के सदस्य भी थे। उन्होंने बताया कि उत्तर प्रदेश एसटीएफ और स्थानीय पुलिस की मुठभेड की 'थ्योरी' की पडताल के लिए वे यहां आये हैं। एसटीएफ के सामने फोरेंसिक विशेषज्ञों ने गोलीबारी के दृश्य को पुन: प्रस्तुत कर नाट्य रूपांतरण के जरिए घटनाक्रम को समझने का प्रयास किया। अधिकारी ने बताया कि मुठभेड़ में शामिल रहे एसटीएफ कानपुर इकाई के क्षेत्राधिकारी टी बी सिंह और कानपुर पुलिस के अधिकांश अधिकारी इस दौरान घटनास्थल पर फोरेंसिक टीम के साथ मौजूद रहे।

फोरेंसिक विशेषज्ञों ने 12 जगहों पर झंडे लगाये और एसटीएफ के कर्मियों को उसी तरह पोजीशन लेने को कहा, जैसी उन्होंने मुठभेड के दिन ली थी। दृश्य के पुन: प्रस्तुतिकरण में एक पुलिसकर्मी से कहा गया कि वह उस जगह बैठे, जहां पुलिस का वाहन पलटा था। बाद में उत्तर प्रदेश एसटीएफ के कर्मियों ने सांकेतिक रूप से विकास दुबे को आत्मसमर्पण करने को कहा लेकिन उसने इंकार कर दिया और पुलिस पर फायर कर दिया।

एसटीएफ के जवानों ने आत्मरक्षा में फायरिंग की। एक गोली विकास के सीने को चीरती हुई निकल गयी। उसके बाद तीन गोलियां और लगीं। वरिष्ठ फोरेंसिक अधिकारी ए के श्रीवास्तव ने मीडियाकर्मियों को बताया कि हमने उस दृश्य को पुन: जीवंत किया और फोरेंसिक निष्कर्ष सरकार को जल्द से जल्द सौंप दिये जाएंगे। 

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। Uttar Pradesh News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment