CWG 2022: टोक्यो के बाद बर्मिंघम में भी पीवी सिंधु का कमाल, भारत को दिलाया 19वां गोल्ड मेडल

CWG 2022: पीवी सिंधु ने बर्मिंघम कॉमनवेल्थ गेम्स में गोल्ड मेडल जीत भारत को मेडल टैली में चौथे स्थान पर पहुंचा दिया है।

Priyam Sinha Written By: Priyam Sinha @@PriyamSinha4
Updated on: August 08, 2022 17:10 IST
पीवी सिंधु- India TV Hindi News
Image Source : TWITTER पीवी सिंधु

Highlights

  • पीवी सिंधु ने भारत को दिलाया 19वां गोल्ड
  • 2018 की हार का मलेशियाई शटलर से लिया बदला
  • भारत मेडल टैली में न्यूजीलैंड को पछाड़ चौथे स्थान पर पहुंचा

CWG 2022: दो बार की ओलंपिक मेडलिस्ट पीवी सिंधु ने सोमवार को बर्मिंघम कॉमनवेल्थ गेम्स के वुमेन्स सिंगल्स फाइनल में कनाडा की मिशेल ली को सीधे गेम में हराकर स्वर्ण पदक जीता। दुनिया की सातवें नंबर की खिलाड़ी सिंधु ने दुनिया की 13वें नंबर की मिशेल को 21-15, 21-13 से हराकर 2014 ग्लास्गो राष्ट्रमंडल खेलों के सेमीफाइनल में उनके खिलाफ हार का बदला भी चुकता कर दिया है। पिछले साल टोक्यो ओलंपिक में भी पीवी सिंधु ने ब्रॉन्ज मेडल जीता था। 

परेशानी के बावजूद सिंधु ने दिखाया दम

आपको बता दें सिंधु ने 2014 में भी कांस्य पदक जीता था जबकि मिशेल स्वर्ण पदक जीतने में सफल रहीं थी। मिशेल के खिलाफ 11 मैच में यह सिंधु की नौवीं जीत है। सिंधु का राष्ट्रमंडल खेलों में यह तीसरा व्यक्तिगत पदक है। उन्होंने 2018 गोल्ड कोस्ट खेलों में भी रजत पदक जीता था। सिंधु मौजूदा खेलों में रजत पदक जीतने वाली भारत की मिश्रित टीम का भी हिस्सा थीं जिसे फाइनल में मलेशिया के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा था। फाइनल में सिंधु के बाएं पैर में पट्टी बंधी थी जिससे कुछ हद तक उनकी मूवमेंट प्रभावित हुई और इसका असर उनके प्रदर्शन पर भी दिखा। 

उन्होंने कुछ मौकों पर मिशेल को आसान अंक बनाने का मौका दिया। सिंधु ने रैली में बेहतर प्रदर्शन किया और उनके ड्रॉप शॉट भी दमदार थे। मिशेल ने काफी सहज गलतियां की जिसका खामियाजा उन्हें भुगतना पड़ा। भारत का बर्मिंघम खेलों की बैडमिंटन प्रतियोगिता का यह चौथा पदक है। इससे पहले मिश्रित टीम के रजत पदक के अलावा किदांबी श्रीकांत ने पुरुष एकल जबकि त्रीशा जॉली और गायत्री गोपचंद की जोड़ी ने महिला युगल में कांस्य पदक जीते थे। मिशेल ने पहले गेम में काफी सहज गलतियां की। उन्होंने कई शॉट बाहर मारे और नेट पर भी उलझाए। उनके क्रॉस कोर्ट और सीधे दोनों स्मैश हालांकि दमदार से जिससे सिंधु को परेशानी हुई क्योंकि वह तेजी से मूव नहीं कर पा रही थी। 

CWG 2022: 40 साल के शरत ने 24 साल की श्रीजा के साथ मिलकर रचा इतिहास, देश को पहली बार दिलाया गोल्ड

पहले गेम में दोनों खिलाड़ियों के बीच प्रत्येक अंक के लिए संघर्ष देखने को मिला। सिंधु ने लगातार तीन अंक के साथ 3-1 की बढ़त बनाई लेकिन मिशेल ने 3-3 पर स्कोर बराबर कर दिया। मिशेल ने 7-7 के स्कोर पर लगातार दो शॉट बाहर मारे जिससे सिंधु ने 9-7 की बढ़त बना ली। मिशेल ने इसके बाद दो और शॉट बाहर मारे जिससे सिंधु ब्रेक तक 11-8 की बढ़त बनाने में सफल रहीं। कनाडा की खिलाड़ी ने ब्रेक के बाद लगातार दो शॉट नेट पर और एक बाहर मारा जिससे सिंधु ने 14-8 की मजबूत बढ़त बना ली। सिंधु ने इस बढ़त को 16-9 किया। मिशेल ने स्कोर 15-18 किया। सिंधु ने ड्रॉप शॉट से अंक जुटाया और फिर मिशेल के नेट पर शॉट मारने पर पांच गेम प्वाइंट हासिल किए। 

सिंधु ने मिशेल के शरीर पर शॉट खेलकर पहला गेम अपने नाम किया। दूसरे गेम में भी सिंधु ने बेहतर शुरुआत की। मिशेल की गलतियां कम होने का नाम नहीं ले रही थी। वह लगातार शॉट नेट पर और बाहर मार रही थीं जिसका फायदा उठाकर सिंधु ने 8-3 की बढ़त बना ली। मिशेल ने नेट पर शॉट उलझाया जिससे सिंधु ब्रेक तक 11-6 से आगे हो गईं। मिशेल इसके बाद वापसी करते हुए स्कोर 11-13 करने में सफल रहीं। कनाडा की खिलाड़ी ने इसके बाद लगातार दो शॉट नेट पर मारकर सिंधु को 15-11 की बढ़त बनाने का मौका दे दिया। सिंधु ने बढ़त को 19-13 किया। मिशेल के शॉट बाहर मारने से सिंधु को सात चैंपियनशिप अंक मिले जिसके बाद भारतीय खिलाड़ी ने तेजतर्रार क्रॉस कोर्ट स्मैश के साथ स्वर्ण पदक अपने नाम किया। 

भारत को मिला 19वां स्वर्ण

इसी के साथ भारत को बर्मिंघम कॉमनवेल्थ गेम्स का 19वां स्वर्ण मिला है। वहीं इस मेडल के साथ भारत मेडल टैली में न्यूजीलैंड को पछाड़कर चौथे स्थान पर भी पहुंच गया। भारत के इस मैच के खत्म होने तक कुल 56 मेडल हो गए। जिसमें 19 गोल्ड के अलावा 15 सिल्वर और 22 ब्रॉन्ज भी शामिल हैं। इसके अलावा भारत को सबसे ज्यादा मेडल इस बार 12 रेसलिंग में और 10 वेटलिफ्टिंग में मिले हैं। 2018 कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत 66 पदकों के साथ चौथे स्थान पर रहा था। लेकिन इस बार शूटिंग शामिल नहीं है और फिर भी भारत 60 के करीब है। यह निश्चित ही काबिल-ए-तारीफ है।

Koo AppSINDHU’S GOLDEN VICTORY! Shuttler PV Sindhu wins her 1st ever #CWG gold medal in the Women’s Singles event after defeating Canada’s Michelle Li (21-15, 21-13) at the #CommonwealthGames2022. Heartiest congratulations, Champ!! Your dedication & hard work has made India proud! This comes as her 3rd singles medal at CWG after bagging a silver at #2018GoldCoast & bronze at #2014GlasgowGames. #CWG2022 | #CWG2022INDIA | #Badminton @media_sai

View attached media content

- YASMinistry (@YASMinistry) 8 Aug 2022

 

लाइव स्कोरकार्ड

navratri-2022