1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. टेक
  4. न्यूज़
  5. सामने आया हैकिंग का डरावना पहलू, इस शहर में एक हैकर ने की 15 हजार लोगों को जहर देने की कोशिश

सामने आया हैकिंग का डरावना पहलू, इस शहर में एक हैकर ने की 15 हजार लोगों को जहर देने की कोशिश

एक हैकर ने सिस्टम को हैक कर पानी में कैमिकल की मात्रा बढ़ा कर 100 गुना कर दी। अधिकारियों के मुताबिक प्लांट का पानी 15 हजार लोगों को भेजा जाता है।

India TV Paisa Desk Edited by: India TV Paisa Desk
Updated on: February 09, 2021 13:56 IST
हैकर्स का बढ़ा खतरा- India TV Hindi News
हैकर्स का बढ़ा खतरा

नई दिल्ली। रोजाना के कामकाज में तकनीक का इस्तेमाल काफी आम हो चुका है। काम को तेजी से और सटीकता से पूरा करने के लिए लगभग हर जगह कंप्यूटर का इस्तेमाल किया जा रहा है, हालांकि तकनीक पर यही निर्भरता नए नए खतरे सामने ला रही है। अभी तक हम तकनीक के जरिए आर्थिक अपराध के बारे में सुन रहे थे। हालांकि अमेरिका में एक ताजा मामला सामने आया है जिसने तकनीक का एक बेहद डरावना पहलू सामने रख दिया है।

क्या है मामला

अमेरिका के फ्लोरिडा में स्थित एक छोटे से शहर ओल्डस्मर के वाटर ट्रीटमेंट प्लांट को एक हैकर ने हैक कर उसमें जहर मिलाने की कोशिश की। हालांकि ड्यूटी पर मौजूद सतर्क ऑपरेटर ने उसकी योजना विफल कर दी। इस वाटर ट्रीटमेंट प्लांट का पानी शहर के करीब 15 हजार लोगों तक पहुंचता है। पुलिस के मुताबिक अगर वो हैकर अपने मकसद में कामयाब हो जाता तो शहर में अचानक बड़ी संख्या में लोग बीमार पड़ने लगते। जिससे हालात बेकाबू हो सकते थे।

कैसे किया हैकर ने हमला

न्यू यॉर्क टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक वाटर ट्रीटमेंट प्लांट में पानी को साफ करने के लिए सोडियम हाइड्रोक्साइड का बेहद सीमित मात्रा में इस्तेमाल किया जाता है। एक हैकर ने सिस्टम को हैक कर पानी में इसकी मात्रा प्रति 10 लाख में 100 से बढ़ाकर 11100 प्रति 10 लाख कर दी, जो कि इस्तेमाल की जाने वाली मात्रा से 100 गुना थी। हालांकि उस वक्त ड्यूटी पर स्थित ऑपरेटर ने इस गड़बड़ी को पकड़ लिया और मात्रा को वापस नियंत्रित कर दिया। पुलिस के मुताबिक हैकर ने सुबह भी सिस्टम को हैक किया था लेकिन तब कर्मचारियों को लगा कि उसके वरिष्ठ अधिकारी सिस्टम में काम कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें: PM Kisan योजना के नियमों में हुआ बदलाव, अब सिर्फ इन किसानों को ही मिलेगी नकद रकम

यह भी पढ़ें: खत्म होगी तेल कीमतों की टेंशन, आईआईटी दिल्ली ने खोजी पानी से सस्ते ईंधन बनाने की तकनीक

क्यों गंभीर है ये घटना

फिलहाल पुलिस हैकर का सुराग तलाशने की कोशिश कर रही है, लेकिन अभी तक ये जानकारी नहीं मिली है कि ये हैकिंग अमेरिका के अंदर से हुई है या विदेश से। अधिकारियों के मुताबिक एक्सपर्ट्स इस तरह के खतरों के बारे में काफी समय से आगाह कर रहे थे। उनका डर अब सच होने लगा है। वहीं एक सीनेटर ने इसे राष्ट्रीय सुरक्षा का विषय बताया है।