1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. वायरल न्‍यूज
  4. वायरल न्‍यूज
  5. ये रोबोट डॉग अपने दुश्मन को गोलियों से छलनी कर देता है, इन खूबियों से लैस है 21वीं सदी का यह आधुनिक हथियार

Robot Dog: ये रोबोट डॉग अपने दुश्मन को गोलियों से छलनी कर देता है, इन खूबियों से लैस है 21वीं सदी का यह आधुनिक हथियार

Robot Dog: इन दिनों पूरी दुनिया में आधुनिक हथियारों की होड़ मची हुई है। खास तौर से ऐसे हथियारों की जो मानवरहित हों। ताकि युद्ध में इंसानी जान कम से कम जाए। आपने अब तक एक से एक आधुनिक हथियार देखे होंगे। लेकिन ये रोबोट डॉग आपकी कल्पना से भी ज्यादा खतरनाक है।

Sushmit Sinha Written By: Sushmit Sinha @sushmitsinha_
Published on: July 22, 2022 14:59 IST
Robot Dog- India TV Hindi News
Image Source : YOUTUBE Robot Dog

Highlights

  • ये रोबोट डॉग अपने दुश्मन को गोलियों से छलनी कर देता है
  • इन खूबियों से लैस है 21वीं सदी का यह आधुनिक हथियार
  • आपने इतना खतरनाक हथियार नहीं देखा होगा

Robot Dog: इन दिनों पूरी दुनिया में आधुनिक हथियारों की होड़ मची हुई है। खास तौर से ऐसे हथियारों की जो मानवरहित हों। ताकि युद्ध में इंसानी जान कम से कम जाए। आपने अब तक एक से एक आधुनिक हथियार देखे होंगे। लेकिन ये रोबोट डॉग आपकी कल्पना से भी ज्यादा खतरनाक है। सोशल मीडिया पर वायरल एक वीडियो में देखा जा सकता है कि कैसे एक रोबोट डॉग के पीठ पर रूसी सबमशीन लगा दी गई है और वह इससे अंधाधुंध फायरिंग कर रहा है। यह वीडियो होवरबाइक कंपनी के एक रूसी संस्थापक ने शेयर की है

रूसी संस्थापक अलेक्जेंडर अटामानोव ने यह वीडियो शेयर किया है, जिसमें एक यूनिट्री युशु डॉगबॉट को देखा जा सकता है, जिसकी कीमत लगभग 2.39 लाख रुपए है। यह रोबोडॉग बर्फ से ढकी पहाड़ियों पर अपने टार्गेट को बड़ी आसानी से निशाना बना ले रहा है। जबकि ऐसी जगहों पर सैन्य ऑपरेशन करने में काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है।

सबमशीन गन का मॉडल एके-47 जैसा

इस रोबोट डॉग के पीठ पर एक रूसी सबमशीन गन लगी है, जिसे PP-19 विट्याज़ कहा जाता है। इसका डिजाइन एके-47 से मिलता जुलता है। इस रोबोट डॉग के किनारों पर गौर करेंगे तो उस पर वेल्फ्रो की पट्टियां लगी हुई हैं। वहीं उसकी बाईं तरफ एक रूसी झंडा देखा जा सकता है। इस रोबोट डॉग की सभी क्षमताओं के बारे में फिलहाल पूरी जानकारी नहीं आई है। लेकिन जिस तरह से इसे लोगों के सामने पेश किया जा रहा है, उसे देखकर लगता है कि जल्द ही इसे लॉन्च किया जा सकता है और शायद कई देशों की सेनाएं भी इस तरह के हथियार में अपनी दिलचस्पी दिखाएं। हालांकि, यह रोबोट डॉग सिर्फ हथियार के तौर पर ही नहीं काम आ सकता है, बल्कि इससे और भी काम लिए जा सकते हैं। यही दिखाने के लिए अटामानोव ने अपने सोशलमीडिया पर इस डॉग की एक और फोटो शेयर की है जिसमें यह रोबोट डॉग अपनी पीठ पर कॉफी का एक कप लिए हुए है और अटामानोव उसके साथ आराम से बैठे हुए हैं।

कई खूबियां तो कुछ खामियां भी हैं

हर चीज में कुछ खूबियां तो कुछ खामियां होती हैं। इस रोबोट डॉग में भी कई खूबियों के साथ एक खामी है। वह यह है कि हर फायर के साथ यह रोबोट डॉग अपना बैलेंस खो देता है। यानी दूसरी बार फायर करने से पहले इसे फिर से अपना बैलेंस बनाना पड़ता है। हालांकि, अभी ये प्रोजेक्ट पूरी तरह से लॉन्च नहीं हुआ है तो पूरी संभावना है कि इसमें अभी कुछ सुधार किए जाएं और इसे लॉन्चिंग के समय एक सटीक रोबोट डॉग के रूप में पेश किया जाए।

अमेरिका के पास पहले से ऐसा हथियार

जब आधुनिक हथियारों की बात आती है तो सबसे पहले अमेरिका का नाम ही दिमाग में आता है। हथियारों के मामले में अमेरिका हमेशा आगे रहने की कोशिश करता है। अब अगर रोबोट डॉग की बात करें तो अमेरिका के पास ऐसा रोबोट डॉग पहले से ही मौजूद है। अक्टूबर 2021 में अमेरिका ने अपने यूएस आर्मी ट्रेड शो में एक 6.5 मिमी क्रिडमूर स्नाइपर राइफल को रोबोट डॉग के साथ पेश किया था। अमेरिका का यह रोबोट डॉग 3,940 फीट दूर तक निशाना लगाने में सक्षम बताया जाता है।