Nepal News: नेपाली सीमेंट ने भारत में मारी एंट्री, पहली दफा हुआ आयात

Nepal News: नेपाल के नवलपरासी जिले में पल्पा सीमेंट इंडस्ट्रीज ने शुक्रवार को इतिहास में पहली बार सुनौली सीमा से सीमेंट की पहली खेप भारत भेजी है।

Akash Mishra Edited By: Akash Mishra
Published on: July 09, 2022 19:35 IST
Representational Image- India TV Hindi News
Image Source : PTI Representational Image

Nepal News: नेपाल ने पहली बार भारत को सीमेंट का निर्यात शुरू किया है। सीमेंट की 3,000 बोरियों की पहली खेप उत्तर प्रदेश की सीमा से लगे एक चेक पोस्ट के जरिए भारत में आ चुकी है। नेपाल के नवलपरासी जिले में पल्पा सीमेंट इंडस्ट्रीज ने शुक्रवार को इतिहास में पहली बार सुनौली सीमा से सीमेंट की पहली खेप भारत भेजी है। सरकार द्वारा बजट में सीमेंट निर्यात के लिए आठ प्रतिशत सब्सिडी दिए जाने के बाद नेपाल के उद्योगपति भारत को सीमेंट निर्यात करने को लेकर उत्साहित हैं। पल्पा इंडस्ट्रीज के पब्लिक रिलेशन प्रबंधक, जीवन निरौला के मुताबिक नवलपरासी प्लांट में प्रतिदिन 1,800 टन क्लिंकर और 3,000 टन सीमेंट का उत्पादन करने की क्षमता है।

150 अरब नेपाली मुद्रा के सीमेंट एक्सपोर्ट की क्षमता 

 पल्पा सीमेंट इंडस्ट्रीज लिमिटेड के बैनर तले तानसेन ब्रांड सीमेंट का उत्पादन करने वाली पल्पा ने गुणवत्ता मानकों की जांच के साथ सभी सरकारी प्रक्रियाओं को पूरा किया है।  इसके बाद ही उसने भारत को सीमेंट का निर्यात शुरू किया। इससे नेपाल में काम कर रही पांच अन्य सीमेंट कंपनियों को अपने उत्पादों को भारत में निर्यात करने के लिए प्रोत्साहित किया है। नेपाल सीमेंट प्रोड्यूसर्स एसोसिएशन के अनुसार, इस हिमालयी राष्ट्र में 150 अरब नेपाली मुद्रा के सीमेंट निर्यात की क्षमता है। 

बाजार की कमी के कारण नेपाल के सीमेंट उद्योग समस्याओं का सामना कर रहे

नेपाल के सीमेंट उद्योग अपनी विशाल क्षमता के बावजूद बाजार की कमी के कारण समस्याओं का सामना कर रहे हैं। पल्पा इंडस्ट्रीज लिमिटेड के कार्यकारी निदेशक शेखर अग्रवाल ने कहा कि भारत को सीमेंट के निर्यात से नेपाली उत्पाद अब अंतरराष्ट्रीय ब्रांडों के साथ कम्पटीशन कर सकते हैं। नवलपरासी चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री के अध्यक्ष केशव भंडारी ने कहा कि सरकारी अनुदान के साथ भारत को सीमेंट का एक्सपोर्ट देश की अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने में मदद करेगा।

Latest World News

navratri-2022