1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. विदेश
  4. यूरोप
  5. भारत के दबाव के आगे झुका UK, Covishield को दी मान्यता

भारत के दबाव के आगे झुका UK, Covishield को दी मान्यता

भारत सरकार के दबाव के आगे UK को झुकना पड़ा है और UK ने Covishield वैक्सीन लगवा चुके लोगों को अपने यहां बिना क्वारंटीन दाखिल होने की अनुमति दे दी है।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: September 22, 2021 17:39 IST
भारत सरकार के दबाव के आगे UK को झुकना पड़ा है और UK ने Covishield वैक्सीन लगवा चुके लोगों को अपने यह- India TV Hindi
Image Source : AP भारत सरकार के दबाव के आगे UK को झुकना पड़ा है और UK ने Covishield वैक्सीन लगवा चुके लोगों को अपने यहां बिना क्वारंटीन दाखिल होने की अनुमति दे दी है।

नई दिल्ली। भारत से UK जाने वाले लोगों के लिए राहत भरी खबर है, भारत सरकार के दबाव के आगे UK को झुकना पड़ा है और UK ने Covishield वैक्सीन लगवा चुके लोगों को अपने यहां बिना क्वारंटीन दाखिल होने की अनुमति दे दी है। पहले UK में यह अनुमति नहीं थी लेकिन भारत सरकार ने UK की सरकार पर दबाव बनाया था और कहा था कि Covishield वैक्सीन को लेकर UK का रवैया पक्षपातभरा है। 

UK की सरकार ने अब अपने यहां नियम बदले हैं और Covishield को भी उन वैक्सीन की श्रेणी में शामिल कर दिया है जिन वैक्सीन को लगवाने वाले लोगों को UK में यात्रा की अनुमति है। नए नियम 4 अक्तूबर से लागू होने जा रहे हैं और वैक्सीन की दूसरी डोज को लगे 14 दिन पूरे होने पर ही यात्रा की अनुमति होगी। 

भारत ने दी थी ब्रिटेन को चेतावनी

आपको बता दें कि यात्रियों के संबंध में ब्रिटेन की कोविड-19 टीका नीति के संबंध में भारत की चिंताओं का समाधान नहीं किए जाने की स्थिति में विदेश सचिव हर्षवर्द्धन श्रृंगला ने मंगलवार को कहा था कि ऐसी स्थिति में "उसी तरह के कदम उठाए जा सकते हैं।" श्रृंगला ने ब्रिटेन की इस नीति को भेदभावपूर्ण बताया। विदेश मंत्री एस.जयशंकर ने कोविशील्ड टीका लगवाने वालों के संबंध में देश की चिंताओं से ब्रिटेन की नवनियुक्त विदेश मंत्री एलिजाबेथ ट्रस को न्यूयॉर्क में हुई बैठक में अवगत कराया।

दरअसल ब्रिटेन के नए यात्रा नियम के अनुसार, सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया द्वारा बनाए गए कोविशील्ड टीके की दोनों खुराक लेने वाले लोगों के टीकाकरण को मान्यता नहीं दी गई थी और ब्रिटेन पहुंचने पर उन्हें 10 दिनों के पृथक-वास में रहने बात कही गई थी। विदेश सचिव हर्षवर्द्धन श्रृंगला ने मंगलवार को कहा, "यहां मुख्य मुद्दा यह है कि, एक टीका है कोविशील्ड, जो ब्रिटिश कंपनी का लाइसेंसी उत्पाद है, जिसका उत्पादन भारत में होता है और ब्रिटिश सरकार के अनुरोध पर हमने ब्रिटेन को इसकी 50 लाख खुराक भेजी है।"

Click Mania
bigg boss 15