1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. एजुकेशन
  4. गुड न्यूज! दिल्ली यूनिवर्सिटी खोलेगी दो नए सेंटर्स, कॉलेज और रिसर्च सेंटर खोलने का है प्लान

गुड न्यूज! दिल्ली यूनिवर्सिटी खोलेगी दो नए सेंटर्स, कॉलेज और रिसर्च सेंटर खोलने का है प्लान

पिछले मंगलवार को डीयू के एक्टिंग वीसी पीसी जोशी, कॉलेजों के डीन बलराम पाणी और अन्य अधिकारियों ने नजफगढ़ के नजदीक रोशनपुरा गए थे, जहां डीयू ने ग्रामीण क्षेत्रों के छात्रों के लिए एक कॉलेज खोलने की योजना बनाई है। यहां साल 1989 में डीयू को 10 एकड़ जमीन आवंटित की गई थी। 

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: April 12, 2021 9:07 IST
Delhi University College research centre south west northwest campuses गुड न्यूज! दिल्ली यूनिवर्सिटी- India TV Hindi
Image Source : FILE गुड न्यूज! दिल्ली यूनिवर्सिटी खोलेगी दो नए सेंटर्स, कॉलेज और रिसर्च सेंटर खोलने का है प्लान

नई दिल्ली. दिल्ली यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट्स के लिए अच्छी खबर है। दाखिले के समय सीटों की मारामारी और हाई कटऑफ को लेकर सुर्खियों में रहने वाली दिल्ली यूनिवर्सिटी के  पास अब दो नए सेंटर होंगे। अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक, आने वाले जुलाई के महीने में दिल्ली यूनिवर्सिटी के पास रोशनपुरा और शाहबाद डेरी इलाके में दो नए सेंटर होंगे। खबर में ये दावा कि गया है कि दिल्ली विश्वविद्यालय का लक्ष्य अपने दक्षिण-पश्चिम और उत्तर-पश्चिम परिसरों का विस्तार और विकास करना । इतना ही नहीं, नए सेंटरों में दिल्ली यूनिवर्सिटी का उद्देश्य अभी एक कॉलेज और एक अनुसंधान केंद्र शुरू करना है।

पिछले मंगलवार को डीयू के एक्टिंग वीसी पीसी जोशी, कॉलेजों के डीन बलराम पाणी और अन्य अधिकारियों ने नजफगढ़ के नजदीक रोशनपुरा गए थे, जहां डीयू ने ग्रामीण क्षेत्रों के छात्रों के लिए एक कॉलेज खोलने की योजना बनाई है। यहां साल 1989 में डीयू को 10 एकड़ जमीन आवंटित की गई थी। पाणी ने बताया कि जल्द ही वहां एक कॉलेज बनाने की योजना है। साल 2019 में, केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय ने कहा था कि डीयू 2023 तक कॉलेज का निर्माण करेगा।

वीसी शाहबाद डेरी भी गए थे, जहां  plant genetic research centre बनने की उम्मीद है। यहां डीयू को डीडीए द्वारा 40 एकड़ भूमि दी गई है। पीसी जोशी ने कहा कि यूनिवर्सिटी गंभीरता से नार्थ वेस्ट कैंपस डवलप करने का विचार कर रही है, जो प्लांट साइंस जैसे कृषि, बागवानी, वानिकी और पादप आनुवांशिकी शिक्षण और अनुसंधान के लिए समर्पित हो। नए पाठ्यक्रमों के साथ वहां विज्ञान-आधारित परिसर स्थापित करने की भी योजना है

हालांकि, जोशी ने स्पष्ट किया कि विश्वविद्यालय का एक केंद्र अभी वहां बनाया जाएगा। उन्होंने कहा कि ऐसे केंद्र सर्टिफिकेट सहित विभिन्न सेवाओं के लिए नॉर्थ कैंपस जाने वाले छात्रों के लिए यात्रा में कटौती करने में मदद करने के लिए आवश्यक हैं। हम अपने नए परिसरों में शहर भर में इन सुविधाओं को शुरू करना चाहते हैं। जोशी ने कहा कि नए परिसरों एडमिश्न क्षमता बढ़ाने और शिक्षण में विविधता लाने में मदद करेंगे। हमारे पास कृषि या वानिकी में पाठ्यक्रम नहीं हैं। हम हर क्षेत्र के लिए अत्याधुनिक सुविधाएं और अनुसंधान केंद्र विकसित करना चाहते हैं।

Click Mania