Thursday, July 11, 2024
Advertisement

नीट पेपर लीक मामला: पटना से एक अभ्यर्थी समेत दो और लोग अरेस्ट; अब तक कुल 11 हो चुके गिरफ्तार

नीट पेपर लीक का मामला इन दिनों काफी गरमाया हुआ है। मामले की जांच में एजेंसियां लगी हुई हैं। इस बीच CBI ने बिहार के पटना से एक उम्मीदवार समेत दो और लोगों को अरेस्ट किया है।

Edited By: Akash Mishra @Akash25100607
Updated on: July 10, 2024 7:04 IST
नीट पेपर लीक मामले में एक अभ्यर्थी समेत दो और लोग अरेस्ट - India TV Hindi
Image Source : FILE नीट पेपर लीक मामले में एक अभ्यर्थी समेत दो और लोग अरेस्ट

नीट पेपर लीक मामले में एजेंसियां जांच में लगी हुई हैं। इस बीच केंद्रीय जांच ब्यूरो यानी CBI ने पटना से एक अभ्यर्थी समेत दो और लोगों को गिरफ्तार किया है। अधिकारियों से मिली जानकारी के अनुसार अब तक गिरफ्तार किए गए लोगों की कुल संख्या 11 हो गई है। अधिकारियों ने बताया कि नीट-यूजी अभ्यर्थी सन्नी जो नालंदा का रहने वाला है और दूसरे अभ्यर्थी रंजीत कुमार के पिता जो गया का रहने वाला है, को गिरफ्तार किया गया है।

बिहार नीट-यूजी पेपर लीक मामले में आठ लोग गिरफ्तार

अधिकारियों ने बताया कि CBI ने अब तक बिहार नीट-यूजी पेपर लीक मामले में आठ लोगों को गिरफ्तार किया है। वहीं, गुजरात के लातूर और गोधरा में कथित हेराफेरी के सिलसिले में एक-एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है। जबकि सामान्य साजिश के सिलसिले में देहरादून से एक शख्स को अरेस्ट किया है।

महाराष्ट्र के लातूर से  भी कल हुई एक गिरफ्तार 

बीते कल यानी मंगलवार को केंद्रीय जांच ब्यूरो यानी CBI ने महाराष्ट्र से भी एक शख्स को अरेस्ट किया है। CBI द्वारा व्यक्ति को महाराष्ट्र के लातूर से गिरफ्तार किया गया। जानकारी के अनुसार दावा किया जा रहा है कि शख्स छात्रों से पैसे लेकर उनके अंक बढ़वा देता था। इस मामले में बिहार, गुजरात और झारखंड से कई गिरफ्तारियां की गई हैं।

इससे पहले एजेंसी ने हजारीबाग स्थित ओएसिस स्कूल के प्रिंसिपल और वाइस प्रिंसिपल को गिरफ्तार किया था। इसके अलावा दो लोगों को भी गिरफ्तार किया गया था, जिन्होंने कथित तौर पर नीट उम्मीदवारों को सुरक्षित परिसर मुहैया कराया था, जहां बिहार पुलिस ने जले हुए प्रश्नपत्र बरामद किए थे।

मामले पर सप्रीम कोर्ट में अगली सुनवाई इस तारीख को 

बता दें कि 8 जुलाई को सुप्रीम कोर्ट में नीट मामले को 30 से ज्यादा याचिकाओं पर सुनवाई हुई थी। इसी मामले पर सुप्रीम कोर्ट ने अगली सुनवाई की तारीख गुरुवार (11 जुलाई) तय की। साथ ही उच्चतम न्यायालय ने कहा है कि फर्जीवाड़ा करने वाले छात्रों की पहचान की जाए। NTA से सवाल किया गया कि पहली बार पेपर कब लीक हुआ था। गुरुवार को होने वाली सुनवाई में  NTA को इस सवाल का जवाब देना होगा। इसके साथ ही अदालत ने सरकार से कहा है कि एक्सपर्ट की एक टीम बनाई जानी चाहिए। 

इनपुट- पीटीआई

ये भी पढ़ें- आखिर कितनी पढ़ी लिखी हैं अंबानी खानदान की बड़ी बहू श्लोका मेहता?

BSF में एक ASI और कांस्टेबल को कितनी मिलती है सैलरी, निकली भर्ती में कैसे होगा सिलेक्शन
 

 

 

Latest Education News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। News in Hindi के लिए क्लिक करें एजुकेशन सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement