1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. हेल्थ
  4. रहना चाहते हैं चुस्त-दुरुस्त और तंदुरुस्त तो आज से रोजाना करें रेनबो डाइट का सेवन

रहना चाहते हैं चुस्त-दुरुस्त और तंदुरुस्त तो आज से रोजाना करें रेनबो डाइट का सेवन

रेनबो डाइट में विभिन्न प्रकार और रंगों के फलों और सब्जियों को शामिल किया जाता है।

India TV Health Desk Written by: India TV Health Desk
Published on: March 14, 2022 11:48 IST
rainbow diet- India TV Hindi
Image Source : FREEPIK rainbow diet

Highlights

  • फलों और सब्जियों का जो रंग होता है, वो उनमें मौजूद पोषक तत्वों और एंटीऑक्सीडेंट्स के कारण होता है
  • इस हिसाब से जिस फल या सब्जी का रंग जितना ज्यादा गहरा होगा, वो उतना ही ज्यादा पौष्टिक होगी

स्वस्थ जीवनशैली स्वस्थ खानपान की आदतों पर निर्भर है। हम स्वस्थ  और फिट रहने के लिए तरह-तरह की चीजों को अपनी डाइट में शामिल करते हैं। तरह-तरह के फल और सब्जियों से हमें जरूरी विटामिन्स और मिनरल्स हमारे शरीर की सेहत को तंदुरुस्त बनाते हैं। 

इसी तरह अपने आहार में तरह-तरह की डाइट को शामिल करते हैं। कीटो डाइट, पैलियो डाइट से लेकर इंटरमिटेंट फास्टिंग जैसी कई डाइट हैं, लेकिन क्या आपने कभी रेनबो डाइट के बारे में सुना है। जी हां रेनबो डाइट आपकी लाइफस्टाइल से जुड़ी बीमारियों के खतरे को कम कर सकती है। आइए जानते हैं क्या है रेनबो डाइट और इसके फायदे-

क्या है रेनबो डाइट-

रेनबो का अर्थ होता है इंद्रधनुष। इंद्रधनुष में 7 रंग मौजूद होते हैं। उसी तरह रेनबो डाइट में भी विभिन्न प्रकार और रंगों के फलों और सब्जियों को शामिल किया जाता है। फलों और सब्जियों का जो रंग होता है, वो उनमें मौजूद पोषक तत्वों और एंटीऑक्सीडेंट्स के कारण होता है। इस हिसाब से जिस फल या सब्जी का रंग जितना ज्यादा गहरा होगा, वो उतना ही ज्यादा पौष्टिक होगी। तो कुल मिलाकर रेनबो डाइट इसलिए खास है क्योंकि ये पोषक तत्वों (न्यूट्रिएंट्स) से भरपूर होती हैं। ये न्यूट्रिएंट्स आपके शरीर को ऊर्जा देते हैं, शरीर की इम्यूनिटी बढ़ाते हैं, शरीर को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं और कई बीमारियों से बचाते हैं।

1. लाल और गुलाबी फूड-
अनार, रास्पबेरी, स्ट्राबेरी, तरबूज, सेब, टमाटर, लाल शिमला मिर्च, चुकंदर जैसे लाल रंग के फल लायकोपीन से भरपूर होते हैं। लाइकोपीन सबसे मजबूत एंटीऑक्सीडेंट में से एक है। अपनी डाइट में लाल या गुलाबी रंग के फलों और सब्जियों को शामिल करके आप कैंसर और अल्जाइमर जैसी बीमारियों से भी बच सकते हैं।

2.ऑरेंज रंग-
पीच, संतरे, कीनू, कद्दू और गाजर इस रंग की श्रेणी में आते हैं। इसमें फाइटोकेमिकल्स कैरोटीनॉयड होता है। कैरोटेनॉयड्स स्वस्थ आंखों को बनाए रखने में मदद करती हैं, साथ ही कैंसर और हृदय रोगों के जोखिम को कम करने में मदद करती हैं।

3. पीले फूड-
आम, नींबू, पपीता, अनानास, केसर, खरबूजा, भुट्टा, खुबानी इत्यादि पीले रंग के होते हैं। पीले फूड में ल्युटीन और जेक्सनतिन नामक पिग्मेंट होते हैं जो उम्र से जुड़ी बीमारियों के प्रति सबसे असरदार होते हैं।

4. हरा रंग-
हरी सब्जियां क्लोरोफिल, फोलेट और आयरन से भरपूर होती हैं, जो उन्हें किसी ऐसे व्यक्ति के लिए परफेक्ट बनाती हैं, जिन्हें ताकत की जरूरत होती है। हरी सब्जियों में मौजूद क्लोरोफिल फ्री रेडिकल्स को भी निष्क्रिय करने में मदद करते हैं और टॉक्सिन्स को बाहर निकालते हैं। हरी पत्तेदार सब्जियों में उच्च मात्रा में आयरन और फोलिक एसिड के साथ-साथ विटामिन-सी भी होता है, जो एक मजबूत एंटीऑक्सीडेंट और एंटी-एजिंग विटामिन है।

5. नीला और बैंगनी-
नीले और बैंगनी रंग के फल थोड़े हैवी माने जाते हैं। इस रंग के फल और सब्जी में ब्लूबेरी, ब्लैकबेरी, जामुन, पर्पल बैंगन शामिल हैं। इनमें एंथोसायनिन होते हैं जो सूजन को कम करते हैं। ये और अन्य पोषक तत्व जैसे फ्लेवोनोइड्स, एलेजिक एसिड, क्वेरसेटिन, और ल्यूटिन नीले और बैंगनी खाद्य पदार्थों में पाए जाते हैं, जो रेटिना के स्वास्थ्य का समर्थन करते हैं, एलडीएल कोलेस्ट्रॉल को कम करते हैं।

6. सफेद रंग -
सफेद रंग की सब्जियां और फल जैसे- आलू, फूल गोभी, लहसुन, प्याज, केला, मशरूम आदि सफेद फूड क्वरसेटिन नामक एंटीऑक्सीडेंट का भंडार होते हैं। ये हार्ट की बीमारियों, कोलेस्ट्रॉल की समस्या, हाई ब्लड प्रेशर आदि को दूर रखते हैं।

Disclaimer: यह जानकारी  सामान्य ज्ञान के आधार पर लिखी गई है  इंडिया टीवी इनके सफल होने या इसकी सत्यता की पुष्टि नहीं करता है। इनके इस्तेमाल से पहले चिकित्सक का परामर्श जरूर लें।