1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. हेल्थ
  4. Tips to Control Uric Acid: बढ़े हुए यूरिक एसिड को कंट्रोल करने में मदद करेगा अश्वगंधा, यूं करें सेवन

Tips to Control Uric Acid: बढ़े हुए यूरिक एसिड को कंट्रोल करने में मदद करेगा अश्वगंधा, यूं करें सेवन

Tips to Control Uric Acid: आइए जानते हैं बढ़े हुए यूरिक एसिड को कंट्रोल करने में अश्वगंधा कैसे मददगार है।

Sushma Kumari Edited by: Sushma Kumari @ISushmaPandey
Updated on: May 12, 2022 14:23 IST
Uric Acid- India TV Hindi
Image Source : FREEPIK Uric Acid

Highlights

  • शरीर में किसी भी चीज की अधिकता सेहत के लिए नुकसानदेह साबित हो सकती है।
  • इन्हीं में से एक यूरिक एसिड का बढ़ना।

Tips to Control Uric Acid:  शरीर में किसी भी चीज की अधिकता सेहत के लिए नुकसानदेह साबित हो सकती है। इन्हीं में से एक यूरिक एसिड है। अगर शरीर में यूरिक एसिड का लेवल बढ़ जाए तो इससे गठिया और किडनी स्टोन का खतरा ज्यादा होता है। इसके साथ ही शरीर में कई तरह की समस्याएं होने लगती हैं। जैसे, कि घुटनों, पैरों की उंगलियों और एड़ियों में दर्द रहना या फिर सूजन होना।

ऐसे में आप दवाइयों के अलावा कुछ घरेलू नुस्खे अपनाकर भी बढ़े हुए यूरिक एसिड को नियंत्रित कर सकते हैं। इन घरेलू नुस्खों में से एक आयुर्वेदिक जड़ी बूटी अश्वगंधा भी है। आइए जानते हैं बढ़े हुए यूरिक एसिड को कंट्रोल करने में अश्वगंधा कैसे मददगार है। साथ ही जानिए इसके सेवन का सही तरीका। 

Weight Loss: बढ़ते वजन से हैं परेशान तो डाइट में यूं शामिल करें लहसुन और शहद, दोनों का कॉम्बिनेशन करेगा वेट लॉस

यूरिक एसिड को कंट्रोल करने में कारगर अश्वगंधा

अश्वगंधा एक आयुर्वेदिक जड़ी बूटी दवा है, जो कई बीमारियों को दूर करने में कारगर है। इन्हीं में से एक बीमारी यूरिक एसिड भी है। अगर आप बढ़े हुए यूरिक एसिड से परेशान हैं तो इसमें अश्वगंधा आपकी मदद कर सकता है। ये जड़ी बूटी यूरिक एसिड को नियंत्रित करने में असरदार है। इसके साथ ही इसके सेवन से अर्थराइटिस की वजह से होने वाली सूजन और जोड़ों के दर्द में भी राहत मिलती है। इसलिए यूरिक एसिड के मरीजों को रोजाना अश्वगंधा का इस्तेमाल करना लाभकारी हो सकता है। 

 Ashwagandha

Image Source : FREEPIK
 Ashwagandha

यूरिक एसिड के मरीज यूं करें अश्वगंधा का सेवन 

  • सबसे पहले एक चम्मच अश्वगंधा पाउडर को एक चम्मच शहद में मिलाएं। 
  • उसके बाद इसे एक गिलास गुनगुने दूध के साथ रोजाना रात में सोने से पहले पीएं। 
  • इससे बढ़े हुए यूरिक एसिड की समस्या नियंत्रित हो सकती है।
  • बस इस बात का ध्यान रखें कि गर्मी के मौसम में अश्वगंधा पाउडर की मात्रा कम इस्तेमाल करें। 

 मधुमेह के रोगियों के लिए रामबाण है मेथी-अंजीर सहित ये आयुर्वेदिक चीजें, कंट्रोल होगा शुगर लेवल 

अश्वगंधा सेवन करने के अन्य फायदे

वजन कम करने कें कारगर

आजकल अधिकतर लोग अपने बढ़े हुए वजन से परेशान रहते हैं। अगर आप भी उनमें से हैं तो इसमें अश्वगंधा आपके लिए मददगार साबित हो सकती है। जी हां, अश्वगंधा वजन कम करने में भी असरदार है। इसके लिए एक गिलास दूध में एक चम्मच अश्वगंधा पाउडर मिला लें। आप इसमें एक चम्मच शहद भी मिला सकते हैं। इससे आपको फायदा मिलेगा। हालांकि शुगर पेशेंट शहद का इस्तेमाल करने से बचें।

Ashwagandha

Image Source : FREEPIK
Ashwagandha

कमजोरी दूर करने में असरदार

बिजी लाइफस्टाइल की वजह से अक्सर लोगों को कमजोरी की शिकायत होती है। अगर आपके साथ भी कुछ ऐसा है तो अश्वगंधा का सेवन करना आपके लिए लाभकारी हो सकता है। इसके लिए रोजाना 2 ग्राम अश्वगंधा पाउडर के साथ 125 ग्राम त्रिकाटू पाउडर को एक गिलास दूध में मिलाकर पी लें। इससे आपको राहत मिलेगी। 

डायबिटीज के मरीजों के लिए कारगर है कच्चा आम, इम्‍यूनिटी भी होती है बूस्ट, जानिए अन्य फायदे

बीपी कंट्रोल करने में मददगार

अश्वगंधा काफी हद तक हाई बीपी की समस्या को कंट्रोल करने मददगार हो सकता है। इसके लिए 2 ग्राम अश्वगंधा पाउडर के साथ 125 ग्राम मोटी पिसती को 1 गिलास दूध के साथ मिलाकर सेवन करें। इससे आपको फायदा होगा। 

Disclaimer: लेख में उल्लिखित सुझाव केवल सामान्य जानकारी के उद्देश्य से हैं और इसे पेशेवर चिकित्सा सलाह के रूप में नहीं लिया जाना चाहिए। कोई भी फिटनेस व्यवस्था या चिकित्सकीय सलाह शुरू करने से पहले कृपया डॉक्टर से सलाह लें।

erussia-ukraine-news