Vitamin D: कहीं आप भी तो नहीं ले रहे जरूरत से ज्यादा Vitamin D? ये लक्षण ना करें इग्नोर

Symptoms Of Taking Too Much Vitamin D: विटामिन-डी का हमारे शरीर को सुचारू रूप से चलाने में बड़ा योगदान है। इन दिनों विटामिन डी की कमी एक आम बात है। लेकिन आपको बता दें कि शरीर में इसकी अधिकता भी काफी नुकसानदायक है।

Ritu Tripathi Written By: Ritu Tripathi @ritu_vishwanath
Updated on: October 03, 2022 13:35 IST
Vitamin D- India TV Hindi
Image Source : INDIA TV Symptoms Of Taking Too Much Vitamin D

Symptoms Of Taking Too Much Vitamin D: मानव शरीर को स्वस्थ रखने में किसी एक चीज का नहीं बल्कि कई तत्वों का हाथ होता है। इनमें से एक भी कमी या अधिकता इंसान को बीमार कर सकती है। इन दिनों पूरे देश में बड़ी संख्या में लोगों को विटामिन डी की कमी हो रही है। विटामिन-डी आपके संपूर्ण स्वास्थ्य को बनाए रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। विटामिन-डी सिर्फ शरीर में कैल्शियम को बेहतर तरीके से अब्जॉर्ब करने में मदद ही नहीं करता है बल्कि यह मसल्स सेल्स की के लिए भी जरूरी है। इसलिए विटामिन डी की कमी होने के बाद कुछ लोग अलर्ट होकर कुछ ज्यादा ही विटामिन डी ले लेते हैं। लेकिन आपको बता दें कि शरीर में इसकी अधिकता भी काफी नुकसानदायक है। 

लगातार ना लें सप्लीमेंट्स

दरअसल, विटामिन डी की कमी से होने वाली परेशानियों से बचने के लिए लोग सूरज की धूप तो लेते ही हैं। साथ ही इसकी पूर्ति के लिए कई तरह के घरेलू उपचार और सप्लीमेंट्स भी लेते हैं। तो इस वजह से उनके शरीर में विटामिन डी की मात्रा जरूरत से ज्यादा हो जाती है। लेकिन शरीर इसकी अधिकता होने पर खुद ही कुछ संकेत देता है। तो आइए आपको बताते हैं कि किन लक्षणों को देखकर आपको समझ जाना चाहिए कि अब विटामिन डी सप्लीमेंट्स नहीं खाना है। जानिए लक्षण...

1. पाचनतंत्र में गड़बड़ी 

जब कोई इंसान लगातार विटामिन-डी का सेवन करता है तो उसका पाचनतंत्र यानी डाइजेस्टिव सिस्टम प्रभावित होता है। शरीर में विटामिन-डी का स्तर बढ़ने से कैल्शियम का स्तर बढ़ सकता है। जिसके कारण कब्ज या खाना ना पचने जैसी समस्याएं होती हैं। जिसके कारण पेट में दर्द होना, भूख न लगना, जी मचलाना और कब्ज जैसी समस्या सामने आती है। 

Vitamin D

Image Source : FREEPIK
जरूरत से ज्यादा Vitamin D के लक्षण

2. दिमागी उलझन महसूस होना

जब आपके शरीर में विटामिन-डी की अधिकता होती है तो आप खुद को सहज नहीं महसूस करते हैं। आपको पूरे समय एक अजीब सी दिमागी उलझन महसूस हो सकती है या फिर आप पूरे समय थकान अनुभव कर सकते हैं। ऐसे में आपका किसी भी काम में मन नहीं लगता है।

Yoga Tips: इन आयुर्वेद उपायों से बेटियां बनेगी निरोग, स्वामी रामदेव से जानें किस बीमारी में क्या करें और खाएं

3. भ्रम होना

विटामिन-डी की अधिकता का असर दिमाग पर काफी ज्यादा होता है। ऐसे में लोगों को भ्रम स्थिती का सामना करना पड़ सकता है। ये आवाज के तौर पर या दृष्य के तौर पर हो सकता है। साथ ही विटामिन डी की अधिकता हमारी निर्णय लेने की क्षमता में भी कमी लाती है, इस स्थिति में हमेशा ही कन्फ्यूजन बना रहता है।

Vitamin D Deficiency: सिर्फ धूप ही नहीं इन चीजों से भी मिलता है विटामिन डी, जरूर करें डाइट में शामिल

4. सामान्य से ज्यादा प्यास लगना

विटामिन डी की अधिकता से शरीर में कैल्शियम की अधिकता के चांस बढ़ जाते हैं। इसलिए यह डिहाइड्रेशन की वजह भी बनती है। इसलिए व्यक्ति को खूब प्यास महसूस होती है। 

Foods For Fitness: मॉडल्स की तरह शरीर को बनाना चाहते हैं सुडौल, तो आज से डाइट में शामिल करें ये 5 फूड्स

Disclaimer: यह जानकारी आयुर्वेदिक नुस्खों के आधार पर लिखी गई है। इंडिया टीवी इनके सफल होने या इसकी सत्यता की पुष्टि नहीं करता है। इनके इस्तेमाल से पहले चिकित्सक का परामर्श जरूर लें। 

Latest Health News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। News in Hindi के लिए क्लिक करें हेल्थ सेक्‍शन