1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. डोमिनिका की जेल से सामने आई मेहुल चोकसी की पहली तस्वीर, एक आंख लाल, हाथ पर चोट का निशान

डोमिनिका की जेल से सामने आई मेहुल चोकसी की पहली तस्वीर, एक आंख लाल, हाथ पर चोट का निशान

चोकसी के वकील विजय अग्रवाल ने पीटीआई-भाषा को बताया, ‘‘विधिक दल ने डोमिनिका की अदालत में मेहुल चोकसी के लिए बंदी प्रत्यक्षीकरण याचिका दायर की है। यह भी बताया गया कि मेहुल चोकसी तक पहुंच नहीं दी जा रही है तथा कानूनी सहायता के संवैधानिक अधिकार से भी वंचित किया जा रहा है।’’

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: May 30, 2021 9:47 IST
Mehul Chowksi Photo from Dominica jail red eye injury on hand डोमिनिका की जेल से सामने आई मेहुल चोकस- India TV Hindi
Image Source : ANI डोमिनिका की जेल से सामने आई मेहुल चोकसी की पहली तस्वीर, एक आंख लाल, हाथ पर चोट का निशान

नई दिल्ली. डोमिनिका में गिरफ्तार किए जाने के बाद भगोड़े मेहुल चोकसी की पहली तस्वीर सामने आई है। इस तस्वीर में मेहुल चोकसी जेल की सलाखों के पीछे नजर आ रहा है। मेहुल की एक आंख का रंग लाल है जबकि उसे हाथ में चोट के निशान दिखाई दे रहे हैं। आपको बता दें कि डोमिनिका की एक अदालत ने भगोड़े हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी को अगले आदेश तक कैरिबियाई द्वीपीय देश से कहीं और भेजने पर रोक लगा दी है। 

लोकल मीडिया रिपोर्ट्स में ये दावा किया गया है कि चोकसी को डोमिनिका में ‘‘अवैध रूप से प्रवेश’’ करने पर हिरासत में लिया गया था। चोकसी के वकील विजय अग्रवाल ने पीटीआई-भाषा को बताया, ‘‘विधिक दल ने डोमिनिका की अदालत में मेहुल चोकसी के लिए बंदी प्रत्यक्षीकरण याचिका दायर की है। यह भी बताया गया कि मेहुल चोकसी तक पहुंच नहीं दी जा रही है तथा कानूनी सहायता के संवैधानिक अधिकार से भी वंचित किया जा रहा है।’’

‘एंटीगुआ न्यूज रूम’ की खबर के अनुसार, डोमिनिका के ‘हाई कोर्ट ऑफ जस्टिस’ ने अधिकारियों द्वारा चोकसी को अगले आदेश तक कहीं भी और भेजने पर रोक लगा दी है।बृहस्पतिवार को अग्रवाल ने चोकसी के एंटीगुआ एंड बारबुडा से लापता होने और अवैध प्रवेश के लिए डोमिनिका में पकड़े जाने की घटना पर संदेह जताया था। डोमिनिका में चोकसी के वकील वायने मार्श ने एक रेडियो शो को बताया कि काफी प्रयासों के बाद जब चोकसी से संक्षिप्त मुलाकात हुई तो उसने बताया कि उसे एंटीगुआ में जॉली बंदरगाह में एक जहाज में ‘‘जबर्दस्ती’’ बैठाया गया और डोमिनिका लाया गया। उसने कहा कि भारतीय और डोमिनिका के पुलिसकर्मियों की तरह दिखने वाले लोगों ने यह किया।

मार्श ने कहा कि उन्होंने चोकसी के शरीर पर कुछ निशान देखे। उसकी आंखें भी सूजी हुई थी और उसे जान पर खतरा महसूस हो रहा था। उन्होंने कहा कि चोकसी एंटीगुआ एंड बारबुडा का नागरिक है, भारत का नहीं, अत: उसे वापस भेजा जाना चाहिए। अग्रवाल ने इस सारी घटना पर संदेह जताया है। उन्होंने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि चोकसी को दूसरे देश ले जाने की रणनीति बनायी गयी ताकि उसे भारत भेजा जा सके। मुझे नहीं पता, कौन सी ताकतें काम कर रही हैं।’’

अग्रवाल ने बताया कि एंटीगुआ से ले जाने के बाद चोकसी को कहीं पर रखा गया था और सोमवार को उसे पुलिस थाने ले जाया गया। तब से वह वहीं पर हैं और दुनिया को यह खबर बुधवार को मिली। चोकसी पंजाब नेशनल बैंक में 13,500 करोड़ रुपये के कर्ज धोखाधड़ी मामले में वांछित है। चोकसी को आखिरी बार रविवार को एंटीगुआ एंड बारबुडा में अपनी कार में रात्रि भोजन के लिए जाते हुए देखा गया था। डोमिनिका सरकार ने बृहस्पतिवार को (स्थानीय समयानुसार) चोकसी की देश में मौजूदगी की पुष्टि की थी और बताया था कि उसे ‘अवैध प्रवेश’’ के कारण हिरासत में लिया गया है। 

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment
X