1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. आसमान में टकराते-टकराते बचे इंडिगो के 2 विमान, महज 45 सेकेंड से बची सैकड़ों जिंदगियां

आसमान में टकराते-टकराते बचे इंडिगो के 2 विमान, महज 45 सेकेंड से बची सैकड़ों जिंदगियां

संभावित टक्कर से केवल 45 सेकंड पहले, कोलकाता में वायु यातायात नियंत्रण (ATC) टावर ने एक विमान को दाहिनी ओर मुड़ने और दूसरे विमान से दूर जाने का निर्देश दिया जो बुधवार को उसी ऊंचाई पर आ रहा था।

India TV News Desk India TV News Desk
Published on: November 01, 2018 23:46 IST
Representational pic- India TV
Representational pic

कोलकाता: भारत के हवाईअड्डा प्राधिकरण (एएआई) के अधिकारियों ने गुरुवार को बताया कि भारत और बांग्लादेश के सीमावर्ती हवाई क्षेत्र में बीच हवा में इंडिगो के दो विमान इतने करीब आ गए थे कि वे टकराते टकराते बचे। संभावित टक्कर से केवल 45 सेकंड पहले, कोलकाता में वायु यातायात नियंत्रण (ATC) टावर ने एक विमान को दाहिनी ओर मुड़ने और दूसरे विमान से दूर जाने का निर्देश दिया जो बुधवार को उसी ऊंचाई पर आ रहा था।

कोलकाता हवाई अड्डे के एक वरिष्ठ अधिकारी एएआई के एक अधिकारी ने फोन पर बताया, "कम लागत वाले वाहक इंडिगो से जुड़े दोनों विमान बुधवार की शाम को एक ही ऊंचाई पर आ गए थे और एक दूसरे के लिए खतरा बन गए थे।" उन्होंने बताया, "एक विमान चेन्नई से गुवाहाटी जा रहा था और दूसरा गुवाहाटी से कोलकाता जा रहा था। विमान शाम पांच बजकर दस मिनट पर दूसरे के बेहद करीब आ गए थे।"

उस समय, कोलकाता की उड़ान बांग्लादेश हवाई क्षेत्र में 36,000 फीट की ऊंचाई पर और दूसरा विमान भारतीय हवाई क्षेत्र में 35,000 फीट की ऊंचाई पर था। अधिकारी ने बताया कि बांग्लादेश एटीसी ने कोलकाता की उड़ान से 35,000 फीट तक आने के लिए कहा था और जब विमान ने आदेश का पालन किया तो यह उस विमान के बेहद करीब आ गया था जो 35,000 फीट की ऊंचाई पर उड़ रहा था।

कोलकाता में एक एटीसी अधिकारी ने इसे देखा और तत्काल चेन्नई-गुवाहाटी उड़ान को दाहिनी ओर मोड़ने और उतरने वाले विमान के रास्ते से दूर जाने का आदेश दिया, जिससे आपदा टल गई। इंडिगो प्रवक्ता ने संपर्क करने परबताया, "हमारे पास अब तक ऐसी कोई जानकारी नहीं है।"

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment