1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. जून 2021 में आ सकती है कोरोना की तीसरी Covovax वैक्सीन, SII चीफ अदार पूनावाला ने टीके के परीक्षण के लिए आवेदन किया

जून 2021 में आ सकती है कोरोना की तीसरी Covovax वैक्सीन, SII चीफ अदार पूनावाला ने टीके के परीक्षण के लिए आवेदन किया

सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया (एसआईआई) के मुख्य कार्यकारी अधिकारी आदर पूनावाला ने शनिवार को कहा कि उनकी कंपनी ने कोविड-19 के एक और टीके का परीक्षण शुरू करने के लिए आवेदन किया है तथा संस्थान को जून 2021 तक इसके उत्पादन की उम्मीद है

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: January 30, 2021 17:42 IST
Serum Institute Chief Adar punawalla says hope to launch covovax by june 2021- India TV Hindi
Image Source : INDIA TV Serum Institute Chief Adar punawalla says hope to launch covovax by june 2021

नई दिल्ली/पुणे। भारत में जल्द ही तीसरी कोरोना वैक्सीन को मंजूरी मिल सकती है। सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया (एसआईआई) के मुख्य कार्यकारी अधिकारी आदर पूनावाला ने शनिवार को कहा कि उनकी कंपनी ने कोविड-19 के एक और टीके का परीक्षण शुरू करने के लिए आवेदन किया है तथा संस्थान को जून 2021 तक इसके उत्पादन की उम्मीद है।

SII के चीफ  अदार पूनावाला ने एक ट्वीट में कहा, “नोवावैक्स के साथ कोविड-19 टीके के लिए हमारी साझेदारी ने उत्कृष्ट प्रभावी नतीजे दिए हैं। हमने भारत में परीक्षण शुरू करने के लिए आवेदन किया है। जून 2021 तक ‘कोवोवैक्स’ का उत्पादन शुरू करने की उम्मीद है।”

डोमिस्टिक ट्रायल के लिए किया आवेदन

पूनावाला ने यह भी कहा कि सीरम इस्टीट्यूट ने कोवावैक्स के डोमिस्टिक ट्रायल शुरू करने के लिए आवेदन किया है। एसआईआई पहले ही ‘कोविडशील्ड’ टीके का उत्पादन कर रहा है जिसे ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय और ब्रिटिश-स्वीडिश कंपनी एस्ट्राजेनका ने विकसित किया है। देश में अभी चल रहे टीकाकरण अभियान के लिए केंद्र ने ‘कोविडशील्ड’ टीके की एक करोड़ 10 लाख खुराक खरीदी हैं।

अदार पूनावाला ने कहा कि नोवावैक्स के साथ वैक्सीन के लिए कंपनी की साझेदारी से अच्छे परिणाम सामने आए हैं। सीरम इस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ने भारत में परीक्षण शुरू करने के लिए भी आवेदन किया है। उन्होंने जून 2021 तक COVOVAX शुरू करने की उम्मीद जताई है। नोवावैक्स ने बीते गुरुवार को परीक्षण से प्रारंभिक परिणाम जारी किए थे, इसके लिए यूनाइटेड किंगडम में 18 से 84 साल की उम्र के 15,000 लोगों को इनरोल किया गया था। अदार पूनावाला ने कहा कि कोरोना वायरस को रोकने के लिए वैक्सीन 89.3 फीसदी तक प्रभावी है। पूनावाला ने ये भी कहा कि ब्रिटेन में कोरोना के नए स्ट्रेन पर भी वैक्सीन ज्यादा प्रभावी पाई गई है। अगर इस वैक्सीन को मंजूरी मिलती है तो यह देश की तीसरी कोरोना वैक्सीन होगी। 

अभी लगाई जा रही हैं ये दो वैक्सीन

गौरतलब है कि वर्तमान में दो वैक्सीन को मंजूरी मिल चुकी है, जिसे लोगों को लगाया जा रहा है। भारत के ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) ने कोविड-19 की अभी 2 कोरोना वैक्सीन को आपातकालीन इस्तेमाल की मंजूरी दी है। जिसमें सीरम इंस्टिट्यूट की कोविशील्ड और भारत बायोटेक की कोवैक्सीन शामिल है। कोवाक्सिन को हैदराबाद स्थित भारत बायोटेक ने इंडियन काउंसिल फॉर मेडिकल रिसर्च और नेशनल इंस्टिट्यूट वीरोलॉजी ने तैयार किया है।

इसके बाद 16 जनवरी 2021 से देशभर में कोविड-19 वैक्सीन का टीकाकरण अभियान शुरू किया गया है। देश भर में कोविड-19 के खिलाफ 16 जनवरी को टीकाकरण अभियान शुरू करते हुए पीएम नरेन्द्र मोदी ने कहा था कि इसमें करीब तीन करोड़ स्वास्थ्यकर्मियों तथा कोविड-19 के खिलाफ अग्रिम मोर्चे पर काम करने वालों को प्राथमिकता दी जाएगी।

Click Mania
bigg boss 15