1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. हिरासत में लिए गए सुखबीर बादल सहित कई अकाली नेता, बाद में दिल्ली पुलिस ने छोड़ा

हिरासत में लिए गए सुखबीर बादल सहित कई अकाली नेता, बाद में दिल्ली पुलिस ने छोड़ा

दिल्ली पुलिस ने राजधानी में कृषि कानूनों के विरोध में मार्च निकाल रहे अकाली दल के नेता हरसिमरत कौर बादल और सुखबीर बादल सहित कुल 11 लोगों को हिरासत में लिया था। इन्हें बाद में छोड़ दिया गया।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: September 17, 2021 14:58 IST
हिरासत में लिए गए...- India TV Hindi
Image Source : PTI हिरासत में लिए गए हरसिमरत और सुखबीर बादल, संसद मार्ग थाने ले गई दिल्ली पुलिस

नई दिल्ली. दिल्ली पुलिस ने राजधानी में कृषि कानूनों के विरोध में मार्च निकाल रहे अकाली दल के नेता हरसिमरत कौर बादल और सुखबीर बादल सहित कुल 11 लोगों को हिरासत में लिया था। दिल्ली पुलिस इन सभी लोगों को संसद मार्ग पुलिस स्टेशन ले गई है। बाद में इन सभी को छोड़ दिया गया।

प्रदर्शन के दौरान सुखबीर सिंह बादल ने कहा कि मोदी सरकार और हरियाणा सरकार ने हमारे कार्यकर्ताओं को रोका। उनकी गाड़ियां तोड़ी गईं, उनपर लाठीचार्ज किया गया। शांतिपूर्ण प्रदर्शन को रोका गया। हम यहां मोदी सरकार को ये मैसेज देने आए थे कि सिर्फ पंजाब ही नहीं बल्कि पूरा देश इस सरकार के खिलाफ है।

मोदी सरकार में मंत्री रहीं हरसिमरत कौर बादल ने प्रदर्शन ने दौरान कहा कि बड़ी संख्या में किसान प्रदर्शन के दौरान मारे गए। बहुत सारे किसान अभी भी दिल्ली की सीमाओं पर प्रदर्शन कर रहे हैं लेकिन सरकार को उनकी फिक्र नहीं है। हम तबतक लड़ाई जारी रखेंगे, जबतक सरकार तीनों कृषि कानूनों को वापस नहीं ले लेती।

 

मार्च के चलते दिल्ली के कई हिस्सों में लगा जाम

नए कृषि कानूनों के खिलाफ शिरोमणि अकाली दल (शिअद) के कार्यकर्ताओं द्वारा आयोजित विरोध मार्च के चलते शुक्रवार को आईटीओ सहित राष्ट्रीय राजधानी के कुछ हिस्सों में भारी जाम लग गया। दिल्ली यातायात पुलिस ने यात्रियों को कुछ सड़कों को बंद करने के बारे में सतर्क किया और असुविधा से बचने के लिए अन्य मार्गों के उपयोग का सुझाव दिया। उन्होंने कहा कि यातायात जाम के संबंध में ज्यादातर कॉल नयी दिल्ली, धौला कुआं, आईटीओ, विकास मार्ग, दिल्ली गेट, करोल बाग के इलाकों से आईं।

आईटीओ पर वाहनों की लंबी कतारें देखी गईं जबकि राम मनोहर लोहिया अस्पताल के चौराहे पर भी जाम लगा रहा। 30 वर्षीय अधिवक्ता रोहित तोमर ने कहा कि उन्हें 12 किलोमीटर की दूरी तय करने में दो घंटे से अधिक का समय लगा। तोमर ने कहा, ''मैं अपने घर से सुबह करीब 8:45 बजे पटियाला हाउस अदालत के लिए निकला, लेकिन जाम में फंस गया। लक्ष्मी नगर से आईटीओ तक विकास मार्ग का पूरा हिस्सा जाम था। इस रास्ते पर वाहन रेंग रहे थे। गीता कलोनी का क्षेत्र भी जाम था। मैं किसी तरह सुबह करीब 11 बजे पटियाला हाउस अदालत पहुंचा।''

यातायात जाम के बारे में शिकायत करने के लिए कई यात्रियों ने ट्विटर का सहारा लिया। एक यात्री ने कहा कि लक्ष्मी नगर से आईटीओ तक वाहनों का भारी दबाव था और उन्हें चार किलोमीटर की दूरी तय करने में एक घंटे का समय लग गया। इससे पहले, दिल्ली यातायात पुलिस ने शुक्रवार को यात्रियों को बंद मार्गों के बारे में जानकारी दी और परेशानी से बचने के लिए मार्ग परिवर्तन का सुझाव दिया।

दिल्ली यातायात पुलिस ने ट्विटर के जरिए लोगों को सूचित किया कि झड़ौदा कलां सीमा पर मार्ग बंद है और यात्रियों से कहा कि वे किसानों के आंदोलन के मद्देनजर इन मार्गों पर जाने से बचें। दिल्ली यातायात पुलिस ने ट्वीट किया, ‘‘गुरुद्वारा रकाब गंज रोड, आरएमएल अस्पताल, जीपीओ, अशोक रोड, बाबा खड़ग सिंह मार्ग पर किसान आंदोलन के कारण भीड़भाड़ होगी, अत: इन मार्गों का इस्तेमाल करने से कृपया बचें।’’ पुलिस के मुताबिक, सरदार पटेल मार्ग से धौला कुआं मार्ग भी बंद है। उसने मार्ग परिवर्तन संबंधी अन्य जानकारी भी दी।

Click Mania
bigg boss 15