1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. सिंघू बॉर्डर पर कत्ल किए गए लखबीर के परिवार ने मांगा इंसाफ, कहा- दिल्ली चलने के लिए दिया था लालच

सिंघू बॉर्डर पर कत्ल किए गए लखबीर के परिवार ने मांगा इंसाफ, कहा- दिल्ली चलने के लिए दिया था लालच

चीमा कलां गांव में मृतक लखबीर सिंह के घर पर पहुंचे ASI कबाल सिंह ने बताया कि उनके परिवार में पत्नी, तीन बेटियां हैं जिनमें सबसे छोटी 8 साल की और सबसे बड़ी बेटी 12 साल की है।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: October 18, 2021 14:52 IST
singhu border lakhbir singh family says he was lured to delhi सिंघू बॉर्डर पर कत्ल किए गए लखबीर के प- India TV Hindi
Image Source : ANI सिंघू बॉर्डर पर कत्ल किए गए लखबीर के परिवार ने मांगा इंसाफ, कहा- दिल्ली चलने के दिया था लालच

नई दिल्ली. सिंघू बॉर्डर पर मारे गए युवक की पहचना तरन तारन निवासी लखबीर सिंह के रूप में हुई है। उसके परिवार ने न्यूज एजेंसी ANI से बातचीत में कहा कि वो नशे का आदी था और उसे सिंघू बॉर्डर ले जाने के लिए लालच दिया गया था। लखबीर के ससुर ने शुक्रवार को बताया कि उसे वहां जाने का लालच दिया गया। इसकी जांच होनी चाहिए और उसे न्याय मिलना चाहिए।

लखबीर सिंह एक मजदूर के रूप में काम करता था। उनकी बहन ने मीडिया को बताया, "उसने 50 रुपये लिए और कहा कि वह चबल में काम करने जा रहा है और 7 दिनों के बाद वापस आ जाएगा। मुझे लगा कि वह वहां काम करने गया है। वह ऐसा व्यक्ति नहीं था (गुरु ग्रंथ साहिब का अपमान करने के लिए)। दोषियों को सजा मिलनी चाहिए।"

चीमा कलां गांव में मृतक लखबीर सिंह के घर पर पहुंचे ASI कबाल सिंह ने बताया कि उनके परिवार में पत्नी, तीन बेटियां हैं जिनमें सबसे छोटी 8 साल की और सबसे बड़ी बेटी 12 साल की है। ASI कबाल सिंह ने बताया कि 5-6 साल पहले लखबीर सिंह को उसकी पत्नी ने उन्हें छोड़ दिया था और वो अलग रहती हैं।

आपको बता दें कि दिल्ली-हरियाणा की सीमा पर किसानों के कुंडली स्थित प्रदर्शन स्थल के नजदीक एक व्यक्ति की पीट-पीट कर हत्या कर दी गई और उसका हाथ काट दिया गया। उसके शरीर पर धारदार हथियार से हमले के करीब 10 जख्म बने थे और उसके शव को अवरोधक से बांधा गया था। इस घटना के लिए कथित रूप से निहंगों के एक समूह को जिम्मेदार ठहराया जा रहा है।

इस नृशंस हत्या के घंटों बाद सिखों की निहंग परंपरा के तहत नीले लिबास में एक व्यक्ति मीडिया के समक्ष आया और दावा किया कि उसने पीड़ित को पवित्र ग्रंथ की ‘बेअदबी’ करने की ‘सजा’ दी है। अन्य निहंगों ने दावा किया कि उसने पुलिस के समक्ष ‘आत्मसमर्पण’ कर दिया है, जबकि पुलिस का कहना है कि उक्त व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया गया है और उससे पूछताछ की जा रही है।

पुलिस के एक अधिकारी ने कहा, "कश्मीर सिंह के बेटे सरबजीत सिंह को गिरफ्तार कर लिया गया है जो पंजाब के गुरदासपुर जिले के विटवहा का रहने वाला है।" अधिकारी ने कहा कि प्रारंभिक पूछताछ में सरबजीत ने दावा किया कि वह "पवित्र धार्मिक ग्रंथ की बेअदबी" बर्दाश्त नहीं कर सका। सरबजीत के "आत्मसमर्पण" से पहले निहंगों ने उसे सम्मानित करते हुए एक वस्त्र दिया और कहा कि उसने ऐसे व्यक्ति को सजा दी जिसने कथित तौर पर पवित्र ग्रंथ की बेअदबी की।

bigg boss 15