गणतंत्र दिवस परेड देखने से पहले इन बातों का ध्यान रखना है जरूरी, पढ़ें दिल्ली पुलिस की गाइडलाइन

कोविड महामारी का साया गणतंत्र दिवस समारोह पर इस बार भी मंडरा रहा है। इसके चलते पहले परेड रूट 8.3 किलोमीटर होता था वो अब घटकर 3.3 किलोमीटर ही रह गया है। मतलब परेड रूट 5 किलोमीटर कम कर दिया गया है।

Abhay Parashar Reported by: Abhay Parashar @abhayparashar
Published on: January 25, 2022 14:02 IST
दिल्ली पुलिस ने की तैयारी- India TV Hindi
Image Source : PTI दिल्ली पुलिस ने की तैयारी

Highlights

  • परेड रूट 8.3 किलोमीटर होता था वो अब घटकर 3.3 किलोमीटर ही रह गया
  • परेड रूट 5 किलोमीटर कम कर दिया गया है
  • परेड के बाद निकलने वाली झकियां लाल किले पर जाकर ही खत्म होगी

कोविड महामारी के चलते इस बार भी गणतंत्र दिवस परेड को शॉर्ट किया गया है। पहले परेड विजय चौक से शुरू होकर लाल किले तक जाती थी। लेकिन पिछले साल की तरह इस बार भी परेड विजय चौक से शुरू होकर इंडिया गेट के पास नेशनल स्टेडियम पर ही खत्म हो जाएगी। कोविड महामारी का साया गणतंत्र दिवस समारोह पर इस बार भी मंडरा रहा है। इसके चलते पहले परेड रूट 8.3 किलोमीटर होता था वो अब घटकर 3.3 किलोमीटर ही रह गया है। मतलब परेड रूट 5 किलोमीटर कम कर दिया गया है। हालांकि परेड के बाद निकलने वाली झकियां लाल किले पर जाकर ही खत्म होगी। 

कोविड महामारी के चलते इस बार भी कई बदलाव किए गए हैं-

26 जनवरी की परेड जिनके पास टिकट और पास होंगे वो ही परेड देख सकेंगे। बाकी लोग घर पर TV पर परेड देखें। पहले परेड के रास्ते जो लोग खड़े होकर परेड देखते थे, उन्हें इजाजत नहीं होगी।

पहले सवा लाख लोग परेड देखते थे जिन्हें कोविड के चलते साल 2021 में घटाकर 25 हजार कर दिया गया था। लेकिन इस बार दर्शकों की संख्या करीब 8 हजार के आसपास ही होगी।

जो लोग गणतंत्र दिवस परेड देखने आएंगे उनका टेम्प्रेचर देखा जाएगा। साथ ही मास्क पहनना भी जरूरी है। जगह-जगह सैनिटाइजर का इंतज़ाम भी किया जाएगा।

इतना ही नही हर बार की तरह परेड के निकलने वाले रास्तों के आसपास 23 जनवरी की फुल ड्रेस रिहर्सल और 26 जनवरी के समारोह के दौरान ट्रैफिक रोकथाम भी रहेगी।

 25 जनवरी शाम 6 बजे के बाद से 26 जनवरी परेड खत्म होने तक विजय चौक और उसके आस पास ट्रैफिक पर प्रतिबंध होगा।

25 जनवरी रात 11 बजे कर बाद से रफी मार्ग, जनपथ, मैन सिंह रोड को क्रॉस करके जाने वाले ट्रैफिक मवमेंट पर 26 जनवरी समारोह खत्म होने तक प्रतिबंध होगा।

26 जनवरी सुबह 2 बजे से सी हेक्सगन इंडिया गेट पर ट्रैफिक परेड खत्म होने तक बंद रहेगा।

साथ 26 जनवरी सुबह 10 बजे से   तिलक मार्ग से लाल किले तक के झांकी निकलने के रूट पर पूरी तरह प्रतिबंद रहेगा। हालांकि इस रास्ते की क्रॉस रोड पर ट्रैफिक झांकी निकलने के दौरान बंद किया जाएगा।

इतना ही नही केंद्रीय सचिवालय और उद्योग भवन मेट्रो स्टेशन को 26 जनवरी सुबह 5 बजे से दोपहर 12 बजे तक  पूरी तरीके से बंद कर दिया जाएगा। साथ ही लोक कल्याण मार्ग, पटेल चौक और आईटीओ मेट्रो स्टेशन पर रिस्ट्रिक्शन 26 जनवरी सुबह 8.45 से शुरू होगी। इन  मेट्रो स्टेशन पर ये रिस्ट्रिक्शन 26 जनवरी सुबह 12 बजे तक रहेगी। 

दिल्ली पुलिस के मुताबिक, दिल्ली से लगने वाले सभी बॉर्डर को 25 जनवरी की रात 10 बजे से सील कर दिया जाएगा। इस समय दिल्ली में हैवी ट्रांसपोर्ट और लाइट गुड व्हीकल को दिल्ली में घुसने की इजाजत नहीं होगी। दिल्ली पुलिस पहले ही 20 जनवरी से 15 मार्च तक किसी भी तरह के ड्रोन के उड़ाने पर दिल्ली में प्रतिबंद लगा चुकी है।

गणतंत्र दिवस समारोह पर मंडराते आतंकी खतरे को देखते हुए दिल्ली पुलिस ने तैयारियां पूरी कर ली है। विजय चौक से लेकर लालकिले तक के परेड के रास्ते को छावनी में तब्दील कर दिया गया है। गणतंत्र दिवस समारोह की सुरक्षा के लिए ही करीब 30 हजार जवानों को तैनाती की गई है। जिनमें दिल्ली पुलिस के जवानों के अलावा दिल्ली पुलिस कमांडो, एनएसजी और पैरामिलिट्री फ़ोर्स भी शामिल है।दिल्ली पुलिस कमिश्नर के मुताबिक इस बात आतंकी खतरे को देखते हुए 26 पैरामीटर के एन्टी टेरर मिसर उठाये गए है। इतना ही नही ड्रोन के जरिये होने वाले आतंकी खतरे से निपटने के लिए एंटी ड्रोन सिस्टम भी जगह जगह इंस्टॉल किए गए है। 

दिल्ली पुलिस के मुताबिक, दिल्ली पुलिस पिछले 2 महीने से 26 अलग अलग पैरामीटर के एन्टी टेरर मैसर्स लिए गए हैं। परेड के लिए 20 हजार से ज्यादा पुलिसकर्मियों को लगाया गया है। जिनमें ऑफिसर और पैरामिलिट्री फोर्स भी शामिल है। दिल्ली पुलिस के 71 डीसीपी, 213 एसीपी, 753 इंस्पेक्टर को परेड की सुरक्षा की कमान दी गई है। दिल्ली पुलिस के 27 हजार 723 जवानों, कमांडो, शार्पशूटर को परेड को सुरक्षा में तैनात किया गया है जिन्हें असिस्ट करने के लिए 65 कंपनी परमिट्री फ़ोर्स भी लगाई गई है।

आतंकियों और उपद्रवियों को काबू करने के लिए 200 एन्टी सबोटेश टीम लगाई गई है। एन्टी ड्रोन सिस्टम भी लगाए हैं जिसमें दूसरी एजेंसीज की भी मदद ली है। दिल्ली पुलिस कमिश्नर के मुताबिक, दिल्ली पुलिस ख़ुफ़िया एजेंसियों और स्टेट पुलिस के संपर्क में है। साथ ही शहर में जगह जगज नाकाबंदी और चेकिंग चल रही है। इतना ही नहीं होटल लॉन्ज, धर्मशालाओं में रहने वाले और किराएदारों का वेरिफिकेशन भी कराया जा रहा है। दिल्ली पुलिस सोशल मीडिया पर भी संदिग्ध चीजों के लिए लोगों को जागरूक कर रही है। जिससे गणतंत्र दिवस समारोह को बिना किसी रुकावट के शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न कराया जा सके।

Latest India News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन