1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. Jammu Kashmir : जम्मू-कश्मीर में आतंकियों ने SPO को मारी गोली, इलाज के दौरान मौत

Jammu Kashmir : जम्मू-कश्मीर में आतंकियों ने SPO को मारी गोली, इलाज के दौरान हुई मौत

इससे पहले कल कश्मीर के बडगाम में एक सरकारी कार्यालय में घुसकर लश्कर-ए-तैयबा के दो आतंकवादियों ने एक कश्मीरी पंडित कर्मचारी की गोली मारकर हत्या कर दी।

Niraj Kumar	Edited by: Niraj Kumar @nirajkavikumar1
Published on: May 13, 2022 11:05 IST
Representational Image- India TV Hindi
Image Source : PTI/FILE Representational Image

Highlights

  • पुलवामा के गुदूरा इलाके में आतंकियों ने एसपीओ को मारी गोली
  • अस्पताल में इलाज के दौरान SPO की हुई मौत

Jammu Kashmir : जम्मू-कश्मीर में आतंकियों ने आज सुबह एक एसपीओ (SPO) रियाज अहमद को गोली मार दी। गंभीर से घायल एसपीओ को अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई। जानकारी के मुताबिक पुलवामा के गुदूरा इलाके में एसपीओ रियाज अहम को आतंकियों ने घर के बाहर गोली मार दी। इस हमले में वो गंभीर रूस से घायल हो गए। बाद में अस्पताल में इलाज के दौरान उन्होंने दम तोड़ दिया।

कल कश्मीर के बडगाम कश्मीरी पंडित की हत्या हुई थी

इससे पहले कल कश्मीर के बडगाम में एक सरकारी कार्यालय में घुसकर लश्कर-ए-तैयबा के दो आतंकवादियों ने एक कश्मीरी पंडित कर्मचारी की गोली मारकर हत्या कर दी। राहुल भट (35) चादूरा के तहसील कार्यालय में प्रवासी कश्मीरी पंडितों के रोजगार के लिए दिए गए विशेष पैकेज के तहत तैनात थे और गोली लगने के बाद उन्हें तुरंत श्रीनगर के एसएमएचएस अस्पताल ले जाया गया जहां उनकी मौत हो गई। 

आठ साल से सरकारी सेवा में थे राहुल भट

अधकारियों ने बताया कि शाम करीब चार बजकर 30 मिनट पर लश्कर-ए-तैयबा के दो आतंकवादी तहसील कार्यालय में दाखिल हुए और भट को गोली मार दी। उस समय कार्यालय कर्मचारियों से भरा हुआ था। उन्होंने कहा कि भट बडगाम के शेखपुरा स्थित प्रवासी कॉलोनी में रहते थे और आठ साल से सरकारी सेवा में थे। उनके परिवार में पत्नी, पांच साल बेटी और माता-पिता हैं। उनके पिता पुलिस अधिकारी पद से सेवानिवृत्त हैं। 

14 अल्पसंख्यक हिंदुओं की हत्या 

भट गत सात महीने में दूसरे कश्मीरी पंडित हैं जिनकी हत्या आतंकवादियों द्वारा की गई है। इससे पहले प्रमुख दवा कारोबारी माखन लाल बिंदरु की छह अक्टूबर 2021 को आतंकवादियों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी। अगस्त 2019 से लेकर मार्च 2022 के बीच जम्मू-कश्मीर में कश्मीरी पंडितों सहित कुल 14 अल्पसंख्यक हिंदुओं की हत्या आतंकवादियों द्वारा की गई है। आतंकवादियों द्वारा जिन लोगों को निशाना बनाया गया है उनमें कश्मीर के विभिन्न हिस्सों के प्रमुख कारोबारी, सरपंच और ब्लॉक विकास परिषद के सदस्य शामिल हैं।

erussia-ukraine-news