1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. भगवंत मान की लोकसभा सीट 'संगरूर' से चुनाव लड़ सकते हैं सुनील जाखड़

Sunil Jakhar: भगवंत मान की लोकसभा सीट 'संगरूर' से चुनाव लड़ सकते हैं सुनील जाखड़

सूत्रों की मानें तो, भाजपा सुनील जाखड़ को पंजाब में अपने एक बड़े हिंदू नेता के तौर पर प्रोजेक्ट करने की तैयारी कर रही है और इसी के मद्देनजर पार्टी संगरूर लोकसभा सीट पर होने वाले उपचुनाव में उन पर बड़ा दांव खेलने की तैयारी कर रही है।

Khushbu Rawal Edited by: Khushbu Rawal @khushburawal2
Published on: May 20, 2022 23:21 IST
Sunil Jakhar and JP Nadda- India TV Hindi
Image Source : PTI Sunil Jakhar and JP Nadda

Highlights

  • गुरुवार को ही भाजपा में शामिल हुए हैं सुनील जाखड़
  • भाजपा की संगरूर लोकसभा सीट उपचुनाव में बड़ा दांव खेलने की तैयारी
  • भाजपा के सामने सुनील जाखड़ को राज्यसभा भेजने का विकल्प भी मौजूद

Sunil Jakhar: पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान के इस्तीफे से खाली हुई लोकसभा सीट संगरूर से भारतीय जनता पार्टी (BJP) सुनील जाखड़ को अपना उम्मीदवार बना सकती है। गुरुवार को ही भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने जाखड़ को भाजपा में शामिल कराया था। सूत्रों की मानें तो, भाजपा सुनील जाखड़ को पंजाब में अपने एक बड़े हिंदू नेता के तौर पर प्रोजेक्ट करने की तैयारी कर रही है और इसी के मद्देनजर पार्टी संगरूर लोकसभा सीट पर होने वाले उपचुनाव में उन पर बड़ा दांव खेलने की तैयारी कर रही है।

आपको याद दिला दें कि, पंजाब विधानसभा में बड़ी जीत मिलने के बाद आम आदमी पार्टी ने भगवंत मान को पंजाब के मुख्यमंत्री के तौर पर चुना। राज्य के मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ लेने से पहले 14 मार्च 2022 को मान ने लोकसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था। अब इस सीट पर लोकसभा का उपचुनाव होना है और राज्य में पहली बार अकेले लोकसभा चुनाव लड़ने की तैयारी कर रही भाजपा ने Sunil Jakhar की उम्मीदवारी से जुड़े सभी राजनीतिक पहलुओं का हिसाब-किताब लगाना शुरू कर दिया है।

हालांकि भाजपा के एक बड़े नेता ने बताया कि सुनील जाखड़ पंजाब के एक बड़े नेता हैं और निश्चित तौर पर भाजपा उनके कद और उनकी लोकप्रियता का सम्मान करेगी। हालांकि इसके साथ ही उन्होंने यह भी जोड़ा कि उनकी भूमिका को लेकर पार्टी के सामने सारे विकल्प खुले हैं और समय आने पर इसकी आधिकारिक घोषणा की जाएगी। हालांकि बताया जा रहा है कि पार्टी के सामने उन्हें राज्यसभा भेजने का भी विकल्प मौजूद हैं।