1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राजनीति
  5. 'यह समय एक-दूसरे पर उंगली उठाने का नहीं', PM मोदी पर हेमंत सोरेन के ट्वीट पर जगन मोहन की नसीहत

'यह समय एक-दूसरे पर उंगली उठाने का नहीं', PM मोदी पर हेमंत सोरेन के ट्वीट पर जगन मोहन रेड्डी की नसीहत

भारत में जारी कोरोना वायरस की दूसरी लहर के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कई राज्यों के मुख्यमंत्रियों को फोन किया और कोरोना संकट को लेकर चर्चा की। इन्हीं में से एक झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने इस चर्चा को लेकर एक ट्वीट कर दिया, जिसपर अब बवाल छिड़ गया है।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: May 07, 2021 23:45 IST
These  are the times not to point fingers but to come together, Jagan Mohan to Hemant Soren- India TV Hindi
Image Source : PTI भारत में जारी कोरोना वायरस की दूसरी लहर के बीच PM मोदी ने कई राज्यों के मुख्यमंत्रियों को फोन किया।

नई दिल्ली: भारत में जारी कोरोना वायरस की दूसरी लहर के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कई राज्यों के मुख्यमंत्रियों को फोन किया और कोरोना संकट को लेकर चर्चा की। इन्हीं में से एक झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने इस चर्चा को लेकर एक ट्वीट कर दिया, जिसपर अब बवाल छिड़ गया है। बीजेपी शासित राज्यों के मुख्यमंत्री, केंद्र सरकार में मंत्री समेत कई बड़े नेता अब सोशल मीडिया पर हेमंत सोरेन को जवाब देने में लग गए हैं। आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने भी नसीहत दे डाली।

जगन मोहन रेड्डी ने ट्वीट किया, "मेरे मन में आपके लिए बहुत सम्मान है, लेकिन एक भाई के रूप में मैं आपसे आग्रह करूंगा, चाहे हमारे मतभेद कभी भी हों, इस तरह की राजनीति में लिप्त होने से केवल हमारा ही राष्ट्र कमजोर होगा। कोविड-19 के खिलाफ इस जंग में यह समय किसी पर उंगली उठाने का नहीं बल्कि साथ मिलकर महामारी से प्रभावी ढंग से निपटने के लिये हमारे प्रधानमंत्री के खड़े होने का है।"

बता दें कि हेमंत सोरेन ने कहा था कि बेहतर होता अगर पीएम मोदी काम की बात करते और काम की बात सुनते। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने ट्वीट में कहा, 'आज आदरणीय प्रधानमंत्री जी ने फोन किया। उन्होंने सिर्फ अपने मन की बात की। बेहतर होता यदि वो काम की बात करते और काम की बात सुनते।'

वहीं असम सरकार में मंत्री हिमंत बिस्व सरमा ने सोरेन को जवाब देते हुए लिखा कि 'आपका यह ट्वीट न सिर्फ न्यूनतम मर्यादा के खिलाफ है बल्कि उस राज्य की जनता की पीड़ा का भी मजाक उड़ाना है, जिनका हाल जानने के लिए माननीय प्रधानमंत्री जी ने फोन किया था। बहुत ओछी हरकत कर दी आपने। मुख्यमंत्री पद की गरिमा भी गिरा दी।'

ये भी पढ़ें

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। Politics News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment
X