1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. एजुकेशन
  4. परीक्षा
  5. सितंबर में भी कॉलेज की अंतिम परीक्षाएं आयोजित करने की स्थिति में नहीं है तमिलनाडु : मुख्यमंत्री

सितंबर में भी कॉलेज की अंतिम परीक्षाएं आयोजित करने की स्थिति में नहीं है तमिलनाडु : मुख्यमंत्री

तमिलनाडु सरकार ने शनिवार को कहा कि वह सितंबर 2020 में अंतिम वर्ष या सेमेस्टर के विद्यार्थियों के लिए कॉलेज परीक्षाएं आयोजित करने की स्थिति में नहीं है क्योंकि कई शैक्षणिक संस्थानों को कोविड-19 केंद्रों में बदल दिया गया है।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: July 11, 2020 17:12 IST
Tamil Nadu not in a position to conduct college final...- India TV Hindi
Image Source : PTI Tamil Nadu not in a position to conduct college final examinations in September CM

चेन्नई। तमिलनाडु सरकार ने शनिवार को कहा कि वह सितंबर 2020 में अंतिम वर्ष या सेमेस्टर के विद्यार्थियों के लिए कॉलेज परीक्षाएं आयोजित करने की स्थिति में नहीं है क्योंकि कई शैक्षणिक संस्थानों को कोविड-19 केंद्रों में बदल दिया गया है। मुख्यमंत्री के.पलानीस्वामी ने कहा कि कोरोना वायरस प्रसार की पृष्ठभूमि में ऐसा कदम विद्यार्थियों के भविष्य को खतरे में डालेगा जो अंतिम वर्ष या अंतिम सेमेस्टर की परीक्षाएं देने वाले थे। उन्होंने केंद्र सरकार से आग्रह किया कि वह “राज्यों को गुणवत्ता और अकादमिक विश्वसनीयता से समझौता किए बिना, अपने मूल्यांकन के तरीकों पर काम करने की स्वतंत्रता दे।”

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल को लिखे एक पत्र में उन्होंने कहा कि छह जुलाई, 2020 के दिशा-निर्देशों (यूजीसी के) में देश के सभी शैक्षणिक संस्थानों को अंतिम सेमेस्टर के विद्यार्थियों के लिए सितंबर 2020 तक परीक्षाएं आयोजित करना अनिवार्य किया गया है। उन्होंने कहा कि दिशा-निर्देश में कई बाधाएं एवं कठिनाइयां हैं जिसमें विद्यार्थियों का परीक्षा केंद्र तक पहुंचना भी शामिल है क्योंकि उनमें से कई जिला या राज्य के बाहर रहते हैं और कुछ तो देश के भी बाहर हैं।

उन्होंने कहा कि विद्यार्थियों की डिजिटल पहुंच से जुड़ी विभिन्न समस्याओं को ध्यान में रखते हुए, ऑनलाइन परीक्षाएं कराना भी व्यावहारिक नहीं है। पलानीस्वामी ने कहा, “इसके अलावा, राज्य में ज्यादातर सरकारी एवं निजी कला और विज्ञान एवं इंजीनियरिंग कॉलेज, पॉलीटेक्निक और उच्च शिक्षण के अन्य संस्थानों (छात्रावास एवं कक्षाएं आदि) को कोविड-19 देखभाल केंद्रों में बदल दिया गया है जहां बिना लक्षण वाले संक्रमित लोगों को पृथक-वास में रखा जा रहा है और इन केंद्रों को कुछ और समय के लिए कोविड केंद्र बनाए रखा जा सकता है।”

मुख्यमंत्री ने कहा, “इसलिए, हम सितंबर 2020 तक इंतजार करने के बाद भी परीक्षाएं कराने की स्थिति में नहीं होंगे तो यह विद्यार्थियों के भविष्य को खतरे में डाल देगा जो अंतिम वर्ष या सेमेस्टर में हैं।” उन्होंने पत्र में कहा कि इसके अलावा यह कैंपस चयन के माध्यम से चुने गए विद्यार्थियों और विदेशों में पाठ्यक्रम के लिए आवेदन करने वाले विद्यार्थियो के भविष्य को भी बेवजह प्रभावित करेगा।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। Exams News in Hindi के लिए क्लिक करें एजुकेशन सेक्‍शन
Write a comment