ye-public-hai-sab-jaanti-hai
  1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. लाइफस्टाइल
  4. जीवन मंत्र
  5. बुध का ज्येष्ठा नक्षत्र में प्रवेश, अशुभ प्रभाव से बचने के लिए अपनाएं ये उपाय

बुध का ज्येष्ठा नक्षत्र में प्रवेश, अशुभ प्रभाव से बचने के लिए अपनाएं ये उपाय

बुध के ज्येष्ठा नक्षत्र में गोचर के दौरान इन सब चीजों पर प्रभाव पड़ेगा। अशुफ फल से बचने के लिए करें ये उपाय

India TV Lifestyle Desk Written by: India TV Lifestyle Desk
Updated on: December 01, 2021 6:59 IST
mercury enters Jyeshtha nakshatra 1 December know effects and upay- India TV Hindi
Image Source : INSTAGRAM//VAHITA.MEDITATION.CENTER/ mercury enters Jyeshtha nakshatra 1 December know effects and upay

Highlights

  • बुध ज्योतिष विद्या, शिल्प, कम्प्यूटर, वाणिज्य के कारक हैं ।
  • बुध बुद्धि और वाणी के देवता हैं |
  • बुध के ज्येष्ठा नक्षत्र से पड़ेगा हर व्यक्ति के जीवन पर असर

आचार्य इंदु प्रकाश के अनुसार  दिसबंर माह की शुरुआत यानी 1 तारीख की शाम 6 बजकर 1 मिनट पर बुध देव अनुराधा नक्षत्र से निकल कर ज्येष्ठा नक्षत्र में प्रवेश करेंगे और 10 दिसंबर कि सुबह 6 बजकर 5 मिनट तक ज्येष्ठा नक्षत्र में ही गोचर करते रहेंगे, उसके बाद मूल नक्षत्र में प्रवेश कर जाएंगे।

भारतीय ज्योतिष के अनुसार बुध ज्योतिष विद्या, शिल्प, कम्प्यूटर, वाणिज्य के कारक हैं। ये बुद्धि और वाणी के देवता हैं। दिमाग से मेहनत वाले कार्यों पर और वाणी से किये जाने वाले कार्यों पर इनका सीधा प्रभाव पड़ता ह, साथ ही शरीर में मुख्य रूप से गले और कन्धों पर इनका प्रभाव रहता है। 

Vastu Tips: घर में लगाएं तुलसी का पौधा, हमेशा रहेगा मां लक्ष्मी का आगमन

ज्येष्ठा नक्षत्र में जन्में लोगों को बुध के ज्येष्ठा नक्षत्र में गोचर के दौरान इन सब चीजों पर प्रभाव पड़ेगा। बुध के ज्येष्ठा नक्षत्र में गोचर का शुभ फल पाने के लिए और अशुभ फलों से बचने के लिए इस दौरान बुध के उपाय करना आपके लिये काफी लाभकारी सिद्ध होगा।

  1. अगर दाम्पत्य जीवन से सुख कहीं गायब हो गया है या आप दोनों में अब पहले जैसी अंडरस्टैंडिंग नहीं बन पा रही है, तो आज ज्येष्ठा नक्षत्र के दौरान महिला को चाहिये कि रात के समय एक चुटकी सिंदूर लेकर एक कागज की पुड़ियां मे बांध लें और अपने पति के सिरहाने रख दें। सुबह उठने के बाद उस सिंदूर की पुड़ियां को वहां से उठाकर सिंदूर अपनी मांग में भर लें।
  2. अगर आपकी कन्या का विवाह जल्द ही होने वाला हो तो आज अपनी कन्या के हाथों से साबुत हल्दी की सात गांठें, सात सिक्के, थोड़ा-सा केसर, गुड़ और चने की दाल एक पीले कपड़े में बांधकर, उसकी पोटली बना लें और उस पोटली को कन्या की ससुराल की दिशा में रहने वाले किसी ब्राह्मण को दे दें।
  3. अगर आपके घर में धन-दौलत तो बहुत है। लेकिन परिवार के सदस्यों के बीच छोटे-मोटे झगड़ों के कारण घर की सुख-शांति कहीं गायब हो गई है, तो आज पंसारी की दुकान से मदार की जड़ लाकर, उसे साफ करके लाल कपड़े में लपेट लें और उसे घर के किसी ऐसे कोने में रख देंय़ जहां ज्यादा छेड़छाड़ न करनी पड़ती हो।
  4. अपने धन-धान्य की बढ़ोत्तरी के लिए आज घर में किसी साफ स्थान पर एक लकड़ी का पाटा लें और उस पर साफ कपड़ा बिछाएं। अब उस पर सिंदूर मिश्रित चावल से चौकोर आसन बनाएं और उस आसन पर गणपति जी का स्वरूप माने जाने वाले श्वेत आर्क के पौधे की टहनी को रखें। उसके बाद सभी दिशाओं का ध्यान करते हुए हल्दी, चन्दन, धूप, दीप आदि से श्वेतार्क की पूजा करें और संभव हो तो गणपति स्त्रोत का पाठ करें।
  5. अगर आप नया घर बनवाने जा रहे हैं या आपके नये घर का काम पहले से चल रहा है तो आज अपनी जमीन में चांदी का छोटा-सा टुकड़ा जरूर दबाएं। लेकिन अगर आप किसी नये घर का निर्माण नहीं करा रहे हैं और आपका घर पहले से बना हुआ है, तो आज चांदी का छोटा-सा चौकोर टुकड़ा खरीदकर अपनी तिजोरी में रख लें।
  6. अगर आपके व्यापार में फायदा काम हो रहा हो या मेहनत करने के बाद भी आपके व्यापार में बढोत्तरी नहीं हो रही है, तो आज एक सफेद कपड़े या सफेद रंग के कोरे कागज पर एक मुट्ठी चावल और थोड़ी-सी मोटी, धागे वाली मिश्री रखकर बहते जल में प्रवाहित कर दें।
  7. अगर आपको नई नौकरी मिलने में किसी प्रकार की परेशानी आ रही है या आप इंटरव्यू में तो पास हो गए हैं। लेकिन आपकी ज्वॉइनिंग में दिक्कतें आ रही हैं, तो आज पीले नमकीन चावल बनाकर, यानि चावल में हल्दी और नमक डालकर, अच्छे से पकाने के बाद मां सरस्वती को भोग लगाएं और अपनी परेशानी को हल करने के लिये देवी मां से प्रार्थना करें।
elections-2022