1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. विदेश
  4. अन्य देश
  5. फिलहाल डोमिनिका में ही रहेगा मेहुल चोकसी, कोर्ट ने प्रत्यर्पण पर लगाई रोक, 2 जून को होगी सुनवाई

फिलहाल डोमिनिका में ही रहेगा मेहुल चोकसी, कोर्ट ने प्रत्यर्पण पर लगाई रोक, 2 जून को होगी सुनवाई

डोमिनिका आइलैंड के उच्च न्यायालय ने भारत से फरार आरोपी कारोबारी मेहुल चोकसी के प्रत्यर्पण पर फिलहाल रोक लगा दी है। 

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: May 29, 2021 7:08 IST
फिलहाल डोमिनिका में ही रहेगा मेहुल चोकसी, कोर्ट ने प्रत्यर्पण पर लगाई रोक,  2 जून को होगी सुनवाई- India TV Hindi
Image Source : FILE फिलहाल डोमिनिका में ही रहेगा मेहुल चोकसी, कोर्ट ने प्रत्यर्पण पर लगाई रोक,  2 जून को होगी सुनवाई

नई दिल्ली: डोमिनिका आइलैंड के उच्च न्यायालय ने भारत से फरार आरोपी कारोबारी मेहुल चोकसी के प्रत्यर्पण पर फिलहाल रोक लगा दी है। अदालत ने ये भी फैसला सुनाया है कि अगर मेहुल चोकसी अपने परिजनों या कानूनी सलाहकारों से मिलना चाहता है तो उसे उचित मदद दी जाए। इसके साथ ही उच्च न्यायालय ने ये भी कहा कि अगर मेहुल चौकसी डोमिनिका आईलैंड - चीन मैत्री अस्पताल में चाहे तो वो अपना कोविड टेस्ट भी करवा सकता है। इस मामले में अगली सुनवाई 2 जून को होगी।

13,500 करोड़ रुपये के पीएनबी ऋण धोखाधड़ी मामले में सीबीआई और ईडी द्वारा भारत में वांछित चोकसी रविवार को एंटीगा और बारबुडा से लापता हो गया था लेकिन बड़े पैमाने पर तलाशी के बाद उसे बुधवार को डोमिनिका में पकड़ लिया गया था।

इससे पहले दिन में भारत में चोकसी के वकील, विजय अग्रवाल ने बताया, डोमिनिका की एक अदालत ने मेहुल चोकसी बनाम अटॉर्नी जनरल ऑफ कॉमनवेल्थ और पुलिस प्रमुख शीर्षक से बंदी प्रत्यक्षीकरण याचिका दायर करने पर अगले आदेश तक चोकसी को डोमिनिका की भूमि से हटाने पर रोक लगाने का आदेश दिया है। गुरुवार की रात अग्रवाल ने कहा था कि चोकसी को एंटीगुआ से जबरन एक जहाज में बैठाया गया और उसे डोमिनिका ले जाया गया। उन्होंने यह भी दावा किया कि चोकसी के शरीर पर बल प्रयोग के निशान हैं।

वकील ने कहा, कुछ गड़बड़ है और मुझे लगता है कि उन्हें दूसरी जगह ले जाने को लेकर एक रणनीति अपनाई गई है, ताकि उन्हें भारत वापस भेजने की संभावना बन सके। इसलिए मुझे नहीं पता कि कौन सी ताकतें काम कर रही हैं, यह तो समय ही बताएगा। हालांकि, एंटीगुआ के पुलिस आयुक्त एटली रॉडने ने चोकसी के वकील के दावों को खारिज कर दिया और कहा कि उन्हें जबरन लेकर जाने की कोई जानकारी नहीं है।

बुधवार को एंटीगुआ और बारबुडा के प्रधानमंत्री गैस्टन ब्राउन ने कहा था कि भगोड़े हीरा व्यापारी को भारत लौटने की जरूरत है, ताकि वह अपने खिलाफ लगाए गए आपराधिक आरोपों का सामना कर सके। एंटीगुआ न्यूज रूम ने ब्राउन के हवाले से एंटीगुआ और बारबुडा में पत्रकारों से कहा, हमने उन्हें एंटीगुआ वापस नहीं भेजने के लिए कहा है। उन्हें भारत भेजे जाने की जरूरत है, जहां वह अपने खिलाफ लगाए गए आपराधिक आरोपों का सामना कर सकें।

पीएनबी ऋण धोखाधड़ी मामले में आरोपी चोकसी अपने भांजे नीरव मोदी के साथ 4 जनवरी, 2018 से एंटीगुआ और बारबुडा में रह रहा है।मामले में अलग-अलग चार्जशीट दाखिल करने वाली सीबीआई और ईडी चोकसी के प्रत्यर्पण की कोशिश कर रही है।

इनपुट-आईएएनएस

bigg boss 15