1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. विदेश
  4. एशिया
  5. तालिबान ने अमेरिकी नागरिक सहित सैकड़ों लोगों को अफगानिस्तान छोड़ने से रोका

तालिबान ने अमेरिकी नागरिक और ग्रीन कार्ड धारक सहित सैकड़ों लोगों को अफगानिस्तान छोड़ने से रोका

इस बीच, अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन ने मंगलवार को रिपब्लिकन सांसदों के उन दावों को खारिज किया जिसमें कहा गया था कि अमेरिका द्वारा सैनिकों और राजनयिकों को निकालने के बाद मजार-ए-शरीफ में बंधक जैसी स्थिति है।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: September 07, 2021 23:11 IST
Taliban block hundreds from leaving Afghanistan- India TV Hindi
Image Source : AP तालिबान ने देश से बाहर निकालने के लिए विमान में सैकड़ों लोगों को सवार होने से रोक दिया है।

मजार-ए-शरीफ: अफगानिस्तान में अमेरिकी संगठन के लिए काम करने वाली एक महिला अफगान कर्मी ने बताया कि तालिबान ने देश से बाहर निकालने के लिए परिचालित विशेष विमान में उन्हें और अन्य सैकड़ों लोगों को सवार होने से रोक दिया है। पहचान गुप्त रखते हुए महिला ने मंगलवार को एसोसिएटेड प्रेस को बताया कि अगर तालिबान उनकी पहचान करते हैं तो उन्हें अपनी सुरक्षा का डर है। अमेरिकी संगठन ‘असेंड’ सालों से अफगान महिलाओं और लड़कियों के लिए काम कर रहा है। 

एसोसिएटेड प्रेस को जानकारी देने वाली महिला उन सैकड़ों लोगों में शामिल हैं जिनके बारे में बताया जा रहा है कि उन्हें तालिबान ने रोक दिया है। इनमें अमेरिकी नागरिक और ग्रीन कार्ड धारक भी हैं। महिला ने बताया कि वे उत्तरी शहर मजार-ए-शरीफ से निकलने के लिए विशेष विमान में सवार होने का इंतजार कर रहे हैं और करीब एक सप्ताह से होटल और आवासीय हॉल में ठहरे हुए हैं। 

महिला ने बताया, ‘‘हमें लग रहा है कि हम किसी जेल में हैं।" उन्होंने बताया कि देश से निकलने वाले लोगों में शामिल अमेरिकी नागरिकों से मुलाकात की और उनकी उम्र 70 के करीब है और अधिक असुरक्षित हैं। वे अमेरिका में रह रहे अफगान-अमेरिकी के माता-पिता हैं। तालिबान के अधिकारियों ने कहा कि वे उचित पासपोर्ट और अन्य दस्तावेज धारक लोगों को देश छोड़ने की अनुमति देंगे। 

इस बीच, अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन ने मंगलवार को रिपब्लिकन सांसदों के उन दावों को खारिज किया जिसमें कहा गया था कि अमेरिका द्वारा सैनिकों और राजनयिकों को निकालने के बाद मजार-ए-शरीफ में बंधक जैसी स्थिति है। एसोसिएटेड प्रेस से बात करने वाली महिला ने बताया कि उनके समूह के पास उचित पासपोर्ट और वीजा है लेकिन तालिबान उन्हें हवाई अड्डे जाने नहीं दे रहा हैं। महिला ने बताया कि वह होटल के महिला वाले हिस्से से पिछले सप्ताह तब भाग गई थी जब उसने सुना कि तालिबान देश छोड़ने वाले संभावित लोगों की तलाश कर रहा है और कुछ को अपने साथ ले गया है।

ये भी पढ़ें

bigg boss 15