Wednesday, May 22, 2024
Advertisement

22 जनवरी को श्रीराम मंदिर उद्घाटन के अवसर पर अयोध्या में जुटेंगे ये 55 देश, पीएम मोदी ने भेजवाया निमंत्रण

अयोध्या में श्रीराम मंदिर उद्घाटन को अंतरराष्ट्रीय बनाने की पूरी प्लानिंग हो चुकी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से 55 देशों को श्रीराम लला की प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम में 22 जनवरी को शामिल होने के लिए निमंत्रण भेजवाया गया है। जगह कम होने के कारण कई अन्य देशों को नहीं बुलाया गया।

Edited By: Dharmendra Kumar Mishra @dharmendramedia
Published on: January 14, 2024 18:33 IST
अयोध्या में निर्माणाधीन श्रीराम मंदिर।- India TV Hindi
Image Source : PTI अयोध्या में निर्माणाधीन श्रीराम मंदिर।

श्री धाम अयोध्या में 22 जनवरी को राम मंदिर का उद्घाटन भव्य और अंतरराष्ट्रीय होने वाला है। इस दिन अयोध्या में 55 देशों के 100 से ज्यादा प्रतिनिधि भी श्रीराम लला की प्राण प्रतिष्ठा के साक्षी बनेंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से इन सभी देशों को निमंत्रण भेज दिया गया है। एएनआइ की रिपोर्ट के अनुसार स्वामी विज्ञानानंद ने कहा कि हमने प्रभु श्रीराम की वंशज कोरियाई रानी को भी आमंत्रित किया है। वहीं 55 देशों के 100 गणमान्य व्यक्तियों में वहां के प्रमुख प्रतिनिधि व राजदूत शामिल होंगे। 

विश्व हिंदू फाउंडेशन के संस्थापक और वैश्विक अध्यक्ष स्वामी विज्ञानानंद ने रविवार को कहा कि 22 जनवरी को अयोध्या में राम मंदिर में 'प्राण प्रतिष्ठा' समारोह में राजदूतों और सांसदों सहित 55 देशों के लगभग 100 प्रमुखों को आमंत्रित किया गया है। इनमें अर्जेंटीना, ऑस्ट्रेलिया, बेलारूस, बोत्सवाना, कनाडा, कोलंबिया, डेनमार्क, डोमिनिका, डेमोक्रेटिक रिपब्लिक ऑफ कांगो (डीआरसी), मिस्र, इथियोपिया, फिजी, फिनलैंड, फ्रांस, जर्मनी, घाना, गुयाना, हांग शामिल हैं। कोंग, हंगरी, इंडोनेशिया, आयरलैंड, इटली, जमैका, जापान, केन्या, कोरिया, मलेशिया, मलावी, मॉरीशस, मैक्सिको, म्यांमार, नीदरलैंड, न्यूजीलैंड, नाइजीरिया, नॉर्वे, सिएरा लियोन, सिंगापुर, दक्षिण अफ्रीका, स्पेन, श्रीलंका , सूरीनाम, स्वीडन, ताइवान, तंजानिया, थाईलैंड, त्रिनिदाद और टोबैगो, वेस्ट इंडीज, युगांडा, यूके, यूएसए, वियतनाम और जाम्बिया जैसे देश शामिल हैं।

20 जनवरी से पहुंचने लगेंगे विदेशी मेहमान

संगठन के अंतरराष्ट्रीय मामलों को देखने वाले वीएचपी के संयुक्त महासचिव स्वामी विज्ञानानंद के अनुसार कई देशों के प्रमुख राम मंदिर कार्यक्रम में भाग लेंगे। "कोहरे और मौसम की स्थिति के कारण प्रतिनिधियों से कार्यक्रम से पहले भारत आने का अनुरोध किया गया है।" ऐसे में विदेशी मेहमान 20 जनवरी से ही अयोध्या पहुंचने लगेंगे। उन्होंने कहा कि पहले 55 देशों से भी अधिक विदेशी मेहमानों को आमंत्रित करने की योजना बनाई थी, लेकिन जगह छोटी होने के कारण उन्हें मेहमानों की सूची में कटौती करनी पड़ी। भव्य मंदिर के उद्घाटन के लिए तैयारियां जोरों पर चल रही हैं, जिसमें गणमान्य व्यक्ति और सभी क्षेत्रों के लोग शामिल होंगे।

16 जनवरी से अयोध्या में होगा ये विशेष अनुष्ठान

श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने 22 जनवरी को दोपहर में राम मंदिर के गर्भगृह में राम लला को विराजमान करने का निर्णय लिया है। अयोध्या में राम लला के प्राण-प्रतिष्ठा समारोह के लिए वैदिक अनुष्ठान एक सप्ताह पहले यानि16 जनवरी से शुरू हो जाएंगे। मुख्य समारोह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आगमन के बाद 22 जनवरी को होगा। पीएम मोदी मंदिर के गर्भगृह के अंदर श्री राम लला की औपचारिक स्थापना की अध्यक्षता करेंगे। इससे पहले गत शुक्रवार को पीएम मोदी ने अयोध्या के राम मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा समारोह से पहले 11 दिवसीय विशेष 'अनुष्ठान' की घोषणा की थी। प्रधानमंत्री ने 22 जनवरी को पूरे देशवासियों से श्रीराम ज्योति की दीपमालिका जलाकर दिवाली मनाने का भी आह्वान किया है। 

यह भी पढ़ें

अयोध्या में प्राण प्रतिष्ठा समारोह को लेकर भगवान राम की ससुराल जनकपुर में क्या हैं भव्य तैयारियां, पढ़ें ये रिपोर्ट

चीन से लौटते ही मेयर चुनाव में पार्टी की हार से बौखलाए मालदीव के राष्ट्रपति मुइज्जू, भारत को दिया 15 मार्च तक का अल्टीमेटम

Latest World News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Asia News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement