रूस ने फिर दिखाई बर्बरता, अपने देश के खिलाफ काम नहीं करने पर यूक्रेन के कंडक्टर को मार दी गोली

Ukrainian Conductor Shot Dead by Russian Army:यूक्रेन के साथ नौ महीने से चल रहे युद्ध में रूसी बर्बरता की एक और बड़ी घटना सामने आई है। अपने देश के खिलाफ जाकर रूसियों का सहयोग नहीं करने पर रूसी सैनिकों ने यूक्रेन के कंडक्टर यूरी केरपेटेंको को बुरी तरह से गोली मार दी।

Dharmendra Kumar Mishra Written By: Dharmendra Kumar Mishra @dharmendramedia
Published on: November 20, 2022 7:23 IST
यूरी केरपेटेंको (फाइल फोटो)- India TV Hindi
Image Source : इंटरनेट मीडिया यूरी केरपेटेंको (फाइल फोटो)

Ukrainian Conductor Shot Dead by Russian Army:यूक्रेन के साथ नौ महीने से चल रहे युद्ध में रूसी बर्बरता की एक और बड़ी घटना सामने आई है। अपने देश के खिलाफ जाकर रूसियों का सहयोग नहीं करने पर रूसी सैनिकों ने यूक्रेन के कंडक्टर यूरी केरपेटेंको को बुरी तरह से गोली मार दी। अंतरराष्ट्रीय मीडिया रिपोर्टों के अनुसार यूरी केरपेटेंको ने अपने गृहनगर दक्षिणी खेरसोन पर रूस के कब्जे का भी विरोध किया था।

यूरी केरपेटेंको दक्षिणी खेरसोन में फिलहारमोनिक थिएटर भी चलाते थे। रूसियों ने जब खेरसोन पर कब्जा किया था तो वह शहर में रूसियों के आने के बाद बार-बार संगीत बजाने को कहते थे। मगर यूरी ने इससे भी इंकार कर दिया था।

रिपोर्टों के मुताबिक रूसियों के साथ सहयोग करने से इनकार करने के बाद यूक्रेन के कंडक्टर यूरी केरपेटेंको को बुरी तरह से गोली मार दी गई। इससे पूरे इलाके में दहशत फैल गई है। रूसी सैनिकों की इस कार्रवाई का यूक्रेन में विरोध बी हो रहा है। एक यूक्रेनी कंडक्टर यूरी ने अपने गृह नगर दक्षिणी खेरसोन पर रूसी कब्जे के शुरू से ही विरोधी थे। यह बात रूसियों को बुरी लग रही थी। वह जबरन यूरी को अपने पक्ष में करना चाहते थे। मगर यूरी ने ऐसा नहीं किया। हर मामले में रूसियों का विरोध करना यूरी को भारी पड़ गया। अब रूसी बलों ने यूरी को उनके ही दरवाजे पर गोली मार दी।

रूस की निंदा के बदले मिली मौत
लंदन के संडे टाइम्स के अनुसार यूरी केरपेटेंको दक्षिणी शहर खेरसॉन में फिलहारमोनिक थियेटर का नेतृत्व कर रहे थे। उन्होंने मार्च में शहर में रूसियों के आने के बाद बार-बार संगीत समारोह स्थल पर काम करने से इनकार कर दिया था। साथ ही 46 वर्षीय केरपेटेंको ने सोशल मीडिया पर रूसी आक्रमण की निंदा करना जारी रखा था। यूरी ने लिखा था कि रूसी उनके पास आए थे और उन्हें अपनी सेना में भर्ती करने की कोशिश की थी। यूरी के थिएटर के मुख्य तकनीशियन अनातोली ने इस सप्ताह लंदन के संडे टाइम्स को बताया। "वह (यूरी) बहुत गर्म स्वभाव का है, वह भावुक है, बहुत भावुक है। अगर उसने एक बार 'नहीं' कहा होता, तो वह इसे दूसरी बार नहीं दोहराता।

रूसी सैनिकों ने थिएटर में 9 सितंबर को की थी जन्मदिन पार्टी
रूसी कब्जे वाली ताकतों ने 9 सितंबर को यूरी के ही थिएटर में एक जन्मदिन की पार्टी भी आयोजित की थी, लेकिन केरपेटेंको ने उनके शासन में संगीत कार्यक्रम आयोजित करने से इनकार करना जारी रखा।
तीन हफ्ते बाद 28 सितंबर को रूसियों द्वारा अपने कब्जे को वैध बनाने के लिए एक नकली जनमत संग्रह आयोजित किया गया। इसी के एक दिन बाद रूसी सैनिकों ने कंडक्टर के अपार्टमेंट में तीन सीढ़ियां  चढ़ीं और छह राउंड गोलियों के साथ यूरी को भून दिया। पड़ोसियों ने सूचना दी कि जब केरपेटेंको खून से लथपथ पड़ा था तो उसके हाथों में असाल्ट राइफल थी। उन्होंने बताया कि उनका मानना ​​है कि रूसी सैनिकों ने उन्हें हमलावर दिखाने के लिए हथियार लगाया था।

Latest World News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Europe News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन