1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. एजुकेशन
  4. उच्च शिक्षा के लिए भारतीय छात्रों के लिए टॉप च्वॉयस है अमेरिका

उच्च शिक्षा के लिए भारतीय छात्रों के लिए टॉप च्वॉयस है अमेरिका

कोरोनावायरस महामारी के बावजूद, करीब 2 लाख भारतीय छात्र-छात्राओं ने 2019-20 में उच्च शिक्षा लेने के लिए अमेरिका को चुना। इस बात का खुलासा हुआ है ओपन डोर्स रिपोर्ट ऑफ इंस्टीट्यूट ऑफ इंटरनेशनल एडुकेशन (आईआईई) से, जो सोमवार को रिलीज हुई।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: November 17, 2020 13:56 IST
- India TV Hindi
Image Source : GOOGLE America is the top choice for Indian students for higher education  

नई दिल्ली। कोरोनावायरस महामारी के बावजूद, करीब 2 लाख भारतीय छात्र-छात्राओं ने 2019-20 में उच्च शिक्षा लेने के लिए अमेरिका को चुना। इस बात का खुलासा हुआ है ओपन डोर्स रिपोर्ट ऑफ इंस्टीट्यूट ऑफ इंटरनेशनल एडुकेशन (आईआईई) से, जो सोमवार को रिलीज हुई। रिपोर्ट के मुताबिक, अमेरिका में विदेशी विद्यार्थियों की कुल संख्या 10 लाख का 20 प्रतिशत भारतीय हैं। पिछले कुछ दशकों में अमेरिका में भारतीय छात्रों की संख्या में लगातार वृद्धि देखी जा रही है।

सार्वजनिक मामलों के मंत्री डेविड कैनेडी ने कहा, पिछले 10 वर्षों में अमेरिका में पढ़ने वाले भारतीयों की संख्या लगभग दोगुनी हो गई है। हम जानते हैं कि क्यों ऐसा है। अमेरिका उच्च शिक्षा के लिए गोल्ड स्टैंडर्ड है जो व्यावहारिक शिक्षा देता है जो भारतीय छात्रों को वैश्विक अर्थव्यवस्था में काफी फायदेमंद है।

भारतीय छात्रों की सहायता के लिए, यूएस डिपार्टमेंट ऑफ स्टेट ने पूरे भारत में यूनाइटेड स्टेट्स-इंडिया एजुकेशनल फाउंडेशन (यूएसआईईएफ) के सात सलाह केंद्र खोल रखे हैं। ये सलाह केंद्र नई दिल्ली, हैदराबाद, चेन्नई, कोलकाता, बेंगलुरू, अहमदाबाद और मुंबई में स्थित हैं।

एजुकेशनयूएसए 170 देशों के सलाह केंद्रों का एक वैश्विक नेटवर्क है, जो यूएस डिपार्टमेंट ऑफ स्टेट ऑफ ब्यूरो ऑफ एजुकेशनल एंड कल्चरल अफेयर्स (ईसीए) द्वारा प्रमाणित है। यूनाइटेड स्टेट्स-इंडिया एजुकेशनल फाउंडेशन (यूएसआईईएफ) - फुलब्राइट कमिशन ऑफ इंडिया, दो देशों का एक संगठन है जो शैक्षिक और सांस्कृतिक आदान-प्रदान के माध्यम से अमेरिका और भारत के बीच आपसी समझ को बढ़ावा देता है।

अगले साल की शुरूआत में, हैदराबाद में वाई-एक्सिस फाउंडेशन का एक दूसरा एजुकेशनयूएसए केंद्र खुल रहा है। सभी केंद्र शिक्षाविद सलाहकारों द्वारा नियुक्त किए गए हैं जो अमेरिका में अध्ययन के अवसरों के बारे में जानकारी देते हैं, जिससे भारतीय छात्रों को अमेरिका में 4,500 मान्यता प्राप्त उच्च-शिक्षा संस्थानों में से सबसे अच्छा कार्यक्रम और सही कोर्स चुनने में मदद मिलती है।

इन कार्यक्रमों में लगभग 50,000 प्रतिभागी सालाना भाग लेते हैं, जिनमें प्रमुख हैं फुलब्राइट कार्यक्रम और अंतर्राष्ट्रीय आगंतुक नेतृत्व कार्यक्रम। ईसीए छात्रों के लिए वित्तीय जरूरतों की मदद भी करता है। दुनिया भर में 400 से अधिक सलाह केंद्र हैं जो एजुकेशनयूएसए का एक बड़ा नेटवर्क है। अमेरिका में पढ़ने वालों के लिए यह काफी उपयोगी है।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। उच्च शिक्षा के लिए भारतीय छात्रों के लिए टॉप च्वॉयस है अमेरिका News in Hindi के लिए क्लिक करें एजुकेशन सेक्‍शन
Write a comment