Wednesday, May 22, 2024
Advertisement

Explainer: ब्रिटेन में हुआ दुनिया का सबसे खौफनाक Murder, शख्स ने किए पत्नी के 224 टुकड़े...जानें किन मनोवृत्तियों से आती है ऐसी क्रूरता

ब्रिटेन में दिल दहला देने वाली वारदात सामने आई है, जहां एक शख्स ने सैकड़ों बार चाकुओं से वार करके अपनी पत्नी के 224 टुकड़े कर दिए। अब उसे 8 अप्रैल को सजा सुनाई जाएगी। हत्यारे ने पत्नी का मर्डर करने के पीछे कोई वजह नहीं बताई है। मगर उसका इतिहास जानवरों के प्रति भी क्रूरता का रहा है।

Edited By: Dharmendra Kumar Mishra @dharmendramedia
Updated on: April 07, 2024 16:08 IST
प्रतीकात्मक फोटो- India TV Hindi
Image Source : AP प्रतीकात्मक फोटो

Explainer: ब्रिटेन में एक शख्स ने दुनिया की सबसे खौफनाक हत्या को अंजाम दिया है। इस मर्डर के बारे में जानकर आपके रोंगटे खड़े हो जाएंगे, आपके दिल की धड़कनें बढ़ जाएंगी, आपका दिमाग चकरा जाएगा। मर्डर की इस डरावनी वारदात में एस शख्स ने अपनी पत्नी के 224 टुकड़े कर डाले। इसके बाद उसके शरीर के हर टुकड़े को प्लास्टिक की थैलियों में भरकर नदी में फेंक दिया। इस क्रूर हत्यारे की उम्र अभी महज 28 वर्ष है। बताया जा रहा है कि इसने अपनी पत्नी पर सैकड़ों बार चाकू से वार किया और फिर उसके शरीर को 224 टुकड़ों में काट डाला। इस हत्या ने ब्रिटेन समेत पूरी दुनिया को स्तब्ध कर दिया है। आरोपी ने बिना कोई कारण बताए हत्या करना कबूल कर लिया है। अब 8 अप्रैल को सजा सुनाई जाएगी। इस तरह की मनोवृत्तियां आखिर कैसे लोगों में आ जाती हैं, इस बारे में भी आपको मनोचिकित्सक की राय भी बताएंगे। मगर पहले जान लीजिए की ये घटना कैसे और कब हुई।

 जानकारी के अनुसार ब्रिटेन में यह घटना 25 मार्च 2023 को हुई, जब 26 वर्षीय महिला होली ब्रैमली के अवशेष उसके लापता होने की रिपोर्ट के आठ दिन बाद बासिंघम, लिंकनशायर के विथम नदी में पाए गए थे। ब्रैमली के शरीर के टुकड़ों को देखकर ब्रिटेन पुलिस के भी होश उड़ गए। भारत में भी दिल्ली का श्रद्धा मर्डर केस आपको याद होगा, जिसमें शख्स ने प्रेमिका के 35 टुकड़े करके शव को फ्रीज में रख दिया। फिर उसे एक-एक कर ठिकाने लगाया। मुंबई का सरस्वती मर्डर केस इससे भी जघन्य था, जिसमें प्रेमी ने अपनी लिव-इन-पार्टनर के टुकड़े-टुकड़े करके उसे कुकर में उबाल लिया। इसी तरह कई और उदाहरण भी देश दुनिया में क्रूरतम हत्या के मिल जाएंगे। आखिर हत्या की ऐसी मनोवृत्तियां किसी इंसान में कैसे विकसित हो रही हैं, इस बारे में बता रहे हैं जाने-माने मनोचिकित्सक और कल्याण सिंह कैंसर संस्थान लखनऊ के मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ. देवाशीष शुक्ला...

इमोशन खत्म होने और डिप्रेशन चरम पर होने से होती है ऐसी घटनाएं

डॉ. देवाशीष शुक्ला कहते हैं कि ऐसी घटनाओं को कोई व्यक्ति तब अंजाम देता है, जब उसका इमोशन पूरी तरह से खत्म हो जाता है और डिप्रेशन चरम पर पहुंच जाता है। इसकी शुरुआत तब से ही हो जाती है, जब व्यक्ति जिस माहौल में रहता है, जहां पैदा हुआ। उसके आसपास का वातावरण क्या है। अगर कोई व्यक्ति रोज आसपास मर्डर देख रहा है या ऐसे लोगों से जुड़ा है, जहां ऐसी वारदातों को करने में कोई हिचक नहीं है। कई बार वह इस तरह की फिल्में आदि भी देखता है तो वह ऐसी वारदातों को अंजाम देने में जरा नहीं हिचकता या फिर वह विभिन्न वजहों से डिप्रेशन की उस स्टेज में पहुंच चुका है, जहां से उसे पूरी दुनिया काल्पनिक लगने लगती है।

व्यक्ति तब ये सोचने लगता है कि या तो वह दुनिया को मार दे या फिर वह खुद मर जाए, तो वह ऐसी क्रूरता करता है। वह मरने-मारने पर हमेशा उतारू रहता है। उसकी मनोवृत्तियां अति हिंसक हो जाती हैं। ऐसे व्यक्ति का व्यवहार असमान्य हो जाता है। उसके बातचीत, व्यवहार, रहन-सहन, भाव-भंगिमा में यह परिवर्तन बहुत पहले से महसूस किया जा सकता है। यदि उस वक्त उसके घर-परिवार का कोई व्यक्ति, मित्र काउंसलिंग कर दे या कुशल मनोचिकित्सक से इलाज शुरू करा दे तो ऐसी परिस्थितियों से बचा जा सकता है। 

कोर्ट ने हत्यारे को कहा दुष्ट राक्षस

लिंकनशायर पुलिस के अनुसार 28 वर्षीय आरोपी की पहचान लिंकन शहर के निकोलस मेटसन के रूप में हुई है, जिसने पहले तो अपनी पत्नी की हत्या से इनकार किया था। मगर बाद में उसने अपराध को करना स्वीकार कर लिया। उसके दोस्त जोशुआ हैनकॉक (28) ने भी शव को ठिकाने लगाने का अपराध स्वीकार कर लिया है। बीबीसी की रिपोर्ट के अनुसार, लिंकन क्राउन कोर्ट में शुक्रवार को सजा की सुनवाई के दौरान, यह पता चला कि हैनकॉक मेटसन का दोस्त था, और उसने शरीर के टुकड़ों को ठिकाने लगाने के लिए पैसे लिए थे। हत्या के बाद लगभग एक सप्ताह तक इन टुकड़ों को छुपाकर रखा गया था। मेटसन को पहले 2013, 2016 और 2017 में भी अपनी पूर्व पत्नियों के खिलाफ अपराधों के लिए दोषी ठहराया गया था। उसने अदालत को बताया गया कि 2021 में शादी करने वाला यह जोड़ा अलग होने की कगार पर था। बाद में  मेटसन ने लिंकन में एक अपार्टमेंट में ब्रैमली को बार-बार चाकू से मारा। शुक्रवार की सुनवाई के दौरान ब्रैमली की मां और बहन द्वारा पढ़े गए पीड़ित प्रभाव बयानों में मेटसन को एक "दुष्ट राक्षस" के रूप में वर्णित किया गया, जिसने उसे "जबरदस्ती नियंत्रण और हेरफेर" के अधीन किया। बयानों में यह भी कहा गया कि जोड़े की 16 महीने की शादी "असाधारण रूप से टूट गई"।

जानवरों के प्रति भी बेहद क्रूर था मेटसन

द डेली मेल की खबर के अनुसार अपनी पत्नी के 224 टुकड़े करने वाला मेटसन का इतिहास जानवरों के प्रति भी क्रूरता का। वह अक्सर एक पिल्ला और हैम्स्टर सहित अपने पालतू जानवरों को मारकर अपनी पत्नी को "दंडित" करता था। सुनवाई में, एक अभियोजक ने अदालत को बताया कि लिंकनशायर पुलिस को 24 मार्च, 2023 को एक कॉल मिली, जिसमें ब्रैमली की सुरक्षा पर चिंता व्यक्त की गई, जिसके बाद एक टीम को जोड़े के अपार्टमेंट में भेजा गया। जब पुलिस टीम उनके घर पहुंची तो मेटसन ने दरवाजा खोला और अधिकारियों को बताया कि वह घरेलू दुर्व्यवहार का शिकार था और ब्रैमली ने पिछले सप्ताहांत में उसके साथ मारपीट की थी।

 अभियोजक ने अदालत को बताया कि उसने अधिकारियों को अपनी बांह पर काटने का निशान भी दिखाया और कहा कि उसकी पत्नी 19 मार्च को एक स्थानीय मानसिक स्वास्थ्य सहायता समूह के साथ घर छोड़कर चली गई थी। हालांकि, जब पुलिस ने 25 मार्च को फिर से घर का दौरा किया, तो उन्हें बाथ टब में खून से सनी चादरें, मुख्य शयनकक्ष में फर्श पर बड़े काले दाग, रसोई में एक आरी, अमोनिया और ब्लीच की तेज़ गंध भी मिली। 

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। News in Hindi के लिए क्लिक करें Explainers सेक्‍शन

Advertisement
Advertisement
Advertisement