ye-public-hai-sab-jaanti-hai
  1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. हेल्थ
  4. बच्चों को प्रदूषण के साथ ओमिक्रॉन का खतरा, स्वामी रामदेव से जानिए बच्चों के लंग्स-हार्ट को कैसे बनाएं स्ट्रांग?

बच्चों को प्रदूषण के साथ ओमिक्रॉन का खतरा, स्वामी रामदेव से जानिए बच्चों के लंग्स-हार्ट को कैसे बनाएं स्ट्रांग?

प्रदूषण के अलावा कोरोना का नया वेरियंट ओमिक्रॉन भी बच्चों के लिए खतरा साबित हो सकता है। जानिए कैसे रखें बच्चों को हेल्दी।

India TV Health Desk Written by: India TV Health Desk
Published on: December 02, 2021 9:54 IST
Yoga for children pollution omicron- India TV Hindi
Image Source : INDIA TV Yoga for children pollution omicron

Highlights

  • प्रदूषण से 15 साल से कम 93% बच्चे प्रभावित
  • साउथ एशिया में हर साल 1 लाख 30 हजार मौत
  • ओमिक्रॉन का भी बच्चों पर असर

कोरोना का मामले कम होते हुए स्कूल खुलना शुरू हो गए हैं, जिसके कारण घरों में कैद बच्चे बाहर निकल रहे हैं। लैपटॉप कंप्यूटर में सिमटी दुनिया दोबारा से पटरी पर आ रही है और ये राहत की बात भी है। लेकिन खतरा टला नहीं है बल्कि पॉल्यूशन और ओमिक्रॉन की वजह से खतरा डबल हो गया है। 

भारत में 15 साल से कम उम्र के लगभग 93 प्रतिशत बच्चे जहरीली हवा में सांस लेते हैं। भारत समेत साउथ एशिया में हर साल करीब 1 लाख 30 हजार बच्चों के जान जाने की वजह  वायु प्रदूषण है।

प्रदूषण न सिर्फ बच्चे के हार्ट, लंग्स को नुकसान नहीं पहुंचाता बल्कि एम्स की स्ट़डी की मानें तो पॉल्यूशन से  बच्चों की ब्रेन ग्रोथ भी इफेक्ट होती है।  डॉक्टर्स के मुताबिक हवा में मौजूद टॉक्सिन एलिमेंट से जन्म लेने वाले बच्चों में ऑटिज्म़, हाइपरएक्टिव डिसॉर्डर तो हो ही सकता है। इसके साथ ही छोटे बच्चों में डिप्रेशन और बिहेवियर इश्यूज भी हो सकते हैं। 

प्रदूषण- स्मॉग से खतरे में जिंदगी, स्वामी रामदेव से जानिए ज़हरीली हवा से कैसे बचाएं फेफड़े

पॉल्यूशन तो एक पहलू है। कोरोना का नया वेरियंट ओमिक्रॉन भी बच्चों के लिए खतरा साबित हो सकता है।  दरअसल ओमिक्रॉन को तेजी से फैलने वाला वेरियंट माना जा रहा है और भारत में फिलहाल बच्चों के वैक्सीनेशन की

शुरुआत नहीं हुई है। 

नेशनल इंस्टीट्यूट फॉर कम्युनिकेबल डिजीज के मुताबिक ओमिक्रॉन के शिकार देशों में पहले वेरियंट के मुताबिक इस बार 2 साल के कम उम्र के बच्चे के अस्पताल में ज्यादा एडमिट हो रहे हैं यानी कि ये बच्चों पर डबल खतरा है। ऐसे में सुरक्षा भी डबल होनी चाहिए। 

बच्चों की वैक्सीनेशन आने के बाद उसे लगवाना है और साथ में योग करना है। क्योंकि योग से ना सिर्फ बच्चों के लंग्स प्यूरीफाई होंगे बल्कि  दिमाग, हार्ट भी मजबूत होगा। स्वामी रामदेव से जानिए बच्चों के लिए कारगर योगासन, प्राणायाम और खानपान। 

रोजाना सुबह-सुबह करें इस होममेड जूस का सेवन, बीमारियां पास नहीं फटकेंगी

प्रदूषण का ब्रेन पर असर

ऑटिज्म
हाइपर एक्टिव डिसऑर्डर
बिहेवियर प्रॉब्लम
डिप्रेशन

बच्चों को फिट रखने के लिए योगासन

ताड़ासन

  • रक्त संचार सही से होता है। 
  • घुटनों, टखने मजबूत होते हैं।
  • दर्द-थकान दूर होता है।
  • रोज अभ्यास से लंबाई बढ़ती है।  

तिर्यक ताड़ासन

  1. रोज करने से शरीर काफी लचीला होता है
  2. कमर की चर्बी पूरी तरह खत्म हो जाती है
  3. कद बढ़ाने में भी मदद मिलती है
  4. वजन घटाने में मदद मिलता है
  5. मन को शांत रखने में सहायक

वृक्षासन

  1. बच्चों की एकाग्रता बढ़ती है
  2. पैरों की मांसपेशियां मजबूत होती हैं
  3. सीने को चौड़ा और मजबूत करता है
  4. शरीर को लचीला बनाने में कारगर
  5. रीढ़ की हड्डी मजबूत बनती है
  6. आंख और नाक स्वस्थ होते हैं

गरुड़ासन

  1. पैर के मसल्स मजबूत होते हैं
  2. दोनों घुटनों के बीच कैप होता है
  3. फ्लैट लेग की समस्या दूर होती है
  4. एकाग्रता में सुधार आता है

सूर्य नमस्कार

  1. डिप्रेशन दूर करता है
  2. एनर्जी लेवल बढ़ाने में सहायक
  3. वजन बढ़ाने में मददगार योगासन
  4. शरीर को डिटॉक्स करता है
  5. रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है
  6. पाचन तंत्र बेहतर होता है
  7. शरीर को ऊर्जा मिलती है
  8. मोटापा कम करने में कारगर
  9. हाइट बढ़ाने में मददगार
  10. फेफड़ों तक पहुंचती है ज्यादा ऑक्सीजन

यौगिक जॉगिंग

  1. बॉडी में एनर्जी आती है। 
  2. वजन कम करने में मददगार है।
  3. शरीर को मजबूत बनाता है।
  4. बॉडी फ्लेक्सिबल बनती है।
  5. हाथ-पैर मजबूत होते हैं।

पादहस्तासन

  • दिल से जुड़ी बीमारी
  • पेट की चर्बी
  • लंबाई बढ़ाने
  • दिमाग में रक्त का संचार में फायदेमंद

भुजंगासन

  • किडनी को स्वस्थ बनाता है
  • लिवर से जुड़ी दिक्कत दूर होती है 
  • तनाव, चिंता, डिप्रेशन दूर करता है
  • कमर का निचला हिस्सा मजबूत होता है
  • फेफड़ों, कंधों, सीने को स्ट्रेच करता है
  • रीढ़ की हड्डी मजबूत होती है
  • छाती चौड़ी होती है

मंडूकासन

  1. डायबिटीज को दूर करता है 
  2. पेट और हृदय के लिए भी लाभकारी
  3. कंसंट्रेशन बढ़ता है
  4. पाचन तंत्र सही होता है 
  5. लिवर, किडनी को स्वस्थ रखता है

योगमुद्रासन

  1. कब्ज की समस्या दूर होती है
  2. गैस से छुटकारा मिलता है
  3. पाचन की परेशानी दूर होती है
  4. छोटी-बड़ी आंते सक्रिय होती हैं

वक्रासन

  1. पेट पर पड़ने वाला दबाव फायदेमंद
  2. कैंसर की रोकथाम में कारगर
  3. पेट की कई समस्याओं में राहत
  4. पाचन क्रिया ठीक रहती है
  5. कब्ज ठीक होती है 

उष्ट्रासन

  1. किडनी को स्वस्थ बनाता है
  2. मोटापा दूर करने में सहायक
  3. शरीर का पोश्चर सुधरता है
  4. पाचन प्रणाली को ठीक होती है
  5. टखने के दर्द को दूर भगाता है

पश्चिमोत्तासन

  1. इम्यूनिटी मजबूत होती है
  2. साइनस की बीमारी में आराम मिलता है 
  3. डायबिटीज कंट्रोल होती है 
  4. सिरदर्द की समस्या में आराम देता है 
  5. मोटापा कम करने में मददगार 

शीर्षासन

  1. शीर्षासन से डिप्रेशन दूर होता है
  2. चेहरे में चमक आती है, सुंदरता बढ़ती है
  3. त्वचा मुलायम और खूबसूरत बनती है
  4. मानसिक शांति और स्मरण शक्ति बढ़ती है
  5. दिमाग में ब्लड सर्कुलेशन बढ़ाता है 
  6. आंखों की रोशनी बढ़ाने में कारगर

सर्वांगासन

  1. दिल तक शुद्ध रक्त पहुंचता है
  2. एकाग्रता बढ़ाने में मदद मिलती है
  3. याद की हुई चीजें भूलते नहीं
  4. ब्रेन में एनर्जी का फ्लो बेहतर
  5. आंखों पर चश्मा नहीं चढ़ेगा
  6. थायराइड  ग्लैंड एक्टिव होता है
  7. हाथ-कंधे मजबूत बनते हैं
  8. ब्रेन को पर्याप्त ब्लड मिलता है
  9. हार्ट मसल्स एक्टिव होता है

हलासन

  1. इस आसन से दिमाग शांत होता है 
  2. थायराइड की बीमारी ठीक होती है 
  3. स्ट्रेस और थकान मिटाता है
  4. रीढ़ की हड्डी में खिंचाव आता है 
  5. डायबिटीज़ की परेशानी दूर होती है 

मर्कटासन

  1. रीढ़ की हड्डी लचीली बनती है
  2. पीठ का दर्द दूर हो जाता है
  3. फेफड़ों के लिए फायदेमंद 
  4. पेट संबंधी समस्या दूर होती है
  5. एकाग्रता बढ़ती है 
  6. गुर्दे, अग्नाशय, लीवर सक्रिय होते हैं

उत्तानपादासन

  1. डायबिटीज को करे कंट्रोल
  2. कब्ज की समस्या से दिलाए लाभ
  3. एसिडिटी में फायदेमंद

नौकासन

  1. शरीर की ऑक्सीजन बढ़ाए
  2. डायबिटीज को करे कंट्रोल
  3. टीबी, निमोनिया को करे ठीक
  4. शरीर में ऑक्सीजन का स्तर संतुलित रहता है
  5. नियमित अभ्यास से मोटापे में कमी
  6. पाचन शक्ति अच्छी रहती हैं
  7. पेट, कमर, पीठ मजबूत बनती है

सेतुबंधासन

  1. फेफड़ों को उत्तेजित करता है
  2. साइनस, अस्थमा के मरीजों को लाभ
  3. तनाव और डिप्रेशन कम करता है
  4. पीठ और सिर दर्द को दूर करता है
  5. नींद ना आने की बीमारी दूर करता है
  6. रीढ़ की हड्डी को मजबूत बनाता है
  7. हाई ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करे
  8. थायराइड में लाभकारी

बच्चों के लिए प्राणायाम

  1. कपालभाति
  2. अनुलोम विलोम
  3. उज्जायी
  4. उद्गीथ
  5. भ्रामरी
  6. भस्त्रिका

बच्चों के लिए सुपरफूड 

  • दूध

  • ड्राई फ्रूट

  • ओट्स

  • बींस

  • शकरकंद

  • मसूर की दाल

तेज़ दिमाग के लिए  बच्चे करें इन चीजों का सेवन

  1. ब्राह्मी
  2. शंखपुष्पी
  3. अश्वगंधा

बच्चों में 'इम्यूनिटी बूस्टर' टिप्स

  1. खट्टे फल खिलाएं
  2. विटामिन-C मिलेगा
  3. कुछ देर धूप में बिठाएं
  4. विटामिन-D बढ़ेगा
  5. हरी सब्जियां खिलाएं
  6. बच्चों को हल्दी वाला  
  7. नॉर्मल दूध पिलाएं
  8. दिन में एक बार गिलोय पिलाएं
  9. पीने के लिए गुनगुना पानी दें
  10. गुब्बारे फुलाने के लिए दें। इससे लंग्स की कैपिसिटी बढ़ेगी।
  11. बच्चों के साथ योग करें

Disclaimer: यह जानकारी आयुर्वेदिक नुस्खों के आधार पर लिखी गई है। इंडिया टीवी इनके सफल होने या इसकी सत्यता की पुष्टि नहीं करता है। इनके इस्तेमाल से पहले चिकित्सक का परामर्श जरूर लें।  

 

uttar-pradesh-elections-2022
elections-2022