1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. उत्तराखंड: उत्तरकाशी के मांडो गांव में फटा बादल, तीन की मौत, चार लापता

उत्तराखंड: उत्तरकाशी के मांडो गांव में फटा बादल, तीन की मौत, चार लापता

SDRF की टीम रेस्क्यू ऑपरेशन में जुटी हुई है। कई लोगों को रेस्क्यू कर अस्पताल पहुंचाया गया है। कहा जा रहा है कि अभी तीन लोग बादल फटने की वजह से ध्वस्त हुए मकानों के मलबे में दबे हुए हैं।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: July 19, 2021 9:32 IST
cloudburst in Uttrakhand Uttarkashi Mando village latest news उत्तराखंड: उत्तरकाशी का मांडो गांव में- India TV Hindi
Image Source : ANI उत्तराखंड: उत्तरकाशी के मांडो गांव में फटा बादल, तीन की मौत, चार लापता

देहरादून. पहाड़ी राज्य उत्तराखंड में बारिश की वजह से नदियां उफान पर हैं। राज्य के उत्तरकाशी के मांडो गांव में रविवार देर रात बादल फटने की वजह से तीन लोगों की मौत हो गई है जबकि चार लोग लापता बताए जा रहे हैं। लोकल मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबकि, बादल फटने की वजह से मांडो गांव के अलावा निराकोट, कंकराड़ी और पनवाड़ी गांव के घरों में पानी घुस गया। 

इस वक्त SDRF की टीम रेस्क्यू ऑपरेशन में जुटी हुई है। कई लोगों को रेस्क्यू कर अस्पताल पहुंचाया गया है। कहा जा रहा है कि अभी कई लोग बादल फटने की वजह से ध्वस्त हुए मकानों के मलबे में दबे हुए हैं।

राज्य के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धानी ने ट्वीट कर कहा कि रविवार शाम उत्तरकाशी जनपद के ग्राम कंकराड़ी, मांडों में अतिवृष्टि/बादल फटने की दुःखद घटना हुई है। जिला प्रशासन, एसडीआरएफ, पुलिस मौके पर पहुंच गयी है। डीएम को राहत और बचाव कार्य शीर्ष प्राथमिकता पर करने के निर्देश दिए हैं। ईश्वर से प्रभावितों की कुशलता की कामना करता हूँ।

उत्तरकाशी के जिला आपदा प्रबंधन अधिकारी देवेंद्र पटवाल ने बताया कि उत्तरकाशी जिले के गंगोरी रोड पर मांडव गांव में रविवार देर रात बादल फटने से घरों में मलबा घुस गया जिसमें एक ही परिवार की माधुरी देवी (36), ऋतु देवी (32) और उसकी तीन वर्षीय पुत्री तृष्वी की मृत्यु हो गई। तीनों के शव बरामद कर लिए गए हैं। 

उन्होंने बताया कि घटनास्थल के नजदीक कंकराडी गांव में भी मलबे में एक अन्य व्यक्ति के लापता होने की सूचना है जिसकी तलाश के लिए अभियान चलाया जा रहा है। मलबे में लोगों के फंसे होने की सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची पुलिस और राज्य आपदा मोचन बल की टीम ने तत्काल बचाव और राहत अभियान शुरू कर ज्यादातर लोगों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया।

इस बीच, उत्तराखंड सरकार के उपक्रम यूजेवीएन लिमिटेड की छिबरो जलविद्युत परियोजना में रविवार को फंसे दो मजदूरों को बाहर निकालने के प्रयास अभी जारी हैं। कालसी के पुलिस थानाध्यक्ष ऋतुराज सिंह ने बताया कि देहरादून जिले के विकासनगर क्षेत्र में स्थित परियोजना की सुरंग में सुबह तीन मजदूर काम करने गए थे जहां वे ऑक्सीजन की कमी के कारण बेहोश हो गए। हालांकि, होश में आने पर एक मजदूर बाहर आ गया जिसने दो और मजदूरों के वहां फंसे होने की सूचना दी।

पुलिस अधिकारी ने बताया कि दोनों मजदूरों को बाहर निकालने के लिए बचाव अभियान चलाया जा रहा है। उधर, प्रदेश के ज्यादातर स्थानों पर पिछले तीन दिन से रूक—रूक कर लगातार जारी बारिश से गंगा, यमुना, भागीरथी, अलकनंदा, मंदाकिनी, पिंडर, नंदाकिनी, टोंस, सरयू, गोरी, काली, रामगंगा आदि सभी नदियां उफान पर हैं जिनकी सतत निगरानी की जा रही है। अनेक स्थानों पर भारी बारिश से भूस्खलन होने से अनेक मार्ग यातायात के लिए अवरूद्ध हैं जिन्हें खोलने के प्रयास जारी हैं। कई स्थानों पर अतिवृष्टि से मकानों और खेतों में मलबा भी घुस आया है। 

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। National News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment
टोक्यो ओलंपिक 2020 कवरेज
X