ye-public-hai-sab-jaanti-hai
  1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राष्ट्रीय
  5. Child Vaccination: 15 से 18 साल के बच्चों को आज से लगेगी कोरोना वैक्सीन, जानिए - क्या हैं इंतजाम

Child Vaccination: 15 से 18 साल के बच्चों को आज से लगेगी कोरोना वैक्सीन, जानिए - देशभर में क्या हैं इंतजाम

देश में 15 से 18 साल के करीब 10 करोड़ बच्चे हैं, जिन्हें आज से वैक्सीन दी जा रही है। वैक्सीन की रेस में दो कंपनियां भारत बायोटेक और जायडस कैडिला हैं लेकिन बच्चों को फिलहाल भारत बायोटेक की कोवैक्सीन लगाई जा रही है।

IndiaTV Hindi Desk Written by: IndiaTV Hindi Desk
Updated on: January 03, 2022 7:08 IST
Child Vaccination- India TV Hindi
Image Source : PTI Child Vaccination: 15 से 18 साल के बच्चों को आज से लगेगी कोरोना वैक्सीन, जानिए - देशभर में क्या हैं इंतजाम

Highlights

  • सुबह 8 बजे से टीका लगाने का ये महाअभियान शुरू हो रहा है
  • कोविन एप के जरिए अब तक 8 लाख से ज्यादा रजिस्ट्रेशन हुए
  • देश में 15 से 18 साल के बच्चों को कोरोना वैक्सीन दी जा रही है

देश में कोरोना के खिलाफ जंग में आज बेहद अहम दिन है। आज से 15 से 18 साल उम्र के बच्चों को कोरोना से बचाव वाली वैक्सीन की पहली डोज लगने की शुरुआत होगी। देश भर में इस उम्र वर्ग के करीब 10 करोड़ से ज्यादा बच्चों को आज से वैक्सीन लगाने का सिलसिला शुरू हो रहा है। सुबह 8 बजे से टीका लगाने का ये महाअभियान शुरू हो रहा है। दिल्ली से लेकर मुंबई तक बच्चों के लिए वैक्सीन सेंटर पर विशेष इंतजाम किए गए हैं। कोविन एप के जरिए अब तक 8 लाख से ज्यादा लोगों ने अपने बच्चों की वैक्सीन के लिए रजिस्ट्रेशन कराया है।

फिलहाल देश में 15 से 18 साल के करीब 10 करोड़ बच्चे हैं जिन्हें आज से वैक्सीन दी जा रही है। वैक्सीन की रेस में दो कंपनियां भारत बायोटेक और जायडस कैडिला हैं लेकिन बच्चों को फिलहाल भारत बायोटेक की कोवैक्सीन लगाई जा रही है। बच्चों को कोवैक्सीन की 2 डोज़ लगाई जाएगीं और कोवैक्सीन की दोनों डोज़ में 21 दिन का अंतर रखा जाएगा। सरकारी अस्पतालों में वैक्सीन मुफ्त लगेगी, जबकि प्राइवेट अस्पतालों में 1200 से 1400 रुपये में वैक्सीन लगेगी।

 
कोरोना के खिलाफ लड़ाई में 25 दिसंबर को प्रधानमंत्री ने बच्चों के लिए बड़ा ऐलान किया था और इस ऐलान के साथ ही बच्चों के चेहरों पर मुस्कान आ गई थी। बच्चों के वैक्सीनेशन के फैसले ने अभिभावकों को तो खुश कर दिया है लेकिन बच्चों के दिल में एक डर है। कहीं वैक्सीन की सुई चुभेगी तो नहीं। कहीं दर्द तो नहीं होगा। इसलिए इस डर को मिटाने के लिए पूरी कोशिश की जा रही है। बच्चों को वैक्सीन लगवाना बोरिंग ना लगे इसका भी पूरा ख्याल रखा गया है।

देश के अलग-अलग राज्यों में वैक्सीन की व्यवस्था

  • बिहार में सीएम नीतीश कुमार पटना मेडिकल कॉलेज में बच्चों के टीकाकरण अभियान की शुरुआत करेंगे
  • यूपी के सीएम योगी ने भी अपील की है कि देश-प्रदेश को कोरोना मुक्त बनाने के लिए टीका ज़रूर लगवाएं
  • हरियाणा के अंबाला में बच्चों को वैक्सीन के लिए स्कूलों में भी ही व्यवस्था की गई है
  • मुंबई में वैक्सीन के लिए 25 जंबो सेंटर बनाए गए हैं और हर सेंटर पर 500 बच्चों को वैक्सीनेट करने का टारगेट रखा गया है
  • गोवा में 15-18 साल के 72 हज़ार बच्चों को टीका लगेगा और चार दिन में सभी को वैक्सीनेट करने का लक्ष्य रखा गया है

अस्पताल में भारी भीड़ होती है, ऐसे में बच्चों को अस्पताल में जाकर वैक्सीन लगाना खतरनाक हो सकता है। इसलिए अधिकतर राज्यों में बच्चों के लिए सेंटर अस्पताल से अलग बनाए गए हैं। पूरे देश में इस वक्त थर्ड वेब का खतरा एक बार फिर से मंडराने लगा है ऐसे में बच्चों को सुरक्षित रखना पूरे देश की जिम्मेदारी है। 

elections-2022