1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. राजनीति
  5. नवजोत सिद्धू को कैप्टन की दो टूक, कहा-मेरे खिलाफ चुनाव लड़ने के लिए स्वतंत्र, BJP नहीं लेगी वापस

नवजोत सिद्धू को कैप्टन की दो टूक, कहा-मेरे खिलाफ चुनाव लड़ने के लिए स्वतंत्र, BJP नहीं लेगी वापस

पंजाब में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनावों से पहले कांग्रेस पार्टी के बीच की कलह खुलकर सामने आ गई है। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और भाजपा छोड़ कांग्रेस में शामिल हुए नवजोत सिंह सिद्धू के बीच सब ठीक नहीं चल रहा है।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Updated on: April 27, 2021 23:58 IST
Amarinder Singh challenges Navjot Singh Sidhu to contest polls against him from Patiala- India TV Hindi
Image Source : FILE पंजाब में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनावों से पहले कांग्रेस पार्टी के बीच की कलह खुलकर सामने आ गई है।

चंडीगढ़: पंजाब में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनावों से पहले कांग्रेस पार्टी के बीच की कलह खुलकर सामने आ गई है। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और भाजपा छोड़ कांग्रेस में शामिल हुए नवजोत सिंह सिद्धू के बीच सब ठीक नहीं चल रहा है।पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने पार्टी नेता नवजोत सिंह सिद्धू के बारे में कहा है कि पार्टी में अनुशासन को नहीं मानना किसी भी कीमत पर बर्दास्त नहीं किया जाएगा। कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि अगर नवजोर सिंह सिद्धू उनके खिलाफ चुनाव लड़ना चाहते हैं तो वे इसके लिए पूरी तरह से स्वतंत्र होंगे लेकिन उनका हाल वैसा ही होगा जैसा जनरल जेजे सिंह का हुआ था और उन्हें अपनी जमानत जब्त करानी पड़ी थी। 

एक निजी समाचार चैनल को दिए इंटरव्यू में कैप्टन अमरिंदर सिंह ने नवजोत सिंह सिद्धू को चुनौती देते हुए कहा कि सिद्धू साफ करें कि वे कांग्रेस पार्टी के सदस्य हैं या नहीं। और अगर वे मानते हैं कि वे कांग्रेस पार्टी के सदस्य हैं तो मुख्यमंत्री और पंजाब सरकार के खिलाफ उनकी लगातार बयानबाजी अनुशासनहीनता मानी जाएगी। कैप्टन अमरिंदर सिंह ने आरोप लगाया कि सिद्धू कांग्रेस पार्टी में अनुशासन तोड़ रहे हैं। उन्होंने यह भी कहा कि सिद्धू को भारतीय जनता पार्टी वापस नहीं लेगी। 

सिद्धू को पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी का अध्यक्ष बनाए जाने को पूरी तरह नकारते हुए कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि सुनील जाखड़ की जगह सिद्धू को अध्यक्ष बनाए जाने का सवाल ही पैदा नहीं होता। कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि सिद्धू को पार्टी में शामिल हुए सिर्फ 4 साल हुए हैं और यूथ कांग्रेस के कई नेता भी पार्टी में उनसे सीनियर हैं, ऐसे में न तो उनको पंजाब का उपमुख्यमंत्री बनाया जा सकता है और न ही पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी का अध्यक्ष। 

पंजाब में हाल के दिनों में मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और नवजोत सिंह सिद्धू के बीच के मतभेद खुलकर सामने आए हैं। कांग्रेस पार्टी के पंजाब प्रभारी हरीश रावत ने दोनों के बीच दूरियां कम करने के लिए भरपूर प्रयास किया है लेकिन दोनों के बीच दूरी लगातार बढ़ती जा रही है और दोनों एक दूसरे के खिलाफ बयानबाजी कर रहे हैं। अगले साल पंजाब में विधानसभा चुनाव होने हैं और कैप्टन खुद भी कह चुके हैं कि वे इस बार भी चुनाव लड़ेंगे। पिछली बार के चुनावों में कैप्टन ने कहा था कि वह उनका अंतिम चुनाव होगा, लेकिन कुछ दिन पहले ही कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा है कि वे अभी चुनाव लड़ने के लिए पूरी तरह से फिट हैं।

ये भी पढ़ें

Click Mania
bigg boss 15