Shashi Tharoor: "अगर कांग्रेस के कामकाज से संतुष्ट हैं तो खड़गे को वोट दें," बहुत कुछ कह गए शशि थरूर

Shashi Tharoor: कांग्रेस नेता शशि थरूर ने गांधी परिवार और पार्टी के डीएनए के बीच समानता बताई और कहा कि कोई भी पार्टी प्रमुख गांधी परिवार से दूरी नहीं बना सकता।

Swayam Prakash Written By: Swayam Prakash @swayamniranjan_
Updated on: October 02, 2022 6:27 IST
Shashi Tharoor files his nomination papers for the position of Congress party president- India TV Hindi
Image Source : AP Shashi Tharoor files his nomination papers for the position of Congress party president

Highlights

  • गांधी परिवार हमारे लिए बड़ी संपत्ति- शशि थरूर
  • थरूर बोले- आजकल सभी फैसले दिल्ली में हो रहे
  • "गांधी परिवार और पार्टी के डीएनए के बीच समानता"

Shashi Tharoor: कांग्रेस नेता शशि थरूर ने गांधी परिवार और पार्टी के डीएनए के बीच समानता बताई और कहा कि कोई भी पार्टी प्रमुख गांधी परिवार से दूरी नहीं बना सकता। उन्होंने गांधी परिवार को कांग्रेस पार्टी के लिए एक संपत्ति बताया और कहा कि 17 अक्टूबर को पार्टी के आंतरिक चुनावों के बाद कांग्रेस का अध्यक्ष चाहे जो भी बने, वह "इतना मूर्ख" नहीं हो सकता कि गांधी परिवार को "अलविदा" कह दे।

गांधी परिवार हमारे लिए बड़ी संपत्ति

पार्टी चुनावों के प्रचार के लिए देश के विभिन्न हिस्सों में अपनी यात्रा शुरू करने से पहले शशि थरूर ने कहा, "गांधी परिवार और कांग्रेस का डीएनए एक ही है... कोई भी पार्टी अध्यक्ष इतना मूर्ख नहीं होगा कि गांधी परिवार को "अलविदा" कहे, वे हमारे लिए बहुत बड़ी संपत्ति हैं।

"अगर बदलाव चाहते हैं, तो उसके लिए मैं हूं"
थरूर ने ये बात दोहराते हुए कहा कि वह पार्टी में एक "परिवर्तन" का प्रतिनिधित्व करते हैं। कांग्रेस नेता ने कहा कि यदि कांग्रेस के नेता और कार्यकर्ता पार्टी के "कार्य" से "संतुष्ट" हैं" तो उन्हें मल्लिकार्जुन खड़गे को वोट देना चाहिए, जो पार्टी में शीर्ष पद की दौड़ में उनके प्रतिद्वंद्वी हैं। थरूर ने इस बात पर जोर देकर कहा कि उनके और खड़गे के बीच मुकाबला कोई "लड़ाई नहीं" है और यह कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर छोड़ दिया जाना चाहिए कि वह दोनों में से किसे चुनेंगे। थरूर ने कहा, "यह कोई लड़ाई नहीं है... पार्टी कार्यकर्ताओं को चुनाव करने दें, यही हमारा संदेश है। मैं कह रहा हूं कि अगर आप पार्टी के काम से संतुष्ट हैं, तो खड़गे साहब को वोट दें। अगर आप बदलाव चाहते हैं, तो उसके लिए मैं हूं।"

"आजकल सभी फैसले दिल्ली में हो रहे हैं..."
शशि थरूर ने कहा, "आजकल सभी फैसले दिल्ली में हो रहे हैं, पार्टी के लिए अच्छा होगा कि ब्लॉक, जिला और राज्यों के स्तर पर जमीनी स्तर पर फैसले लेने का अधिकार दिया जाए।" नामांकन दाखिल करने के तुरंत बाद थरूर की ओर से जारी घोषणापत्र में, उन्होंने पार्टी में "विकेंद्रीकरण" की जरूरत का उल्लेख किया था। पार्टी के शीर्ष पद के लिए मुकाबले के अपने फैसले के बारे में बात करते हुए, उन्होंने कहा कि जब चुनाव की घोषणा की गई थी, तो उनका इरादा पार्टी कार्यकर्ताओं द्वारा समर्थित था। थरूर ने आगे कहा कि मल्लिकार्जुन खड़गे का आत्मविश्वास अच्छा है। मुझे विश्वास है कि कुछ लोग भी हैं जो मेरी बात भी सुनेंगे। बड़े नेता स्वाभाविक रूप से पार्टी में दूसरे बड़े नेताओं के साथ खड़े हो सकते हैं, लेकिन मेरे साथ अलग-अलग राज्यों के पार्टी के कार्यकर्ता हैं।

"पार्टी में युवाओं को सुनने का समय आ गया"
शशि थरूर ने कहा कि हम बड़े नेताओं को सम्मान देते हैं लेकिन पार्टी में युवाओं को सुनने का समय आ गया है। हम पार्टी के संगठनात्मक ढांचे को बदलने के लिए काम करेंगे और पार्टी के कार्यकर्ताओं को यह महत्व दिया जाना चाहिए। ये एक दोस्ताना मुकाबला है, हमारे कई लक्ष्य हैं और कांग्रेस अध्यक्ष चुनाव में हम समर्थन मांग रहे हैं। थरूर ने कहा कि पार्टी में बदलाव चाहने वाले कई कार्यकर्ताओं ने मुझे चुनाव लड़ने के लिए कहा है। मैं युवाओं की आवाज बनना चाहता हूं। मैं अपने आप को बेहतर साबित करूंगा।

Latest India News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Politics News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन