1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. भारत
  4. उत्तर प्रदेश
  5. राम मंदिर निर्माण के लिए फंड जुटाने का अभियान बना दुनिया का सबसे बड़ा अभियान

राम मंदिर निर्माण के लिए फंड जुटाने का अभियान बना दुनिया का सबसे बड़ा अभियान

श्री राम जन्मभूमि तीर्थक्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने कहा है कि राम मंदिर निर्माण के लिए धन जुटाने वाला अभियान दुनिया का सबसे बड़ा फंड-रेजिंग अभियान बन गया है। लोग अब भी ट्रस्ट की नई वेबसाइट के जरिए ऑनलाइन दान कर सकते हैं।

IANS IANS
Published on: March 07, 2021 14:00 IST
राम मंदिर निर्माण के...- India TV Hindi
Image Source : PTI (REPRESENTATIONAL IMAGE) राम मंदिर निर्माण के लिए फंड जुटाने का अभियान बना दुनिया का सबसे बड़ा अभियान

अयोध्या: श्री राम जन्मभूमि तीर्थक्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने कहा है कि "राम मंदिर निर्माण के लिए धन जुटाने वाला अभियान दुनिया का सबसे बड़ा फंड-रेजिंग अभियान बन गया है। लोग अब भी ट्रस्ट की नई वेबसाइट के जरिए ऑनलाइन दान कर सकते हैं। हालांकि विदेशी भक्तों को अभी भी थोड़ा इंतजार करना पड़ेगा क्योंकि उसके लिए औपचारिकताएं चल रही हैं।" उन्होंने यह भी कहा कि मंदिर निर्माण के लिए मिले दान की रकम बैंक रिसीट के आधार पर 4 फरवरी तक 2,500 करोड़ रुपये को पार कर चुकी थी।

उन्होंने कहा, "देश भर में घर-घर जाकर दान लेने का अभियान शुरू करने के लिए विश्व हिंदू परिषद के करीब 9 लाख सदस्य 1.75 लाख टीमों में बंटे थे। वहीं 38,125 स्वयंसेवकों ने बैंकों में धनराशि जमा करने का काम किया। पारदर्शिता सुनिश्चित करने के लिए 49 कंट्रोल रूम 23 स्वयंसेवकों और चार्टर्ड अकाउंटेंट्स के साथ 24 घंटे काम करते रहे। हैदराबाद स्थित धनुषा इन्फोटेक कंपनी द्वारा बनाए गए ऐप ने ऑपरेशंस में मदद की।"

उन्होंने आगे कहा, "इस साल मार्च के अंत तक धन जुटाने के अभियान का एक ऑडिट पूरा हो जाएगा। देश के हर हिस्से से भक्तों ने अपना योगदान दिया है। पूर्वोत्तर की बात करें तो अरुणाचल प्रदेश के लोगों ने 4.5 करोड़ रुपये, मणिपुर ने 2 करोड़ रुपये, मिजोरम ने 0.2 करोड़ रुपये, नागालैंड ने 0.3 करोड़ रुपये, मेघालय ने 0.9 करोड़ रुपये का योगदान दिया है। वहीं तमिलनाडु के भक्तों ने 85 करोड़ रुपये और केरल से 13 करोड़ रुपये का योगदान आया है।"

बता दें कि राम मंदिर के लिए क्राउड-फंडिंग का अभियान पिछले सप्ताह पूरा हुआ है। इसमें पूरे भारत से 4 लाख गांवों से 10 करोड़ परिवारों को शामिल किया गया था।

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। Uttar Pradesh News in Hindi के लिए क्लिक करें भारत सेक्‍शन
Write a comment
X