1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. मध्य-प्रदेश
  4. कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने ली चुटकी, कहा- 800 साल मुस्लिम शासक रहे तब हिंदू खतरे में नहीं आया?

कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने ली चुटकी, कहा- 800 साल मुस्लिम शासक, 190 साल अंग्रेजों का शासन, तब हिंदू खतरे में नहीं आया?

हिंदुत्व के मुद्दे पर बीजेपी को घेरने से पहले दिग्विजय सिंह ने राम नवमी की शुभकामनाएं भी दीं। उन्होंने ट्वीट किया, 'समस्त देशवासियों को मर्यादा पुरषोत्तम भगवान श्री राम के अवतरण दिवस राम नवमी की अनंत शुभकामनाएं। भगवान राम सभी के जीवन को सुख, समृद्धि व ऐश्वर्य से परिपूर्ण करें।'

IndiaTV Hindi Desk Edited by: IndiaTV Hindi Desk
Published on: April 10, 2022 8:36 IST
Digvijay Singh- India TV Hindi
Image Source : PTI/FILE Digvijay Singh

Highlights

  • दिग्विजय सिंह ने बीजेपी पर साधा निशाना
  • कहा- 7 साल से आरएसएस बीजेपी का शासन आया और हिंदू खतरे में आ गया
  • '800 साल मुस्लिम शासक, 190 साल अंग्रेजों का शासन, 60 साल कांग्रेस का शासन लेकिन हिंदू खतरे में नहीं आया'

भोपाल: मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम और सीनियर कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने बीजेपी की हिंदुत्व वाली नीति को लेकर हमला बोला है। उन्होंने ट्वीट कर कहा, '800 साल मुस्लिम शासक, 190 साल अंग्रेजों का शासन, 60 साल कांग्रेस का शासन लेकिन हिंदू खतरे में नहीं आया। 7 साल से आरएसएस बीजेपी का शासन आया और हिंदू खतरे में आ गया। जरा सोचिए, क्या ये जुमला नहीं है?'

इस मौके पर दिग्विजय ने एक और ट्वीट कर राहुल गांधी की तारीफ की। उन्होंने कहा, 'राहुल गांधी ने सही कहा है। भारतीय संविधान हमारा हथियार है, जिसके द्वारा हम गरीब दलित आदिवासी अल्पसंख्यक महिला मज़दूर किसान और लोकतंत्र की रक्षा कर सकते हैं। आम लोगों की न्याय की लड़ाई लड़ सकते है। संविधान बचाओ, लोकतंत्र बचाओ, भारत बचाओ।'

बता दें कि बीजेपी अपनी राष्ट्रवादी और हिंदुत्व की छवि को लेकर अक्सर विपक्ष के निशाने पर रहती है। राहुल गांधी भी कई बार बीजेपी पर इस मुद्दे को लेकर निशाना साध चुके हैं।

हिंदुत्व के मुद्दे पर बीजेपी को घेरने से पहले दिग्विजय सिंह ने राम नवमी की शुभकामनाएं भी दीं। उन्होंने ट्वीट किया, 'समस्त देशवासियों को मर्यादा पुरषोत्तम भगवान श्री राम के अवतरण दिवस राम नवमी की अनंत शुभकामनाएं। भगवान राम सभी के जीवन को सुख, समृद्धि व ऐश्वर्य से परिपूर्ण करें।'