ye-public-hai-sab-jaanti-hai
  1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. महाराष्ट्र
  4. महाराष्ट्र में कोरोना बेकाबू! सिर्फ मुंबई में सामने आए 8,082 नए मामले, 11 महीने बाद इतने ज्यादा केस दर्ज

महाराष्ट्र में कोरोना बेकाबू! सिर्फ मुंबई में सामने आए 8,082 नए मामले, 11 महीने बाद इतने ज्यादा केस दर्ज

11 महीने बाद ये पहला मौका है जब मुंबई में एक दिन में कोरोना के 8 हजार से ज्यादा नए केस सामने आए। खतरनाक बात ये है कि मुंबई में कोरोना पॉजिटिविटी रेट 8% से ज्यादा हो गया है जबकि 5% से ऊपर के पॉजिटिविटी रेट को अलार्मिंग माना जाता है।

Khushbu Rawal Edited by: Khushbu Rawal
Updated on: January 03, 2022 23:53 IST
covid test- India TV Hindi
Image Source : PTI मुंबई में कोरोना के 8,082 नए मामले आए, 18 अप्रैल 2021 के बाद सर्वाधिक

Highlights

  • महाराष्ट्र में कोरोना केस में बड़ा उछाल, 70 फीसदी नए मामले सिर्फ मुंबई से
  • 11 महीने बाद एक दिन में कोरोना के 8 हजार से ज्यादा नए केस दर्ज

मुंबई: महाराष्‍ट्र में सोमवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 12,160 नए केस आए, जिसमें अकेले मुंबई में 8,082 नए मामले दर्ज किए गए हैं जो पिछले साल 18 अप्रैल के बाद किसी एक दिन का सर्वाधिक स्तर है। बीमारी के कारण दो और मरीजों की मौत हो गई। नगर निकाय ने यह जानकारी दी। महाराष्ट्र सरकार के स्वास्थ्य विभाग के अनुसार, मुंबई में कोरोना वायरस के नए स्वरूप ओमिक्रॉन के 40 नए मामले सामने आए हैं जिससे महानगर में इस तरह के संक्रमणों की संख्या बढ़कर 368 हो गई।

बृहन्मुंबई नगर निगम (BMC) द्वारा जारी एक बुलेटिन के अनुसार, देश की वित्तीय राजधानी में कोरोना वायरस के कुल मामले बढ़कर 8,07,602 हो गए हैं वहीं मृतकों की संख्या बढ़कर 16,379 हो गई। हालांकि नगर में रविवार की तुलना में सिर्फ 19 अधिक मामले आए। रविवार को 8,063 मामले सामने आए थे। बुलेटिन के अनुसार 8,082 नए मामलों में से 7,273 (90 प्रतिशत) में बीमारी के लक्षण नहीं थे और केवल 574 मरीजों को अस्पतालों में भर्ती कराया गया है जबकि 71 मरीज ऑक्सीजन पर हैं।

आपको बता दें कि 11 महीने बाद ये पहला मौका है जब एक दिन में कोरोना के 8 हजार से ज्यादा नए केस सामने आए। खतरनाक बात ये है कि मुंबई में कोरोना पॉजिटिविटी रेट 8% से ज्यादा हो गया है जबकि 5% से ऊपर के पॉजिटिविटी रेट को अलार्मिंग माना जाता है। कोरोना के करीब 500 मरीज इस समय हॉस्पिटल में इलाज करा रहे हैं इनमें से  56 को ऑक्सीजन सपोर्ट पर रखा गया है। बढ़ते कोरोना केसेज को देखते हुए कक्षा 1 से 8वीं तक की क्लासेज बंद कर दी गई हैं। नवीं और ग्यारहवीं के स्टूडेट्स वैक्सीन लगवाने स्कूल आ सकते हैं। 10वीं और 12वीं के छात्रों की स्कूल में पढ़ाई जारी रहेगी।

(इनपुट- एजेंसी)

elections-2022