Rajasthan News: राजस्थान में खनन माफियाओं का आतंक, भाजपा सांसद और उनके सहयोगियों को ट्रक से कुचलने की कोशिश

Rajasthan News: भाजपा सांसद रंजीता कोली ने दावा किया कि भरतपुर लोकसभा क्षेत्र में खनन माफिया इस कदर सक्रिय हैं कि सूचना मिलने पर जब मैं कामां पहुंची तो मौके पर अवैध खनन से जुड़ी 100 से अधिक गाड़ियां मिलीं।

Akash Mishra Edited By: Akash Mishra @Akash25100607
Published on: August 08, 2022 16:35 IST
Representational Image- India TV Hindi News
Image Source : PTI Representational Image

Highlights

  • घटना के बाद कोली अपने समर्थकों के साथ धरने पर बैठ गईं
  • खनन माफिया ने मुझ पर चौथी बार हमला किया: भाजपा सांसद
  • "मैं अपने सहयोगियों के साथ स्थिति का जायजा लेने मौके पर पहुंची थी"

Rajasthan News: राजस्थान की भरतपुर लोकसभा सीट से भारतीय जनता पार्टी (BJP) की सांसद रंजीता कोली ने दावा किया है कि रविवार रात एक खनन माफिया ने उन्हें कथित तौर पर ट्रक से कुचलने की कोशिश की। इसमें उनकी कार क्षतिग्रस्त हो गई। घटना के बाद कोली अपने समर्थकों के साथ क्षेत्र में चल रहे खनन के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर दिलावती पुलिस चौकी के पास धरने पर बैठ गईं। कोली ने कहा, “मुझे सूचना मिली थी कि जिले के एक इलाके में अवैध खनन हो रहा है और मैं अपने सहयोगियों के साथ स्थिति जायजा लेने मौके पर पहुंची थी।” 

मौके पर मिली अवैध खनन की 100 से ज्यादा गाड़ियां

रंजीता कोली ने ट्विटर पर दावा किया, “भरतपुर लोकसभा क्षेत्र में खनन माफिया इस कदर सक्रिय हैं कि सूचना मिलने पर जब मैं कामां पहुंची तो रात के अंधेरे में मुझे मौके पर अवैध खनन से जुड़ी 100 से अधिक गाड़ियां मिलीं। गाड़ियों को रोकने पर मुझ पर एक बार फिर जानलेवा हमला किया गया।” कोली ने कहा, “खनन माफिया ने मुझे और मेरे सहयोगियों को ट्रक से कुचलने की कोशिश की। राज्य सरकार और प्रशासन द्वारा खनन माफिया को मिल रही शह इस बात का प्रमाण है कि वह एक जन प्रतिनिधि पर भी हमला करने से नहीं हिचकिचाते।” इस बारे में जब भरतपुर के पुलिस अधीक्षक श्याम सिंह से संपर्क किया गया तो उन्होंने किसी अन्य काम में व्यस्त होने की बात कहकर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया।

"भरतपुर के SP मौके पर आने से कतरा रहे थे"

भरतपुर में संवाददाताओं से बातचीत में कोली ने कहा, “खनन माफिया ने मुझ पर चौथी बार हमला किया। मैं अपने सहयोगियों के साथ क्षेत्र में चल रहे अवैध खनन की स्थिति का जायजा लेने पहुंची थी। माफिया ने ट्रक से मेरे वाहन को कुचलने की कोशिश की। सौभाग्य से हम समय पर वाहन से बच निकले।” उन्होंने आरोप लगाया कि घटना के बाद भरतपुर के पुलिस अधीक्षक मौके पर आने से कतरा रहे थे। इस बारे में जब भरतपुर के पुलिस अधीक्षक श्याम सिंह से संपर्क किया गया तो उन्होंने किसी अन्य काम में व्यस्त होने की बात कहकर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया। कोली के मुताबिक, “मुझ पर पहले भी हमला हुआ था। कुछ अज्ञात लोगों ने मेरे वाहन पर गोलियां चलाई थीं, जिसके बाद मेरी सुरक्षा बढ़ा दी गई थी।” 

raju-srivastava