उत्तर कोरिया ने पानी के भीतर हमला करने वाले परमाणु ड्रोन का किया परीक्षण

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, ड्रिल के दौरान उत्तर कोरियाई ड्रोन ने 59 घंटे से ज्यादा समय तक पानी के भीतर रहा और गुरुवार को अपने पूर्वी तट से पानी में विस्फोट कर दिया।

Malaika Imam Edited By: Malaika Imam @MalaikaImam1
Published on: March 24, 2023 7:32 IST
 नॉर्थ कोरियाई शासक किम जोंग उन- India TV Hindi
Image Source : FILE PHOTO नॉर्थ कोरियाई शासक किम जोंग उन

उत्तर कोरिया ने क्रूज मिसाइलों के परीक्षण करने के बाद अब पानी के नीचे हमले वाले परमाणु ड्रोन का परीक्षण किया है। कोरिया की समाचार एजेंसी केसीएनए ने आज शुक्रवार को बताया कि किम जोंग उन के मार्गदर्शन में इस नए परमाणु परीक्षण को पूरा किया गया है। उत्तर की राज्य समाचार एजेंसी ने मंगलवार से गुरुवार तक हुए इस हथियार परीक्षण और फायरिंग ड्रिल के दौरान क्रूज मिसाइल दागने की पुष्टि की।

59 घंटे से ज्यादा समय तक पानी के भीतर रहा ड्रोन

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, ड्रिल के दौरान उत्तर कोरियाई ड्रोन ने 59 घंटे से ज्यादा समय तक पानी के भीतर रहा और गुरुवार को अपने पूर्वी तट से पानी में विस्फोट कर दिया। हालांकि, उसने ड्रोन की परमाणु क्षमता के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं दी है। स्थानीय मीडिया ने बताया कि ड्रोन प्रणाली का मकसद दुश्मन के जल क्षेत्र में चुपके से हमला करना और नौसेना के स्ट्राइकर समूहों और प्रमुख परिचालन बंदरगाहों को नष्ट करना है।

ड्रोन को किसी भी तट और बंदरगाह पर किया जा सकता है तैनात

कोरिया की समाचार एजेंसी केसीएनए के मुताबिक, पानी के भीतर हमला करने वाले इस परमाणु ड्रोन को किसी भी तट और बंदरगाह पर तैनात किया जा सकता है। वहीं, ऑपरेशन के लिए सतह से किसी भी जहाज से खींचकर लाया जा सकता है। एक अलग फायरिंग ड्रिल में उत्तर कोरिया ने यह भी पुष्टि की कि उसने सामरिक परमाणु हमला मिशनों को अंजाम देने के लिए बुधवार को चार क्रूज मिसाइलें दागीं।

ये भी पढ़ें-

व्लादिमीर पुतिन कर रहे डुप्लीकेट का इस्तेमाल? रूसी सोशल मीडिया पर कई तस्वीरें वायरल

दिल्ली दंगा: IB अफसर अंकित शर्मा की हत्या के मामले में पूर्व AAP नेता ताहिर हुसैन के खिलाफ आरोप तय

Latest World News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Asia News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन