बलूचों का हत्यारा और 'डर्टी हैरी'... पाकिस्तान के चप्पे-चप्पे पर ISI के इस टॉप जासूस का खौफ, इमरान पर हमले का मस्टरमाइंड, जानें कौन है फैसल नसीर

Imran Khan-Major General Faisal Naseer: पाकिस्तान में इस वक्त आईएसआई के अधिकारी मेजर जनरल फैसल नसीर की काफी चर्चा हो रही है। जिन्हें सुपर स्पाई और डर्टी हैरी जैसे नामों से पुकारा जाता है। उनपर पूर्व पीएम ने गंभीर आरोप लगाए हैं।

Shilpa Written By: Shilpa @Shilpaa30thakur
Updated on: November 07, 2022 22:45 IST
मेजर जनरल फैसल नसीर के बारे में किसी को ज्यादा जानकारी नहीं है- India TV Hindi
Image Source : PEXELS मेजर जनरल फैसल नसीर के बारे में किसी को ज्यादा जानकारी नहीं है

Who is Major General Faisal Naseer: पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान पर गुरुवार को पंजाब के गुंजरवाला में हुए हमले के बाद से देश में सियासी तूफान आया हुआ, जिसके लपेटे में सत्ताधारी सरकार से लेकर खुफिया एजेंसी आईएसआई और सेना भी आ गई है। इमरान खान ने खुद पर हुए हमले के बाद कहा है कि उनकी हत्या की साजिश रची गई थी। उन्होंने इसके लिए प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ, गृहमंत्री राणा सनाउल्लाह और मेजर जनरल फैसल नसीर को आरोपी बताया है। नसीर आईएसआई के डीजीसीआई (डायरेक्टर जनरल काउंटर इंटेलिजेंस) हैं। एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान इमरान खान ने सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा से कहा कि फैसल नसीर के खिलाफ कार्रवाई की जाए। हालांकि सेना ने खान के आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया है। मेजर जनरल फैसल नसीर पाकिस्तान के वो रहस्यमयी शख्स हैं, जिनके बारे में लोगों को काफी कम जानकारी है।

टॉप ग्रेड के जनरल

मेजर जनरल फैसल नसीर पाकिस्तान सेना के एक शीर्ष ग्रेड जनरल हैं। उन्हें कई पुरस्कार भी मिल चुके हैं। मेजर जनरल फैसल नसीर जनरल बाजवा के पसंदीदा जनरल हैं। वह देश की आंतरिक सुरक्षा के लिए जिम्मेदार हैं। जनरल फैसल को 'डर्टी हैरी' और 'मिस्टर जेड' के नाम से जाना जाता है। पाकिस्तान के जानकारों का मानना ​​है कि जब से बाजवा को सेना प्रमुख बनाया गया है, तभी से जनरल फैसल नसीर की टीम को छूना तक मुश्किल है। मेजर जनरल फैसल नसीर एक डीजीसी हैं और घरेलू सुरक्षा के अलावा, वह आईएसआई की राजनीतिक इकाई की जिम्मेदारी भी निभाते हैं। इतना ही नहीं आईएसआई पर देश के अंदर लगने वाले तमाम आरोप डीजीसी पर लगने वाले माने जाते हैं।

रावलपिंडी से रखते हैं ताल्लुक

  
मेजर जनरल फैसल को करीब तीन महीने पहले डीजीसी बनाया गया है। पाकिस्तानी मीडिया के मुताबिक इस पोस्ट पर आने से पहले फैसल नसीर को कोई नहीं जानता था। आज उन पर हत्या के प्रयास का आरोप लगाने वाले इमरान ने मेजर जनरल फैसल नसीर को इस पद पर लाने और उनके प्रमोशन में बड़ी भूमिका निभाई है। नसीर को साल 1992 में कमीशन दिया गया था। 1985 में उन्हें पाकिस्तान सैन्य अकादमी के पाठ्यक्रम संख्या 85 में शामिल किया गया था। वह रावलपिंडी के रहने वाले हैं।

क्यों कहा जाता है सुपर स्पाई?

मेजर जनरल फैसल नसीर पाकिस्तान के कोर ऑफ मिलिट्री इंटेलिजेंस (CMI) से जुड़े हैं। वह हमेशा से ही इंटेलिजेंस के अधिकारी रहे हैं और उन्हें इंटेलिजेंस का काफी अनुभव है। उन्हें कराची से बलूचिस्तान में तैनात किया गया है। मेजर जनरल फैसल नसीर का इंटेलिजेंस में अच्छा करियर है। उन्होंने कबायली इलाकों और बलूचिस्तान में उग्रवाद के खिलाफ सफल ऑपरेशन चलाए हैं। इसलिए उन्हें 'सुपर स्पाई' के नाम से भी जाना जाता है। हालांकि बलूचिस्तान में किए गए ऑपरेशन पर हमेशा ही सवालिया निशान बने रहते हैं। पाकिस्तानी मीडिया के मुताबिक ऐसा पहली बार हुआ है कि किसी खुफिया अधिकारी को डीजीसी बनाया गया है। जबकि पहले यह जिम्मेदारी हमेशा एक वरिष्ठ सैन्य अधिकारी को दी जाती रही है। डीजीसी की नियुक्ति सामान्य मुख्यालय की मंजूरी के बाद की जाती है।

बाजवा की आंखों के तारे हैं नसीर 

जनरल बाजवा को मेजर जनरल फैसल नसीर पर काफी भरोसा है। कुछ लोग तो उन्हें बाजवा का 'ब्लू आइड बॉय' भी कहते हैं। वरिष्ठ पाकिस्तानी पत्रकार एजाज सईद के अनुसार, मेजर जनरल फैसल नसीर उस समय कराची में सैन्य खुफिया कमांडर थे, जब लेफ्टिनेंट जनरल फैज हमीद डीजीसी थे। मेजर जनरल फैज के पसंदीदा कमांडर मेजर जनरल शाकिब नसीर और मेजर जनरल फैसल नसीर के बीच अक्सर झड़पों की खबरें आती रहती थीं। जब जनरल फैज को हटाया गया, उसके बाद मेजर जनरल फैसल नसीर को डीजीसी बनाया गया। रावलपिंडी ने उनके नाम को मंजूरी दी थी।

इमरान खान ने डर्टी हैरी कहा

इमरान खान ने बार-बार डर्टी हैरी शब्द का प्रयोग किया। ऐसा उन्होंने फैसल नसीर के लिए किया था। दरअसल डर्टी हैरी एक काल्पनिक पात्र है। इसकी भूमिका साल 1971 में रिलीज हुई हॉलीवुड फिल्म में मशहूर कलाकार क्लिंट ईस्टवुड ने निभाई थी। इस फिल्म में ईस्टवुड ने हेरल्ड फ्रांसिस कैलाहन नाम के इंस्पेक्टर की भूमिका निभाई थी, जिन्हें उनके साथी डर्टी हैरी कहते थे। इसके पीछे का कारण ये था कि उस अधिकारी को वो केस दे दिए जाते थे, जिनमें कानूनी तरीका अपनाना संभव नहीं हो पाता था। ये अधिकारी खतरनाक अपराधियों को गिरफ्तार कर जेल में डालने के बजाय उन्हें जान से मारने को इंसाफ मानता था। इसके अलावा वह फिल्म में एक सीरियल किलर को मारने के लिए कई बार कानून का उल्लंघन भी करता है। 

Latest World News

India TV पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज़ Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। Asia News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन