1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. विदेश
  4. अमेरिका
  5. खून के थक्के जमने के दुर्लभ खतरे के बावजूद अमेरिका फिर शुरू करेगा जॉनसन कोविड टीकाकरण

खून के थक्के जमने के दुर्लभ खतरे के बावजूद अमेरिका फिर शुरू करेगा जॉनसन कोविड टीकाकरण

अमेरिकी स्वास्थ्य अधिकारियों ने जॉनसन एंड जॉनसन कंपनी की एक खुराक के साथ कोविड-19 टीकाकरण पर लगाई गई 11 दिनों की रोक को हटा दिया है। वैज्ञानिक सलाहकारों ने पाया कि इसके फायदे खून के थक्के जमने के दुर्लभ खतरे से बहुत ज्यादा हैं।

Bhasha Bhasha
Published on: April 24, 2021 10:44 IST
खून के थक्के जमने के...- India TV Hindi
Image Source : REPRESENTATIONAL IMAGE खून के थक्के जमने के दुर्लभ खतरे के बावजूद अमेरिका फिर शुरू करेगा जॉनसन कोविड टीकाकरण

वॉशिंगटन: अमेरिकी स्वास्थ्य अधिकारियों ने जॉनसन एंड जॉनसन कंपनी की एक खुराक के साथ कोविड-19 टीकाकरण पर लगाई गई 11 दिनों की रोक को हटा दिया है। वैज्ञानिक सलाहकारों ने पाया कि इसके फायदे खून के थक्के जमने के दुर्लभ खतरे से बहुत ज्यादा हैं। इसके बाद रोक हटाने का फैसला किया गया। सरकार ने इस टीके के 80 लाख लाभार्थियों में से 15 ऐसे लोगों का पता लगाया जिनमें खून के थक्के जमने की बेहद दुर्लभ स्थिति उत्पन्न हुई।

ये सभी महिलाएं थी जिनकी उम्र 50 वर्ष से कम थी। इनमें से तीन की मौत हो गई और सात को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। लेकिन अंतत: शुक्रवार को, खाद्य एवं औषधि प्रशासन (एफडीए) और रोग नियंत्रण एवं बचाव केंद्र (सीडीसी) ने फैसला किया कि जॉनसन एंड जॉनसन का एक खुराक वाला टीका वैश्विक महामारी से लड़ने में अहम है। इसके साथ ही यह भी कहा गया है कि खून के थक्के जमने के इस छोटे से खतरे को चेतावनी देने के साथ ही लगाना चाहिए ताकि कम उम्र की महिलाएं फैसला ले सकें कि उन्हें यह टीका लगवाना है या कोई और विकल्प चुनना है।

सीडीसी के निदेशक डॉ रोशेल वालेंस्की ने एक बयान में कहा, “अन्य सभी चीजों से ऊपर, हमारे फैसले में स्वास्थ्य एवं सुरक्षा को सर्वोपरि रखा गया है” उन्होंने कहा, “हमारी टीका सुरक्षा प्रणाली काम कर रही है। हमने जे एंड जे टीके की लाखों खुराकों में से बेहद दुर्लभ घटनाएं देखी हैं और लगातार उन पर नजर रख रहे हैं।” अमेरिका का यह फैसला सीडीसी सलाहकारों के निष्कर्षों पर आया है जिन्होंने टीकाकरण फिर से शुरू करने के पक्ष में 10 मत डाले लेकिन विशेषज्ञों ने जोखिम की चेतावनी जारी करने को भी कहा है। 

India TV पर देश-विदेश की ताजा Hindi News और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ते हुए अपने आप को रखिए अप-टू-डेट। Live TV देखने के लिए यहां क्लिक करें। US News in Hindi के लिए क्लिक करें विदेश सेक्‍शन
Write a comment
X