1. You Are At:
  2. Hindi News
  3. क्राइम
  4. तृणमूल कांग्रेस के युवा नेता को पिता के सामने ही गोलियों से भूना, अस्पताल में हुई मौत

तृणमूल कांग्रेस के युवा नेता को पिता के सामने ही गोलियों से भूना, अस्पताल में हुई मौत

भारतीय जनता पार्टी के जिला महासचिव श्यामल रॉय ने आरोप को खारिज करते हुए दावा किया कि हत्या सत्तारूढ़ दल के भीतर अंदरूनी कलह का नतीजा थी।

IndiaTV Hindi Desk IndiaTV Hindi Desk
Published on: September 07, 2021 21:58 IST
Trinamool Congress, Trinamool Leader Shot Dead, Trinamool Leader Shot- India TV Hindi
Image Source : PTI REPRESENTATIONAL पश्चिम बंगाल में सत्तारूढ़ तृणमूल पार्टी के एक नेता की उनके पिता के सामने गोली मारकर हत्या कर दी गई।

वर्धमान: पश्चिम बंगाल में सत्तारूढ़ तृणमूल पार्टी के एक नेता की उनके पिता के सामने गोली मारकर हत्या कर दी गई। पुलिस द्वारा दी गई जानकारी के मातबिक, सूबे के पूर्व वर्धमान जिले में मंगलवार को अज्ञात बंदूकधारियों ने मोटरसाइकिल पर तृणमूल कांग्रेस के एक कार्यक्रम से लौट रहे पार्टी के एक स्थानीय नेता की हत्या कर दी। उस समय मृतक के पिता भी उनके साथ ही मोटरसाइकिल पर सवार थे। तृणमूल ने आरोप लगाया कि उसके कार्यकर्ता की हत्या के पीछे भारतीय जनता पार्टी का हाथ है जबकि विपक्षी पार्टी ने इस आरोप को खारिज कर दिया है।

‘जंगली इलाके के पास चलाई गोलियां’

एक अधिकारी ने बताया कि यह घटना उस समय हुई जब औसग्राम के देवशाला क्षेत्र के युवा तृणमूल के नेता 40 वर्षीय चंचल बख्शी अपने पिता श्यामल बख्शी के साथ एक पार्टी के कार्यक्रम में शामिल होकर मोटरसाइकिल पर घर लौट रहे थे। उन्होंने कहा कि जैसे ही पिता-पुत्र जंगली इलाके के पास पहुंचे, मोटरसाइकिल पर सवार कुछ हमलावरों ने तृणमूल कांग्रेस के युवा नेता पर गोलियां चलाईं और मौके से फरार हो गए। अधिकारी ने कहा कि चंचल बख्शी को स्थानीय अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

‘बीजेपी के गुंडों ने बख्शी की हत्या की’
तृणमूल वाल्की क्षेत्र के अध्यक्ष अरूप मिर्धा और औसग्राम-2 पंचायत समिति के प्रमुख सैयद हैदर अली ने आरोप लगाया कि 'भाजपा के गुंडों' ने बख्शी की हत्या की क्योंकि वह एक लोकप्रिय नेता थे। सैयद हैदर अली ने कहा कि बख्शी ने इस साल के विधानसभा चुनावों में औसग्राम निर्वाचन क्षेत्र में सत्तारूढ़ पार्टी की जीत में योगदान दिया था। भारतीय जनता पार्टी के जिला महासचिव श्यामल रॉय ने आरोप को खारिज करते हुए दावा किया कि हत्या सत्तारूढ़ दल के भीतर अंदरूनी कलह का नतीजा थी। बता दें कि इस साल की शुरुआत में जिले के मंगलकोट इलाके में एक अन्य तृणमूल नेता की हत्या कर दी गई थी।

bigg boss 15